Bihar Politics : लालू के लाल हुए अलग, तेज प्रताप यादव को पार्टी से किया निष्कासित…

बिहार की सबसे बड़ी क्षेत्रीय पार्टी कही जाने वाली राजद में फूट देखने को मिल रही है. पूर्व रेल मंत्री व राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव को पार्टी से निष्कासित..

जदयू-भाजपा में बढ़ेगा विवाद

बिहार में मिल कर सरकार चला रहे जनता दल यू और भाजपा में सब कुछ ठीक नहीं है। दोनों पार्टियों के प्रदेश के नेता एक-दूसरे पर लगातार हमला कर रहे हैं।

Bihar Politics : बरसी में केंद्रीय मंत्री पारस ने छूए भाभी के पैर, लेकिन भतीजे चिराग से बनाई रखी दूरी…

पारस पासवान पासवान पहुंचे थे. उन्होंने अपनी भाभी यानी कि दिवंगत रामविलास पासवान की पत्नी के पैर छूकर आशीर्वाद लिये….

कांग्रेस में क्या करेंगे कन्हैया?

कांग्रेस पार्टी में शामिल होकर कन्हैया क्या कर लेंगे? बिहार में कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से राष्ट्रीय जनता दल पर निर्भर है। उसे राजद के हिसाब से राजनीति करनी है।

भाजपा-जदयू की बयानबाजी चलती रहेगी

बिहार में भाजपा और जदयू मिल कर सरकार बना रहे हैं लेकिन दोनों पार्टियां आपस में ऐसे उलझी हैं, जैसे दो विपक्षी पार्टियां लड़ती हैं।

नीतीश के नए तेवर पर सवाल

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीशकुमार बड़े मजेदार नेता हैं। वे कई ऐसे अच्छे काम कर डालते हैं, जिन्हें करने से बहुत-से नेता डरते रहते हैं। अपने देश में कितने मुख्यमंत्री हैं, जो जनता दरबार लगाने की हिम्मत करते हैं?

तो नीतीश पीएम पद के योग्य हैं!

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दोबारा एनडीए में लौटने से पहले प्रधानमंत्री पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे थे। जब उन्होंने राजद और कांग्रेस के साथ मिल कर बिहार में भाजपा को हराया था तब उनकी स्थिति लगभग वैसी ही थी, जैसी अभी ममता बनर्जी की है

पांच साल में चार जदयू अध्यक्ष!

बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल यू ने एक बार फिर अपना राष्ट्रीय अध्यक्ष बदल दिया है। दिल्ली में हुई पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में लोकसभा में पार्टी के नेता राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह को पार्टी का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया।

करीब आएंगे नीतीश और तेजस्वी!

बिहार में क्या फिर राजनीतिक समीकरण बदल सकता है? विधानसभा चुनाव में एनडीए के घटक लोक जनशक्ति पार्टी से प्रत्यक्ष रूप से और भाजपा से परोक्ष रूप से धोखा खाने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जिस अंदाज में प्रो एक्टिव पोलिटिक्स कर रहे हैं

JDU में Lalan Singh को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद की कमान, माने जाते हैं सीएम नीतीश कुमार के करीबी

पटना | Lalan Singh JDU National President : जेडीयू (JDU) में आज शनिवार को बड़ा परिवर्तन देखने को मिला है। जेडीयू के दिग्गज नेता ललन सिंह (Lalan Singh) को पार्टी का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित कर दिया गया है। जेडीयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में सर्वसम्मति से ये फैसला लिया गया है। ललन सिंह को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) का करीबी माना जाता है। ये भी पढ़ें:- स्कूलों के खुलने के बाद इस जिले में 613 बच्चे पाए गये संक्रमित, अधिकारियों ने कहा जारी रहेंगे स्कूल … ये भी पढ़ें:- Rajasthan : शनिवार की ‘खिचड़ी’ बनने के बाद बर्तन धोने पर दो बहनों में हुई कहासुनी, फिर छोटी ने लगा ली फांसी.. Lalan Singh JDU National President : बता दें कि जेडीयू के वर्तमान अध्यक्ष आरसीपी सिंह (RCP Singh) को हाल ही में केंद्र में इस्पात मंत्री का पद मिला है। ऐसे में रिक्त पद पर अब पार्टी की कमान ललन सिंह को सौंपी गई है। आपको बता दें कि राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह बिहार के मुंगेर संसदीय सीट से सांसद भी है। इसी के साथ ललन सिंह बिहार सरकार में मंत्री पद पर भी रह चुके हैं। ये भी पढ़ें:- जा रहा हूं मैं.. अलविदा! कह कर भाजपा… Continue reading JDU में Lalan Singh को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद की कमान, माने जाते हैं सीएम नीतीश कुमार के करीबी

नीतीश-आरसीपी का मिला-जुला खेल

Nitish Kumar RCP : राजनीति में खेल का यह मॉडल बहुत लोकप्रिय है। हाल के दिनों में मुलायम सिंह यादव ने इसे लोकप्रिय बनाया। उन्होंने बेटे अखिलेश से दूरी बनाई और खुद को भाई शिवपाल के करीब रखा। चौतरफा यह मैसेज बना कि अखिलेश जो भी कर रहे हैं अपनी मर्जी से कर रहे हैं। बाद में पूरी पार्टी उनके नियंत्रण में चली गई। बिहार में नीतीश कुमार और आरसीपी सिंह यह मिला-जुला खेल कर रहे हैं। मीडिया में यह मैसेज बनाया जा रहा है कि आरसीपी ने अपने लिए खुद बात कर ली और केंद्र में मंत्री बन गए, जबकि नीतीश कुमार ऐसा नहीं चाहते थे। Read also सरकार से निकले नेताओं का क्या होगा? मीडिया में इस बात की खूब चर्चा हुई कि नीतीश कुमार ने मंत्री बनने पर आरसीपी सिंह को बधाई तक नहीं दी। सोचें, क्या सचमुच ऐसा हो सकता है कि नीतीश की मर्जी की बगैर आरसीपी सिंह भाजपा और प्रधानमंत्री से बात कर लें और मंत्री बन जाएं? हकीकत यह है कि जनता दल यू में नीतीश कुमार की मर्जी की बगैर पत्ता नहीं हिल सकता है। अगर वे नहीं चाहते तो केंद्र में मंत्री बनना तो छोड़िए, भाजपा नेतृत्व से बातचीत भी आरसीपी… Continue reading नीतीश-आरसीपी का मिला-जुला खेल

हाई कोर्ट में खारिज हुई चिराग की याचिका

chirag paswan petition dismissed नई दिल्ली। अपने पिता की बनाई पार्टी पर अपना नियंत्रण बनाए रखने के चिराग पासवान के प्रयासों को बड़ा झटका लगा है। अपने चाचा पशुपति पारस को लोकसभा में लोक जनशक्ति पार्टी का नेता स्वीकार करने के स्पीकर के फैसले को चिराग ने दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दी थी। हाई कोर्ट ने उनकी याचिका खारिज कर दी है। अदालत ने कहा है चिराग की अर्जी में कोई नया आधार नहीं है, चूंकि यह मामला लोकसभा स्पीकर के पास लंबित है इसलिए आदेश देने की कोई जरूरत नहीं है। यह भी पढ़ें: नया कैबिनेट, भाजपा-संघ को ठेंगा! गौरतलब है कि लोक जनशक्ति पार्टी में पिछले एक महीने से खींचतान चल रही है। पार्टी के लोकसभा में छह सांसद हैं। इनमें से पशुपति कुमार पारस ने पांच सांसदों के साथ अलग गुट बना लिया और चिराग को हटा कर शुद लोकसभा में पार्टी के नेता बन गए। स्पीकर ओम बिड़ला ने इसे मंजूरी भी दे दी। चिराग पासवान का दावा है कि वे पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और कौन नेता होगा, इसका फैसला वे करेंगे। हालांकि दोनों पक्षों ने एक दूसरे को पार्टी से निकाल दिया है और खुद असली लोजपा होने का दावा किया है।… Continue reading हाई कोर्ट में खारिज हुई चिराग की याचिका

चाचा के खिलाफ चिराग हाई कोर्ट पहुंचे

chirag paswan delhi high Court : नई दिल्ली। लोक जनशक्ति पार्टी का विवाद अब अदालत में पहुंच गया है। पार्टी के संस्थापक दिवंगत रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान ने अपने चाचा पशुपति पारस को लोकसभा में पार्टी के नेता के तौर पर मान्यता देने के स्पीकर के फैसले को चुनौती दी है। गौरतलब है कि पिछले महीने पशुपति पारस लोजपा के पांच सांसदों के साथ अलग हो गए थे और असली लोजपा होने का दावा किया था। उनके दावे को स्पीकर ने मान्यता दे दी थी। इस बीच पशुपति पारस को केंद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री बना दिया गया है। मंत्रीजी का रुतबा.. रेलमंत्री ने आते ही इंजीनियर से कहा कि आप मुझे सर नहीं बॉस बोलोगे दूसरी ओर चिराग पासवान का दावा है कि वे लोजपा के अध्यक्ष हैं। उन्होंने हाई कोर्ट में याचिका दायर करने के बारे में कहा- पार्टी विरोधी गतिविधियों और शीर्ष नेतृत्व को धोखा देने के कारण लोक जनशक्ति पार्टी से पशुपति कुमार पारस को पहले ही पार्टी से निष्काषित किया जा चुका है और अब उन्हें केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल करने पर पार्टी कड़ा ऐतराज दर्ज कराती है। चिराग ने कहा- प्रधानमंत्री जी के इस अधिकार का पूर्ण सम्मान है कि वे अपनी टीम… Continue reading चाचा के खिलाफ चिराग हाई कोर्ट पहुंचे

जदयू-भाजपा की परेशानी बढ़ेगी

bihar politics jdu bjp : बिहार में जनता दल यू और भारतीय जनता पार्टी की साझा सरकार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। राजद प्रमुख लालू प्रसाद की सक्रियता गठबंधन सरकार को मुश्किल में डाल सकती है। अभी लालू प्रसाद पूरी तरह से ठीक नहीं हुए हैं और पटना भी नहीं पहुंचे हैं, लेकिन उससे पहले ही सरकार के अंदर कलह शुरू हो गई है। सत्ता पक्ष के विधायकों और सरकार के मंत्रियों ने अनाप-शनाप बयान दिए हैं तो कई पूर्व विधायकों और मजबूत नेताओं ने पाला बदल लिया है। जदयू के दो बार के विधायक महेश्वर सिंह ने पिछले दिनों राजद का दामन थाम लिया। वे राजद के स्थापना दिवस के कार्यक्रम में भी शामिल हुए। यह भी पढ़ें: भारत में भी राफेल की जांच जरूरी भाजपा के पुराने नेता और विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ने अपनी ही पार्टी पर तीखा हमला किया। उन्होंने कहा कि भाजपा के 80 फीसदी मंत्री भ्रष्ट हैं, घूसखोर हैं और ट्रांसफर-पोस्टिंग में पैसा कमाया है। उन्होंने नीतीश कुमार की हालांकि तारीफ की और कहा कि उन्होंने अपने मंत्रियों को काबू में रखा है। हालांकि सरकार में शामिल मंत्री मदन साहनी ने नीतीश कुमार को भी नहीं छोड़ा। मदन साहनी ने कहा कि विधायकों और मंत्रियों… Continue reading जदयू-भाजपा की परेशानी बढ़ेगी

चिराग पर है भाजपा की नजर

bihar politics chirag paswan : लोक जनशक्ति पार्टी के नेता चिराग पासवान भले कह रहे हों कि भाजपा ने उनका साथ छोड़ दिया है पर असल में भाजपा उनके साथ खड़ी है। भाजपा को अब भी उनके अंदर दलित वोट खास कर पासवान वोट एकजुट करने वाले नेता की छवि दिख रही है। भाजपा के ज्यादातर नेता चिराग पासवान को ही रामविलास पासवान की विरासत का उत्तराधिकारी मान रहे हैं। यह भी कहा जा रहा है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में भी उनके लिए जगह रखी जाएगी और चाहे कोई कुछ भी कहे उनके पिता स्वर्गीय रामविलास पासवान का 12, जनपथ का बंगला खाली नहीं कराया जाएगा। भाजपा उनका इस्तेमाल नीतीश कुमार के ऊपर दबाव बनाए रखने के लिए करेगी। मोदी की नई कैबिनेट के 90 प्रतिशत मंत्री करोड़पति हैं, 42% पर आपराधिक मामले : ADR की रिपोर्ट यह भी पढ़ें: देश-विदेश में आम की कूटनीति पांच जुलाई को रामविलास पासवान की जयंती के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के दूसरे नेताओं ने जिस तरह से उनको याद किया, उससे भी जाहिर हुआ कि भाजपा ने चिराग को नहीं छोड़ा है। प्रधानमंत्री मोदी ने दिवंगत रामविलास पासवान को अपना दोस्त बताते हुए ट्विट किया।… Continue reading चिराग पर है भाजपा की नजर

और लोड करें