हमारे सामने बदलता जलवायु

हाल की घटनाओं ने जलवायु परिवर्तन की समस्या को दुनिया की चिंता के केंद्र में ला लिया है। जर्मनी ने याद इतिहास में कभी वैसी बाढ़ नहीं देखी थी, जैसी हाल में वहां देखी गई।

बिहार में 12-15 जून के मध्य दस्तक देगा मानसून, सितंबर तक बरसेगा

पटनाः बंगाल की खाड़ी से उठा चक्रवाती तूफान यास अब ठंडा पड़ चुका है। लेकिन इसने बंगाल, ओडिशा,झारखंड और बिहार में तबाही मचाई थी। यास के प्रभाव से यहां जमकर बारिश हुई थी। लगातार बारिश के कारण जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है। राजधानी पटना समेत कई जिला मुख्यालय जलमग्न हो गये है। मौसम विभाग का कहना है कि उत्तर बिहार में आज (शनिवार) भी कुछ जगहों पर भारी बारिश हो सकती है। ऐसे बिहार के अधिकतर जिलों में बादल छाए रहेंगे। मौसम विभाग ने इस बीच गया और नवादा जिला के लिए विशेष तौर पर अलर्ट जारी किया है क्योंकि यहां मध्यम से भारी बारिश के बीच वज्रपात की भी आशंका है। ऐसे में मौसम विभाग का कहना है कि 12-15 जून के मध्य बिहार में मानसून दस्तक दे सकता है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार यास अब यूपी के पूर्वांचल क्षेत्र में प्रवेश कर चुका है और प्रदेश के अधिकतर हिस्सों में हवा की रफ्तार और बारिश की तीव्रता कम हो गई है। अगले 24 घंटों में यह और भी कम हो जाएगी। चक्रवात यास कम दबाव के क्षेत्र के रूप में बदलकर राज्य के उत्तर पश्चिम दिशा में आगे बढ़ गया है और अगले 24 घंटों… Continue reading बिहार में 12-15 जून के मध्य दस्तक देगा मानसून, सितंबर तक बरसेगा

भारत की धरती को भिगोने को तैयार ‘Monsoon’, 31 मई को केरल में दे सकता है दस्तक

नई दिल्ली। Monsoon 2021: चक्रवाती तूफान ‘ताउते’ और ‘यास’ तबाही देश के कई राज्यों में भारी तबाही मचाने के बाद थम गए है. अब इसी बीच मानसून (Monsoon) को लेकर अच्छी खबर आई है. एक साल के इंतजार के बाद मानसून (Monsoon Rain) फिर से भारत की धरती को भिगोने को तैयार है. मौसम विभाग (Indian Meteorological Department) ने दक्षिण-पश्चिम मानसून के 31 मई को केरल (Kerala) तट से टकराने की संभावना जताई है. अभी मानसून मालदीव-कोमोरिन क्षेत्रों के कुछ और हिस्सों में मानसून आगे बढ़ता हुआ बंगाल की खाड़ी के अधिकांश क्षेत्रों तक पहुंच गया है. देश में मानसून के लिए अनुकूल परिस्थितियां बन रही हैं. केरल के कई इलाकों में इस सप्ताह की शुरुआत से लगातार हल्की से मध्यम बारिश हो रही है. ये भी पढ़ें:- Cyclone Yaas Latest Update: तबाही मचा कर लौटा तूफान यास, मोदी आज करेंगे हवाई सर्वेक्षण स्काईमेट के अनुसार मालदीव व बंगाल की खाड़ी के कुछ हिसों में मानसून के आगे बढ़ने के लिए स्थितियां अनुकूल बनी हुई हैं. एक पश्चिम विक्षोभ जम्मू-कश्मीर व आसपास के क्षेत्रों में भी बना हुआ है. बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश और दक्षिण राजस्थान के अलावा विदर्भ मराठवाड़ा, कोंकण और गोवा के कई हिस्सों में बारिश की संभावना बनी… Continue reading भारत की धरती को भिगोने को तैयार ‘Monsoon’, 31 मई को केरल में दे सकता है दस्तक

Cyclone Yaas Latest Update: तबाही मचा कर लौटा तूफान यास, मोदी आज करेंगे हवाई सर्वेक्षण

कोलकाता/भुवनेश्वर। चक्रवाती तूफान यास का असर कम हो गया है और पश्चिम बंगाल व ओड़िशा में भारी तबाही मचाने के बाद तूफान शांत पड़ गया है। लेकिन पिछले दो दिन में इस तूफान की वजह से भारी तबाही मची है। करीब 20 लाख लोग इससे प्रभावित हुए हैं। हालांकि पहले से सूचना होने और तैयारियों की वजह से ज्यादातर लोगों को प्रभावित क्षेत्र से निकाल लिया गया था। इसके बावजूद चार लोगों की मौत हुई है। ओड़िशा में तीन और पश्चिम बंगाल में एक आदमी की मौत हुई। पश्चिम बंगाल के पूर्वी मेदिनीपुर जिले के दीघा के मशहूर पर्यटक स्थल इस तूफान से पूरी तरह से बरबाद हो गए हैं। इस बेहद खूबसूरत पर्यटन स्थल को बुधवार को आए यास तूफान ने तहस-नहस कर दिया। वहां के समुद्र तट पर अब सब कुछ टूटा हुआ है। होटल और रिसॉर्ट में भी समुद्र का पानी घुस गया है और सामान बहाकर ले गया है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इस इलाके का दौरा करेंगी। माना जा रहा है कि टूरिज्म उद्योग के लोगों को कुछ राहत का ऐलान किया जा सकता है। कुछ ऐसा ही हाल हावड़ा जिले के विश्व प्रसिद्ध रामकृष्ण परमहंस और स्वामी विवेकानंद आश्रम बेलूर मठ का है।… Continue reading Cyclone Yaas Latest Update: तबाही मचा कर लौटा तूफान यास, मोदी आज करेंगे हवाई सर्वेक्षण

Cyclone ‘Yaas’ ने पश्चिम बंगाल में मचाई भारी तबाही, तटबंध टूटे, कई गांव जलमग्न, एक करोड़ लोग प्रभावित

कोलकाता। Cyclone Yaas Update: चक्रवाती तूफान ‘यास’ (Cyclone ‘Yaas’) ने पश्चिम बंगाल (West Bengal) में जमकर तबाही मचाई है. चक्रवात ‘यास’ के कारण नदियों का जलस्तर बढ़ने से पूर्व मेदिनीपुर और दक्षिण 24 परगना के कई इलाकों में पानी भर गया. समुद्र की उछाल मारती लहरों ने कई गांवों और कस्बों को जलमग्न कर दिया है. भारी बारिश के बीच बाढ़ के पानी में कई कारें बह गई. सैंकड़ों पेड़ उखड़ गए. बंगाल में लगभग तीन लाख मकानों को क्षति पहुंची है. सेना और NDRF की टीमें लगातार आपात स्थिति से निपटने में लगी हुई है. नदियों का बढ़ा जलस्तर, गांव हुए जलमग्न पश्चिम बंगाल में तूफान यास ने भारी तबाही मचाई है. भारी बारिष से बढ़ते जलस्तर के कारण दोनों तटीय जिलों में कई स्थानों पर तटबंध टूट गए है. जिसके कारण कई गांव और छोटे कस्बे जलमग्न हो गए है. सेना और एनडीआरएफ (NDRF) की टीमें लगातार राहत-बचाव कार्य में लगी हुई हैं. ये भी पढ़ें:- Cyclone ‘Yaas’  ने बरपाया कहर! भारी बारिश से यहां 80 घरों को नुकसान, दो की मौत, NDRF की टीमें पूरी तरह से अलर्ट एक करोड़ लोग प्रभावित, 3 लाख मकानों को नुकसान पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने चक्रवाती तूफान… Continue reading Cyclone ‘Yaas’ ने पश्चिम बंगाल में मचाई भारी तबाही, तटबंध टूटे, कई गांव जलमग्न, एक करोड़ लोग प्रभावित

Cyclone ‘Yaas’  ने बरपाया कहर! भारी बारिश से यहां 80 घरों को नुकसान, दो की मौत, NDRF की टीमें पूरी तरह से अलर्ट

नई दिल्ली। Cyclone Yaas Update: भीषण चक्रवाती तूफान ‘यास’ (Cyclone Yaas) तेजी से आगे बढ़ रहा है. आज कुछ ही घंटों में ये तूफान ओडिशा और पश्चिम बंगाल तट से टकराने वाला है. तूफान के मद्देनजर कई राज्यों में अलर्ट जारी कर दिया गया है. मौसम विभाग (IMD) के अनुसार गंभीर चक्रवाती यास तूफान जब तट से टकराएगा तो उस दौरान 130-140 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं. लेकिन तूफान ने अभी से अपना भयानक रूप दिखाना शुरू कर दिया है. दोनों ही राज्यों के लिए ‘रेड जारी किया हुआ है. तूफान के असर से यहां भारी बारिश का दौर जारी है. जिससे पश्चिम बंगाल में हुगली और नॉर्थ 24 परगना जिलों के 80 घरों को नुकसान पहुंचा है. जबकि 2 लोगों की करंट से मौत की खबर है. पश्चिम बंगाल में तूफान यास की भयावहता को देखते हुए साढे ग्यारह लाख लोगों को पहले ही सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. ये भी पढ़ें:- Cyclone Yaas Latest Update: आगे बढ़ा तूफान ‘यास’, दिखने लगा असर, कई जगहों पर पलटा मौसम, तेज हवाओं के साथ बारिश जारी, कई ट्रेनें रद्द वहीं चक्रवाती तूफान यास से ओडिशा के भद्रक और बालासोर में सबसे ज्यादा तबाही की आशंका है.… Continue reading Cyclone ‘Yaas’  ने बरपाया कहर! भारी बारिश से यहां 80 घरों को नुकसान, दो की मौत, NDRF की टीमें पूरी तरह से अलर्ट

Cyclone Yaas Latest Update: आगे बढ़ा तूफान ‘यास’, दिखने लगा असर, कई जगहों पर पलटा मौसम, तेज हवाओं के साथ बारिश जारी, कई ट्रेनें रद्द

नई दिल्ली। Cyclone Yaas Latest Update: चक्रवात तूफान ‘यास’ (Cyclone Yaas) का असर अब ओडिशा के भुवनेश्वर में दिखाई भी देने लगा है. तटीय जिलों में हवाओं के साथ झमाझम बारिश (heavy rains) भी शुरू हो गई है. जैसे जैसे तूफान आगे बढ़ रहा है वैसे-वैसे समुद्र में उठ रही लहरे ऊंची होने लगी है. चक्रवात यास के प्रभाव से ओडिशा के तटीय जिलों में बारिश की रफ्तार तेज हो गई है. इस आपदा को लेकर राहत-बचाव के लिए पहले से ही सेना और एनडीआरएफ की टीमों को तैनात कर दिया गया है. बुधवार को तूफान यास ओडिशा में दस्तक दे देगा. इस बीच ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक कर स्थितियों का जायजा लिया है. यास से होने वाली तबाही की आशंका को देखते हुए ओडिशा और पश्चिम बंगाल में प्रशासन को हाई अलर्ट पर रखा गया है. यह भी पढ़ें:- Cyclone Tauktae: महाराष्ट्र में ताऊ ते ने मचाई भारी तबाही, हजारों एकड फसल और इमारतें ध्वस्त ‘एम्फान’ से भी ज्यादा खतरनाक ‘यास’ मौसम विभाग के अनुसार, चक्रवात यास पिछली बार आए चक्रवाती तूफान एम्फान से भी ज्यादा खतरनाक है. चक्रवात यास बंगाल की खाड़ी से तेजी से आगे बढ़ रहा है. मौसम विभाग… Continue reading Cyclone Yaas Latest Update: आगे बढ़ा तूफान ‘यास’, दिखने लगा असर, कई जगहों पर पलटा मौसम, तेज हवाओं के साथ बारिश जारी, कई ट्रेनें रद्द

Cyclone Yaas Update: तूफान यास को हल्के में न लें, NDRF के डीजी ने यह कहा

नई दिल्ली | चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas in India) अगले दो दिन में भीषण रूप ले सकता है। मौसम विभाग (IMD) ने चेतावनी दी है कि इसे हलके में नहीं लिया जाना चाहिए क्योंकि यह एक भीषण तूफान में बदल सकता है और बड़ी तबाही मचा सकता है। बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) से उठा यह चक्रवाती तूफान यास पश्चिम बंगाल और ओड़िशा की तरफ आगे बढ़ रहा है। 26 मई की शाम तक इसके उत्तरी ओड़िशा के पारादीप और पश्चिम बंगाल के सागर आइलैंड से टकराने की संभावना है। मौसम विभाग ने यास को बहुत गंभीर चक्रवात की श्रेणी में शामिल किया है। इसका असर पश्चिम बंगाल, ओड़िशा, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, और अंडमान निकोबार द्वीप समूह जैसे राज्यों में दिख सकता है। इस बीच पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना और पूर्वी मिदनापुर में निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का काम शुरू हो गया है। केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, एनडीआरएफ की 85 टीमें पांच राज्यों में तैनात की हैं। तूफान से सबसे ज्यादा नुकसान पश्चिम बंगाल और ओडिशा में हो सकता है। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक इन राज्यों में 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं… Continue reading Cyclone Yaas Update: तूफान यास को हल्के में न लें, NDRF के डीजी ने यह कहा

Cyclone Yaas Update: भीषण हुआ चक्रवाती तूफान ‘यास’, राहत के लिए वायुसेना, NDRF तैयार, रेलवे ने रद्द की 25 ट्रेनें

नई दिल्ली। Cyclone Yaas Update: अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान ‘ताउते’ के अभी बर्बादी के निशान अभी मिटे भी नहीं है कि अब चक्रवाती तूफान ‘यास’ (Yaas) कोहराम मचाने के लिए तैयार है. मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र अब दबाव वाले क्षेत्र में बदल चुका है और बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में 26 मई को पश्चिम बंगाल तथा ओडिशा तटों को पार करेगा. मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान यास के दौरान दोनों राज्यों में हवा 155 से 185 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने की संभावना है. ये भी पढ़ें:- Cyclone Yaas Updates: देश के पूर्वी हिस्से में तूफान यास का खतरा राहत के लिए भारतीय वायुसेना तैयार चक्रवाती तूफान ‘यास’ की भयानकता को देखते हुए भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) ने पूरी तैयारी कर ली है. भारतीय वायुसेना ने किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए 11 परिवहन विमान और 25 हेलीकॉप्टर तैयार रखे हैं. वहीं पूर्वी रेलवे ने तूफान को देखते हुए आज 24 मई से 29 मई के बीच चलने वाली 25 ट्रेनों को रद्द कर दिया है. तूफान यास के खतरे को देखते हुए ओडिशा और पश्चिम बंगाल दोनों ही राज्यों में सुरक्षा… Continue reading Cyclone Yaas Update: भीषण हुआ चक्रवाती तूफान ‘यास’, राहत के लिए वायुसेना, NDRF तैयार, रेलवे ने रद्द की 25 ट्रेनें

Cyclone Yaas Updates: देश के पूर्वी हिस्से में तूफान यास का खतरा

नई दिल्ली। देश के पश्चिमी और दक्षिणी हिस्से में चक्रवाती तूफान ताउते के तबाही मचाने के बाद अब पूर्वी हिस्से में एक दूसरे चक्रवाती तूफान यास का खतरा मंडरा रहा है। ओड़िशा और पश्चिम बंगाल सहित पांच राज्यों में इस तूफान का खतरा है और सभी राज्यों को अलर्ट कर दिया गया है। इस बीच रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस तूफान से निपटने की तैयारियों के लिए कई विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बीच मौसम विभाग का कहना है कि मध्य पूर्वी बंगाल की खाड़ी में रविवार को कम दबाव का क्षेत्र बना है। ये ओड़िशा के बालासोर और बंगाल के दीघा से सात सौ किलोमीटर की दूरी पर है। माना जा रहा है कि 24 मई तक यह चक्रवाती तूफान में बदल सकता है। 25 मई को बंगाल के मेदिनीपुर, 24 परगना और हुगली में हल्की बारिश हो सकती है। कुछ इलाकों में भारी बारिश की भी संभावना है। इसके बाद 26 मई को नादिया, बर्धमान, बांकुड़ा, पुरुलिया और बीरभूम में भारी बारिश हो सकती है। यास तूफान उत्तरी ओड़िशा के पारादीप और पश्चिम बंगाल के सागर आइलैंड के बीच से गुजरेगा। यहां से गुजरते वक्त इसकी गति 185 किलोमीटर प्रति घंटे तक हो… Continue reading Cyclone Yaas Updates: देश के पूर्वी हिस्से में तूफान यास का खतरा

अब बंगाल खाड़ी से तूफान खतरा, 24 मई तक तूफान की आशंका

नई दिल्ली। देश के पश्चिम हिस्से में आए ताउते तूफान के गुजरने के तुरंत बाद अब पूर्वी भारत में एक बड़े तूफान का खतरा मंडरा रहा है। ताउसे के बाद अब यास तूफान का खतरा है, जो उत्तरी अंडमान सागर और उससे सटे पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी से उठेगा। 24 मई तक इसके चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आशंका है। इसके खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार ने आंध्र प्रदेश, ओड़िशा, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और अंडमान-निकोबार को चेतावनी दी है। केंद्र सरकार के मुताबिक 26 मई को तूफान बंगाल के तटों से टकराएगा। केंद्र ने पांचों राज्यों से कहा है कि इस तूफान के खतरे को देखते हुए वे कोविड मरीजों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाने की तैयारी रखें। यह भी कहा गया है कि सभी अस्पतालों में पर्याप्त पावर बैकअप होना चाहिए। इमरजेंसी कमांड सिस्टम और इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर और कंट्रोल रूम को तुरंत एक्टिव करने के लिए भी कहा गया है। केंद्र ने राज्यों से कहा है कि वे नोडल अफसर तैनात करें और उसे स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ संपर्क में रखें। तटवर्ती राज्यों के सभी जिलों में अस्पतालों को डिजास्टर मैनेजमेंट प्लान शुरू करने की सलाह दी गई है। इन जिलों के अस्पतालों में आपातकालीन स्थितियों… Continue reading अब बंगाल खाड़ी से तूफान खतरा, 24 मई तक तूफान की आशंका

जलवायु परिवर्तन की मार

पिछले एक दशक में अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में उठने वाले चक्रवाती तूफानों की संख्या में 11 प्रतिशत वृद्धि हुई है। 2014 और 2019 के बीच चक्रवातों में 32 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है। चक्रवातों की संख्या और उनकी मारक क्षमता बढ़ने के पीछे ग्लोबल वॉर्मिंग एक साफ वजह है। कोरोना महामारी के बीच अरब सागर में उठे चक्रवाती तूफान ताउते ने भारत के अलग-अलग राज्यों पर एक गहरी चोट की है। इस सिलसिले में फिर से कुछ अहम सवाल उठे हैं। गौरतलब यह है कि भारत और दुनिया के दूसरे हिस्सों में में चक्रवाती तूफानों की संख्या बढ़ती जा रही है। भारत में अमूमन मई और अक्टूबर के बीच चक्रवात आते हैं। पश्चिम बंगाल, ओडीशा, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और केरल इनसे सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले में राज्यं में हैं। सवाल है कि अब अरब सागर में भी लगातार चक्रवाती तूफानों का सिलसिला क्यों बढ़ रहा है और उनकी संख्या और ताकत अधिक क्यों हो रही है? ताउते पिछले दो दशकों के सबसे ताकतवर तूफानों में है। राहत की बात सिर्फ है कि इसकी तट से दूरी बनी रही। इससे पहले 2007 में दोनू और 2019 में क्यार नाम के दो सुपर साइक्लोन अरब सागर में ही उठे… Continue reading जलवायु परिवर्तन की मार

Cyclone Tauktae Update: तूफान से गुजरात में 45 मौतें, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का दौरा

प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात को एक हजार करोड़ रुपए की मदद देने का भी ऐलान किया। गौरतलब है कि इस तूफान से गुजरात में 45 लोगों की मौत हुई है। इस तूफान ने महाराष्ट्र, केरल और कर्नाटक में भी काफी तबाही मचा

Cyclone Yaas: ताऊ ते की विदाई के बाद YAAS के लिए तैयार रहे..मौसम विभाग का अलर्ट

चक्रवात ‘ताउते’ का तांडव अभी थमा नहीं है कि इसी बीच एक और चक्रवात की आहट ने लोगों को परेशानी में डाल दिया है। दरअसल मौसम विभाग ने अपने ताजा अपडेट में कहा है कि 23-24 मई के आस-पास बंगाल की खाड़ी में एक लो प्रेशर दवाब विकसित होता दिख रहा है, जो कि साइक्लोन में तब्दील हो सकता है। मौसम विभाग की नजर इस दवाब पर बनी हुई है। आईएमडी ने कहा है कि इस वक्त सारी परिस्थितियां बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में चक्रवात के अनुकूल हैं और इसी वजह से तूफान आ रहे हैं। इस आने वाले तूफान का नाम यास है। इस बार तूफान का नाम ओमान ने दिया है। मौसम विभाग इस पर पूरी नज़र रख रहा है। ताऊ ते ने एक ओर जहां गुजरात में 13 लोगों की तूफान से मौत हुई तो वहीं महाराष्ट्र में 6 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की सूचना है। इसके साथ ही जिन जगहों से तूफान गुजरा, वहां तबाही का अलग ही मंजर दिखा। इसे भी पढ़ें Rajasthan में तूफान ‘Tauktae’: 24 घंटे से लगातार हो रही बारिश, सैंकड़ों पेड़ धराशाही, नदी-नालों में उमड़ा पानी का सैलाब मौसम विभाग ने अगले तूफान की दी सूचना भारत मौसम… Continue reading Cyclone Yaas: ताऊ ते की विदाई के बाद YAAS के लिए तैयार रहे..मौसम विभाग का अलर्ट

Rajasthan में तूफान ‘Tauktae’: 24 घंटे से लगातार हो रही बारिश, सैंकड़ों पेड़ धराशाही, नदी-नालों में उमड़ा पानी का सैलाब

जयपुर। Tauktae Cyclone in Rajasthan: अरब सागर से उठा चक्रवाती तूफान ताउते ( Cyclone Tauktae ) केरल, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, गुजरात में तबाही मचाता हुआ अब राजस्थान में कहर बरपा रहा है. चक्रवाती तूफान ने गुजरात से आगे बढ़ते हुए मंगलवार रात को राजस्थान (Tauktae cyclone in rajasthan live updates) में प्रवेश किया. इसका असर प्रदेश के सभी जिलों में देखने को मिल रहा है. जालोर, जोधपुर, उदयपुर सहित अन्य जगहों के अलावा जयपुर में भी बारिश (Rain in Rajasthan) का दौर जारी है. मौसम का देखते हुए मौसम विभाग अलर्ट मोड पर है. वहीं प्रशासन भी एकदम मुस्तैद है. कलेक्टर समेत आपदा प्रबंधन से जुड़े अधिकारी बदलते मौसम पर नजर बनाए हुए हैं. ये भी पढ़ें:- Tauktae Update: ताउते का कहर! PM Modi आज करेंगे तूफान प्रभावित क्षेत्रों का दौरा, जाएंगे गुजरात तूफान के असर से राजस्थान के लगभग हिस्सो में बारिश हो रही है. जिसके कारण मई के महीने में तपाने वाली गर्मी और लू एकदम से गायब हो गई है मौसम बेहद सर्द हो गया है. वहीं राज्य के कई हिस्सों में तेज अंधड़ और बारिश के कारण विभिन्न इलाकों में पेड़ उखड़ गये. बिजली आपूर्ति प्रभावित हो गई है. नदी नालों में अचानक पानी की आवक बढ़ गई… Continue reading Rajasthan में तूफान ‘Tauktae’: 24 घंटे से लगातार हो रही बारिश, सैंकड़ों पेड़ धराशाही, नदी-नालों में उमड़ा पानी का सैलाब

और लोड करें