Naya India

पौडेल बने नेपाल के नए राष्ट्रपति

काठमांडो। नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल उर्फ प्रचंड समर्थित राष्ट्रपति उम्मीदवार रामचंद्र पौडेल चुनाव जीत गए हैं। उन्होंने चीन समर्थक केपी शर्मा ओली की पार्टी के उम्मीदवार को हरा दिया है। पौडेल गुरुवार को नेपाल के नए राष्ट्रपति चुने गए। नेपाली कांग्रेस के पौडेल ने सुभाष नेमबांग को हराया। पौडेल को 33,802 और नेमबांग को 15,518 वोट मिले। पौडेल बिद्या देवी भंडारी की जगह लेंगे। जो 2015 से नेपाल की राष्ट्रपति थी। पौडेल इसके पहले नेपाल की संसद के स्पीकर भी रह चुके हैं।

उनके राष्ट्रपति चुने जाने से 27 फरवरी को नेपाल की सत्ता से बाहर किए गए चीन समर्थक केपी ओली की पार्टी सीपीएन-यूएमएल को एक और झटका लगा है। बहरहाल, नेपाली कांग्रेस के उम्मीदवार रामचंद्र पौडेल का राष्ट्रपति बनना तय माना जा रहा था। उन्हें शेर बहादुर देउबा और प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल उर्फ प्रचंड की पार्टी सहित आठ पार्टियों का समर्थन हासिल था। वहीं केपी ओली की पार्टी सीपीएन-यूएमएल के उम्मीदवार सुभाष नेमबांग का अपनी पार्टी के अलावा निर्दलीय सदस्यों ने समर्थन किया। राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी ने बुधवार को किसी भी उम्मीदवार को समर्थन नहीं देने का फैसला किया था।

गौरतलब है कि नेपाल में राष्ट्रपति चुनाव के के इलेक्टोरल कॉलेज में 884 सदस्य हैं। इनमें प्रतिनिधि सभा के 275 सदस्य हैं, जबकि 59 सदस्य नेशनल असेंबली के हैं। इनके अलावा देश भर की विधानसभा से 550 सदस्य भी इलेक्टोरल कॉलेज का हिस्सा हैं। चुनाव में एक सांसद के वोट का मूल्य 79 था जबकि एक विधायक के वोट का मूल्य 48 था। इस तरह राष्ट्रपति चुनाव के लिए कुल 52,786 वोट डाले गए।

Exit mobile version