संघ-वीएचपी वालों शर्म करो! अरबों रुपए के चंदे में कुछ तो हिंदुओं को सांस देने पर खर्च करो!

मैं हिंदू हूं। सनातनी सत्व-तत्व की जीवन आस्थाएं लिए हुए हूं और हिंदू होने के गर्व में जीवन जीया है। लेकिन अब मैं सोचने को विवश हूं कि कैसे हम हिंदू, कैसा हिंदू काल, जिसमें हिंदू प्राणी की सांस पर भी वे लोग, वे संगठन, वे धर्म गुरू, संरक्षक जन जानवर की तरह ठूंठ हैं, जिन्होंने हिंदू नाम पर अरबों रुपए इकठ्ठे किए, दुकानें चलाईं, सत्ता-मुनाफा कमाया लेकिन इतने भी मानवीय नहीं जो मरते-तड़पते हिंदुओं के लिए ‘सांस लंगर’ लगाते!जो श्मशानों में हिंदू जन के अंतिम संस्कार करवा देते, जिससे परिवार सदस्य इस सुकून से लौटें कि मतृक आत्मा की संस्कारगत अंतिम यात्रा हुई। पंडित ने मृतक का नाम ले कर संस्कार किया, कपाल क्रिया से मुक्ति हुई! क्या हिंदू के लिए इतना भी सोचनाउस संघ-उस विश्व हिंदू परिषद्, उस रामदेव, उस रविशंकर, उस जग्गी वासुदेव, उन शंकाराचार्यों, महामंडलेश्वरों की बुद्धि, मानवता में नहीं, जो मोदी के हिंदू काल में वैभव को प्राप्त हैं, जिन्होंने हर तरह का धंधा किया, पैसा-मुनाफा-चंदा कमाया। ये पैसे का क्या दस-बीस-पच्चीस प्रतिशत हिस्सा निकाल कर उससे मौत काल में हिंदुओं को ऑक्सीजन नहीं दिलवा सकते? हिंदू को गरिमापूर्ण अंतिम यात्रा नहीं करवा सकते? हां, पिछले एक साल में संघ-विश्व हिंदू परिषद् ने पूरे देश… Continue reading संघ-वीएचपी वालों शर्म करो! अरबों रुपए के चंदे में कुछ तो हिंदुओं को सांस देने पर खर्च करो!

भाजपा के लिए जनता की चेतावनी हैं हरियाणा के नतीजे : संघ

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) के मुखपत्र ‘पांचजन्य’ ने हरियाणा के नतीजों को भाजपा के लिए जनता की चेतावनी करार दिया है। मुखपत्र की वेबसाइट पर 25 अक्टूबर को ‘हरियाणा में भाजपा को जनता की चेतावनी’ शीर्षक से प्रकाशित एक लेख में कहा गया है कि “ऐसे परिणाम का सामान्य अर्थ यह होता है कि जनता सरकार से बहुत खुश तो नहीं है, लेकिन सरकार के खिलाफ भी नहीं है। ऐसे जनादेश को एक तरह से जनता की चेतावनी कहा जा सकता है।

और लोड करें