nayaindia anti defection law दलबदल कानून की जरुरत क्या है
Politics

दलबदल कानून की जरुरत क्या है

ByNI Political,
Share

महाराष्ट्र विधानसभा के स्पीकर राहुल नार्वेकर के शिव सेना विधायकों की अयोग्यता पर दिए फैसले के बाद यह बड़ा सवाल है कि आखिर दलबदल कानून की जरुरत क्या रह गई है? जब पार्टी टूटती है और कोई भी विधायक दलबदल कानून के तहत अयोग्य नहीं ठहराया जाता है तो फिर इस कानून की क्या जरुरत है? गौरतलब है कि जून 2022 में शिव सेना टूटी और पहले चरण में पार्टी के 16 विधायक अलग हो गए। शिव सेना ने तुरंत इन 16 विधायकों को अयोग्य घोषित करने का आवेदन दिया। उस समय स्पीकर का पद खाली था। लेकिन डिप्टी स्पीकर पद पर थे, जिनके पास आवेदन दिया गया था। शिव सेना के चुने हुए सचेतक सुनील प्रभु ने आवेदन दिया था। सोचें, 55 विधायकों वाली पार्टी के 16 विधायक टूटते हैं तो स्वाभाविक रूप से उनको अयोग्य ठहराया जाना चाहिए। लेकिन फैसला नहीं हुआ और बाद में अलग हुए विधायकों की संख्या 39 हो गई, जो कानूनी रूप से तय दो-तिहाई विधायकों की संख्या से ज्यादा है। इसी आधार पर चुनाव आयोग ने एकनाथ शिंदे गुट को असली शिव सेना माना।

अब डेढ़ साल से ज्यादा बीत जाने और कई बार सुप्रीम कोर्ट के दखल देने के बाद स्पीकर ने भी कह दिया है कि शिंदे गुट ही असली शिव सेना है। लेकिन 39 विधायकों वाले गुट को असली मानने के बाद भी अब दूसरी ओर यानी उद्धव ठाकरे के साथ बचे हुए 15 विधायकों को अयोग्य नहीं ठहराया गया। इसका मतलब है कि कोई दलबदल नहीं है और कोई अयोग्य नहीं है। इस तरह की घटनाएं कई राज्यों में हुई है और केंद्र के स्तर पर भी हुई है। जब स्पीकर के हाथ में इसका फैसला है और वह सत्तारूढ़ दल का होता है इसलिए वह कोई फैसला नहीं करता है या करता है तो सत्ता वाले दल के पक्ष में करता है। जैसे झारखंड में चार साल से बाबूलाल मरांडी, प्रदीप यादव और बंधु तिर्की का फैसला नहीं हुआ। या पश्चिम बंगाल में मुकुल रॉय का फैसला नहीं हुआ या लोकसभा में पश्चिम बंगाल के अधिकारी पिता-पुत्र का फैसला नहीं हुआ, जबकि तृणमूल कांग्रेस ने उनकी सदस्यता खत्म करने की अपील की थी। तभी ऐसा लग रहा है कि इस कानून की कोई खास जरुरत नहीं रह गई है।

1 comment

  1. I do agree with all the ideas you have introduced on your post. They are very convincing and will definitely work. Still, the posts are very short for newbies. May just you please prolong them a little from subsequent time? Thank you for the post.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें