kishori-yojna
8 मई से भक्तों को दर्शन देंगे भगवान बद्री विशाल, चारधाम यात्रा शुरू करने के लिए तैयारियां तेज

8 मई को श्रद्धालु बद्रीनाथ धाम में भगवान बद्री विशाल (Badrinath Temple) के दर्शन कर सकेंगे।

CharDham Yatra : उत्तराखंड में भारी बारिश के कारण रुकी चारधाम यात्रा आज से शुरू, बद्रीनाथ जाने के लिए हाइवे खुलने का इंतजार

भारी बारिश के 2 दिन के अलर्ट के बाद शुरू हुई इस यात्रा में गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ के लिए आवाजाही बहाल हुई है। हालांकि अभी बद्रीनाथ के लिए श्रद्धालुओं को कुछ इंतज़ार करना पड़ रहा है।

चारधाम यात्रा : तीर्थयात्रियों की संख्या बढ़ाने पर संशय फिलहाल बरकरार, कोर्ट ने सुनवाई से किया इनकार…

चारधाम यात्रा में तीर्थयात्रियों की संख्या बढ़ाने पर सरकार को निराशा हाथ लगी है. कोर्ट ने इस मामले को सुनने से इनकार कर दिया…

पितृपक्ष विशेष : इऩ 7 स्थानों में पिंडदान का है अपना ही महत्व, दूर-दूर से आते हैं लोग

हिंदू धर्म मान्यताओं के अनुसार घर के किसी व्यक्ति की मृत्यु के बाद पिंडदान करने से मृतक को मोक्ष की प्राप्ति होती है. यही कारण है कि हिंदू धर्म में पितृपक्ष…

आज से शुरू होगी चारधाम यात्रा, जानें से पहले जान लें एक दिन में इतने यात्री ही कर सकते है मंदिर में दर्शन

राज्य सरकार द्वारा जारी एसओपी के अनुसार बद्रीनाथ पर रोजाना 1,000, केदारनाथ पर 800, गंगोत्री पर 600 और यमुनोत्री पर 400 तीर्थयात्रियों को अनुमति दी गई है।

चारधाम यात्रा को लेकर फिर बना संशय, उत्तराखंड हाइकोर्ट ने कहा- एक बार फिर विचार की जरूरत..

देहरादून |  पिछले कुछ समय से चारधाम यात्रा ( Doubt created again chardhamyatra )को लेकर कई निर्णय बदले जा चुके है। हाल ही में उत्तराखंड सरकार ने 1 जुलाई से जिला स्तर पर चारधाम यात्रा की अनुमति दे दी थी। इस फैसले पर उत्तराखंड हाइकोर्ट ने आप्पति जताई है। उत्तराखंड हाइकोर्ट ने इस फैसले को वापस लेने की बात कही है। जम्मू व कश्मीर में श्री अमरनाथ यात्रा को हाल ही में रद्द किया गया है। कोरोना के भय से बाबा बर्फानी की विश्व प्रसिद्ध यात्रा पर रोक लगा दी गई है। उत्तराखंड हाइकोर्ट ने अमरनाथ यात्रा की बात चारधाम यात्रा पर संशय जताते हुए कही थी। और कहा है कि मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को भी चारधाम की यात्रा रोकनी चाहिए या स्थगित कर देनी चाहिेए। दूसरी तरफ उत्तराखंड कैबिनेट ने कुछ शर्तों और गाइडलाइनों के साथ चारधाम यात्रा को शुरू करने के बारे में प्रेस को पूरी जानकारी दी थी। श्रद्धालुओं को चारधाम यात्रा को लेकर एक बार फिर इंतजार करना पड़ सकता है। क्योंकि कोरोना के भय से यात्रा पर फिर कोई बड़ा निर्णय आ सकते है। कोई भी खतरा मोल नहीं लेना चाहता है। इस कारण हाइकोर्ट ने यह बात कही है। also read: विश्व स्वास्थ्य संगठन… Continue reading चारधाम यात्रा को लेकर फिर बना संशय, उत्तराखंड हाइकोर्ट ने कहा- एक बार फिर विचार की जरूरत..

CHARDHAM YATRA 2021: चारधाम यात्रा शुरु होना एक खुशखबरी भी है साथ ही सुपर स्प्रेडर का खतरा रहेगा बरकरार..

UTTARAKHAND: चारधाम यात्रा को शुरु होना एक बहुत बड़ी खुशखबरी है उन भक्तों के लिए जो लंबे समय से इसके खुलने का इंतजार कर रहे थे, और उन कारोबारियों के लिए भी जो इस यात्रा से अपनी रोजी-रोटी चलाते है, और पूरे समुदाय के लिए जो इस यात्रा से जुड़े है। चारधाम यात्रा एक बार फिर शुरु होने जा रही है लेकिन कुछ चुनिंदा लोगो के लिए। लेकिन चारधाम यात्रा शुरु होने के साथ सपुर स्प्रेडर का खतरा भी बना रहेगा। कोरोना के मामले कम हुए है खत्म नहीं। इसलिए हमें इस बार ज्यादा सावधान और सतर्क होना रहेगा। लेकिन अब कोरोना के मामलों में गिरावट होने के कारण यात्रा फिर से शुरु हो सकती है। अधिकारियों के मुताबिक केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के लिए चारधाम यात्रा को कुछ चुनिंदा जिलों के लिए खोला जा सकता है, जहां कोविड संबंधी हालात बेहतर पाए जाएंगे। इससे पहले इस साल श्रद्धालुओं के इस यात्रा को रोक दिया गया था और ​केवल पुजारियों को पूजा अर्चना संबंधी गतिविधियां कर पाने की अनुमति दी गई थी। मंदिर खुले है लेकिन वहां पुजारियों के अलावा किसी को जाने की अनुमति नहीं है। इसे भी पढ़ें CBSE 12th Exam 2021:शिक्षा मंत्री के भर्ती होने के बाद,… Continue reading CHARDHAM YATRA 2021: चारधाम यात्रा शुरु होना एक खुशखबरी भी है साथ ही सुपर स्प्रेडर का खतरा रहेगा बरकरार..

चार धाम यात्रा तो सभी के लिए स्थगित है फिर भी उत्तराखंड सरकार के मंत्री और अन्य BJP नेता बद्रीनाथ कैसे पहुंचे??

कोरोना गाइडलाइंस तो सभी पर लागू होती है फिर भले ही वो कोई नेता हो या सेलिब्रिटी या फिर कोई बड़ी हस्ती। कोई भी कोरोना नियमों का उल्लंघन नहीं कर सकता है। लेकिन 23 मई रविवार की सुबह उत्तराखंड के मंत्री और बीजेपी नेता बद्रीनाथ पहुंच गये। लगभग सभी राज्यों की सरकारों ने लॉकडाउन जैसा पाबंदियां लगा रखी है। उतराखंड सरकार ने लॉकडाउन सहित विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा (केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री, यमनोत्री) पर रोक लगा रखी है। मंदिर में पुजा-अर्चना करने के लिए पुजारियों को ही रहने की अनुमति है। लेकिन इसके बावजूद भी उत्तराखंड सरकार के मंत्री धन सिंह रावत और बीजेपी के अन्य नेता बद्रीनाथ धाम पहुंच गए। मंदिर के पुरोहितों ने मंत्री धन सिंह रावत की यात्रा पर ऐतराज जताते हुए इसे लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन बताया है। बता दें कि रावत और बीजेपी के कुछ अन्य नेता रविवार सुबह बंद्रीनाथ पहुंचे थे। सरकार ने स्पष्ठ निर्देश दिए है कि सभी को कोरोना गाइडलाइंस का पालन करना होगा। और यदि किसी ने उल्लंघन किया तो उसके खिलाफ उचित कार्यवाही की जाएगी। कोरोना गाइडलाइन के तहत चारधाम यात्रा पर सभी के लिए स्थगित कर कखी है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने तीरथ सिंह रावत ने अगले आदेश तक… Continue reading चार धाम यात्रा तो सभी के लिए स्थगित है फिर भी उत्तराखंड सरकार के मंत्री और अन्य BJP नेता बद्रीनाथ कैसे पहुंचे??

CHARDHAM YATRA POSTPOND : कोरोना ने चारधाम यात्रा पर निर्भर व्यापारियो की फिर तोड़ी कमर… सीएम  रावत ने निलंबित की चारधाम यात्रा

हिन्दु धर्म के आस्था का प्रतीक है चारधाम यात्रा। चारधाम की यात्रा उतराखंड में स्थित है-केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री।  हर वर्ष चारधाम की यात्रा में हजारों-लाखों श्रद्धालु अपने भगवान के दर्शन को जाते है। लेकिन इस वर्ष जो भक्तों चारधाम यात्रा पर जाने की सोच रहे है उनके लिए एक बुरी खबर है। कोरोना के इस भयावह माहौल में उतराखंड सीएम  तीरथ सिंह रावत ने इस वर्ष की चार धाम यात्रा रद्द कर दी है। उतराखंड में कोरोना के मामले बढ़ते ही जा रहे है। कुंभ के बाद उतराखंड में कोरोना आग की तरह फैला है। इस वर्ष श्रद्धालु चारधाम यात्रा पर नहीं जा पाएंगे। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि राज्य में कोरोना की स्थिति को देखते हुए चारधाम यात्रा निलंबित की जाती है। सिर्फ पुजारियों को पूजा और बाकी धार्मिक  अनुष्ठान करने की इजाजत होगी। पुजारियों के अलावा किसी भी श्रद्धालु को वहां जाने की अनुमति नहीं होगी। पहले से निर्धारित तिथी पर खुलेंगे चारोंधाम के कपाट। इसे भी पढें मानवता के इंतेहान में कहीं असफल ना हो जाएं..विशेषज्ञों ने जताया मुंबई में तीसरी लहर का अनुमान 14 मई से खुलेंगे चारोधाम चारोंधाम के कपाट मई में खुलेंगे। गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट अक्षयतृतीया के दिन 14… Continue reading CHARDHAM YATRA POSTPOND : कोरोना ने चारधाम यात्रा पर निर्भर व्यापारियो की फिर तोड़ी कमर… सीएम रावत ने निलंबित की चारधाम यात्रा

केदारनाथ मंदिर के कपाट खुलने की तिथि हुई निश्चित, जानें दर्शनों के लिए कब खुलेंगे चारों धाम के पट

रुद्रप्रयाग। केदारनाथ के भक्तों के लिए खुशखबर आ गई है। मंदिर के पट दर्शनों के लिए 17 मई सुबह 5 बजे खुल जाएंगे। खबर के बाद भक्त अपने आराध्य के दर्शनों के लिए तैयारियों में जुट गए हैं। बाबा केदार की डोली उनके शीतकालीन प्रवास स्थल उखीमठ से 14 मई को रवाना होगी। केदारनाथ मंदिर के कपाट पिछले वर्ष 16 नवंबर 2020 को विधि-पूर्वक बंद किये गए थे।उत्तराखंड में उच्च गढ़वाल के हिमालयी क्षेत्र में केदारनाथ मंदिर बसा हुआ है। केदारनाथ मंदिर के पट इस वर्ष 17 मई को प्रातः 5 बजे भक्तों के लिए खोले जाएंगे। चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के एक प्रवक्ता ने बताया कि बृहस्पतिवार को महाशिवरा​त्रि के पर्व पर मुहुर्त निकाला गया। रुद्रप्रयाग के उखीमठ के ओंकारेश्वर मंदिर में केदारनाथ इस मुहुर्त कार्यक्रम को विधि विधान के साथ आयोजित किया गया।केदारनाथ मंदिर के कपाट भक्तों के लिए ग्रीष्मकाल में 6 महीने के लिए ही खुलते हैं। दीवाली के अगले दिन केदारनाथ मंदिर के कपाट विधि-विधान के साथ बंद कर दिए जाते हैं। केदारनाथ में शीतऋतु में अत्यधिक बर्फबारी होती है। इस कारण वहां जाना आसान नहीं होता है। इसे भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश में मोदी कल करेंगे अमृत महोत्सव’ का शुभारम्भ करेंगे चारों धामों की तिथि निश्चित,… Continue reading केदारनाथ मंदिर के कपाट खुलने की तिथि हुई निश्चित, जानें दर्शनों के लिए कब खुलेंगे चारों धाम के पट

और लोड करें