nayaindia farmers protest Kisan andolan किसानों से सहमति बनाने का प्रयास
Trending

किसानों से सहमति बनाने का प्रयास

ByNI Desk,
Share

चंडीगढ़। केंद्र सरकार ने किसानों का आंदोलन खत्म कराने के लिए सहमति बनाने के प्रयास तेज कर दिए हैं। रविवार को पंजाब भाजपा के अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने नई दिल्ली में भाजपा की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में केंद्रीय कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा से मुलाकात की। समझा जाता है कि उन्होंने केंद्र सरकार के तीन मंत्रियों की किसानों के साथ होने वाली बैठक से पहले उन्हें जमीनी हालात और किसानों की जायज मांगों के बारे में बताया। गौरतलब है कि रविवार की देर शाम तीन केंद्रीय मंत्रियों की किसानों के साथ चौथे दौर की वार्ता शुरू हुई।

केंद्र सरकार के साथ किसानों की वार्ता पर सबकी नजरें हैं। अगर सहमति नहीं बनती है तो किसान आक्रामक तरीके से दिल्ली की ओर कूच करेंगे। पंजाब और हरियाणा के बॉर्डर पर डटे किसानों ने अपनी तैयारी तेज कर दी है। शंभू बॉर्डर पर, जहां सबसे ज्यादा संख्या में किसान डटे हैं, वहां निशान साहिब लगा दिया गया है। किसानों के मंच से कहा गया कि ये शांति का प्रतीक है। मंच से सभी किसानों को निशान साहिब से पीछे रहने को कहा गया है ताकि प्रशासन को आंसू गैस के गोले न छोड़ने पड़े।

‘रशिया विदाउट नवेलनी’

शंभू बॉर्डर पर मौजूद किसानों ने रविवार को कहा कि जब उनके नेता कहेंगे वे दिल्ली कूच करेंगे। इस बीच खबर है कि हरियाणा के दो किसान नेताओं को गिरफ्तार किया गया है। ये दोनों किसान नेता रविवार को किसानों की मदद करने के लिए खनौरी बॉर्डर पर जा रहे थे। बहरहाल, हरियाणा में भारतीय किसान यूनियन के चढ़ूनी गुट की रविवार को कुरुक्षेत्र में किसान-खाप पंचायत हुई। इसमें फैसला किया गया कि प्रदेश के सभी किसान संगठन और खाप एक साथ आंदोलन करेंगे। शाम को चंडीगढ़ में होने वाली किसान नेताओं की बातचीत पर नजर रहेगी। अगर मीटिंग में बात नहीं बनती तो बड़ा फैसला किया जाएगा।

उधर लुधियाना में संयुक्त किसान मोर्चा की मीटिंग हुई। इसके बाद किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल ने कहा कि 22 फरवरी तक पंजाब के सभी टोल फ्री कराए जाएंगे और भाजपा के बड़े नेताओं के घरों का घेराव किया जाएगा। ध्यान रहे पंजाब के प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ और पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह के घरों के बाहर किसानों ने प्रदर्शन किया। सबकी नजर  केंद्र सरकार और किसानों के बीच रविवार को होने वाली बैठक पर है। इससे पहले आठ, 12 और 15 फरवरी की बैठक बेनतीजा रहीं थी।

उधर, केंद्र ने पंजाब के सात जिलों पटियाला, संगरूर, फतेहगढ़ साहिब, बठिंडा, मानसा, मोहाली और मुक्तसर के कुछ हिस्सों में 24 फरवरी तक इंटरनेट बंद करा दिया है। हरियाणा के भी सात जिलों में 19 फरवरी की रात 12 बजे तक इंटरनेट बंद रहेगा। इन जिलों में अंबाला, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, हिसार, फतेहाबाद और सिरसा शामिल हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें