nayaindia Delhi Excise Policy Case Arvind Kejriwal केजरीवाल ने लगाए गंभीर आरोप
Trending

केजरीवाल ने लगाए गंभीर आरोप

ByNI Desk,
Share
Kejriwal
Arvind Kejriwal Tihar Jail

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी गिरफ्तारी को राजनीतिक रंग देते हुए केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने गिरफ्तारी की टाइमिंग पर सवाल उठाते हुए कहा कि इसका मकसद उनको लोकतांत्रिक प्रक्रिया से दूर रखना है।

केजरीवाल की ओर से उनके वकील ने बुधवार को दिल्ली हाई कोर्ट में कहा कि उनको गिरफ्तार करके उनकी पार्टी को तोड़ने की कोशिश की जा रही है। गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी गिरफ्तारी और रिमांड को दिल्ली हाई कोर्ट में चुनौती दी है।

जस्टिस स्वर्णकांता शर्मा की अदालत में बुधवार को इस मसले पर सुनवाई हुई। बुधवार को सुनवाई पूरी हो गई, जिसके बाद अदालत ने फैसला सुरक्षित रख लिया। इससे पहले पिछले हफ्ते सुनवाई के दौरान केजरीवाल के वकील अभिषेक सिंघवी ने कहा था कि अदालत को इस मामले में ईडी का जवाब सुनने की जरुरत नहीं है।

लेकिन अदालत ने उनकी आपत्तियों को खारिज करते हुए कहा था कि प्राकृतिक न्याय के सिद्धांत के तहत दोनों पक्षों की बात सुनने की जरुरत है। सो, अदालत ने बुधवार को ईडी का पक्ष भी सुना और फैसला सुरक्षित रख लिया।

बुधवार को हाई कोर्ट में जस्टिस स्वर्णकांता शर्मा की बेंच की अदालत ने केजरीवाल की ओर से सीनियर एडवोकेट अभिषेक सिंघवी और एडवोकेट विक्रम चौधरी ने दलीलें रखीं। ईडी की तरफ से एडिशनल सॉलिसीटर जनरल एसवी राजू ने पैरवी की।

जेल में बंद केजरीवाल की ओर से सिंघवी ने कहा- समान अवसर को ध्यान में रखते हुए यह बहुत अहम केस है। इसमें स्वतंत्र और निष्पक्ष लोकसभा चुनाव शामिल हैं, जो लोकतंत्र का हिस्सा है। इससे हमारा मूलभूत ढांचा बनता है। उन्होंने गिरफ्तारी की टाइमिंग को बड़ा मुद्दा बनाया।

सिंघवी ने कहा- केजरीवाल की गिरफ्तारी से यह निश्चित हो गया है कि वो लोकतांत्रिक गतिविधियों में नहीं शामिल हो पाएंगे। मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूं क्योंकि पहला समन अक्टूबर 2023 में भेजा गया और गिरफ्तारी 21 मार्च को हुई। इससे दुर्भावना की बू आती है और इससे हमारे मूलभूत ढांचे को नुकसान पहुंच रहा है।

उन्होंने कहा- मैं यहां राजनीति की नहीं, बल्कि कानून की बात कर रहा हूं। गिरफ्तारी की टाइमिंग इशारा करती है कि यह असंवैधानिक है।

केजरीवाल के वकील की दलीलों का जवाब देते हुए एसवी राजू ने कहा- मान लीजिए कोई चुनाव से दो दिन पहले हत्या कर देता है तो क्या उसे गिरफ्तार नहीं किया जाएगा? क्या उसकी गिरफ्तारी मूलभूत ढांचे को नुकसान पहुंचाएगी। आप मर्डर करेंगे और कहेंगे कि मुझे गिरफ्तार नहीं किया जा सकता, क्योंकि इससे मूलभूत ढांचे को नुकसान होगा।

उन्होंने कहा- अपराधी और आरोपी यह नहीं कह सकते कि हम गुनाह करेंगे लेकिन हमें इसलिए गिरफ्तार नहीं किया जाएगा, क्योंकि चुनाव हैं। राजू ने जोर देकर कहा- हम अंधेरे में तीर नहीं चला रहे। हमारे पास वॉट्सऐप चैट, हवाला ऑपरेटर्स के बयान और आयकर के आंकड़े भी हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें