nayaindia Kisan Andolan किसान मनाएंगे काला दिवस
Trending

किसान मनाएंगे काला दिवस

ByNI Desk,
Share
Farmers Protest 2024
Farmers Protest 2024

चंडीगढ़। पंजाब और हरियाणा के बीच खनौरी बॉर्डर पर युवा किसान शुभकरण सिंह की मौत के बाद तनावपूर्ण शांति है। इस बीच किसान मजदूर मोर्चा के समर्थन में संयुक्त किसान मोर्चा के नेता उतरे हैं। चंडीगढ़ में मीटिंग के बाद नेताओं ने 23 फरवरी को पूरे देश में काला दिवस मनाने का ऐलान किया है। उन्होंने यह भी कहा है कि 26 फरवरी को संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से ट्रैक्टर रैली का आयोजन होगा। इसके बाद संयुक्त किसान मोर्चा ने 14 मार्च को दिल्ली के रामलीला मैदान में महापंचायत का ऐलान किया है।

गौरतलब है कि किसान पिछले 10 दिन से पंजाब सीमा पर डटे हैं और दिल्ली कूच करना चाहते हैं। लेकिन सरकार ने पंजाब और हरियाणा की सीमा को पूरी तरह से सील कर दिया है। किसान बैरिकेडिंग की तरफ बढ़ रहे हैं तो पुलिस आंसू गैस के गोले छोड़ रही है और रबड़ की बुलेट से फायरिंग कर रही है। पुलिस के साथ झड़प के बाद ही युवा किसान शुभकरण की मौत हुई है। शुभकरण की मौत के बाद किसानों ने दिल्ली मार्च दो दिन के लिए रोक दिया। किसान मजदूर मोर्चा कोऑर्डिनेटर सरवण सिंह पंधेर ने कहा कि फरवरी को अगला फैसला किया जाएगा।

इस बीच आंदोलन के 10वें दिन यानी गुरुवार को शंभू और खनौरी बॉर्डर पर हालात सामान्य दिखे। खनौरी बॉर्डर पर एक दिन पहले बुधवार को किसानों और पुलिस बीच टकराव हुआ था। वहां युवा किसान शुभकरण सिंह की मौत हो गई थी। गुरुवार को किसानों ने शुभकरण की फोटो लेकर नारेबाजी की। सरवण सिंह पंधेर ने गुरुवार को एक तस्वीर जारी की, जिसमें पुलिस फायरिंग करती नजर आ रही है। पंधेर ने कहा- ये तस्वीर दिखाती है कि सीधी फायरिंग की गई है। पंजाब सरकार को हमला करने वालों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज करना चाहिए। एक अन्य किसान नेता बलदेव सिंह ने कहा- पुलिस ने हमारे कैंपों और ट्रैक्टरों पर हमला किया। 167 किसान घायल हैं। छह लापता हैं।

उधर संयुक्त किसान मोर्चा की चंडीगढ़ में हुई मीटिंग के बाद अगले कार्यक्रम का ऐलान किया गया और इसके अलावा पिछले किसान आंदोलन के वक्त साथ जुड़े नेताओं को वापस लाने के लिए छह सदस्यों की एक कमेटी बनाई गई। इसमें जोगिंदर उगराहां, दर्शनपाल, रविंदर पटियाला, बलबीर राजेवाल, युद्धवीर सिंह और हनन मौला शामिल हैं। संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने हालांकि कहा कि वे शंभू और खनौरी बॉर्डर पर नहीं जाएंगे। वे अपना अलग प्रदर्शन करेंगे। बलबीर राजेवाल ने कहा कि जगजीत डल्लेवाल ने खुद ही दिल्ली जाने का ऐलान किया। उन्होंने कहा- अगर हम वहां गए तो फिर कहीं ये न कहा जाए कि उनका आंदोलन खराब करने आ गए।

संयुक्त किसान मोर्चा के पिछले आंदोलन का चेहरा रहे राकेश टिकैत ने गुरुवार को कहा कि 26 फरवरी को पूरे देश में ट्रैक्टर प्रदर्शन किया जाएगा। इस दौरान किसान अपने घर के बाहर हाईवे पर ट्रैक्टर खड़ा कर प्रदर्शन करेंगे। किसान नेता बलबीर राजेवाल ने कहा- हरियाणा पुलिस ने पंजाब में घुसकर गोली चलाई। हमारे ट्रैक्टर तोड़े। हमने मांग की है कि हरियाणा पुलिस और गृह मंत्री पर हत्या का केस दर्ज हो। इसकी न्यायिक जांच कराई जाए। इसके अलावा किसान नेताओं ने शुभकरन के लिए एक करोड़ का मुआवजा मांगा है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें