साझा खत्म, हिंदू लुप्त!

अनुच्छेद 370 भले खत्म हो लेकिन सौ किलोमीटर चौड़ी कश्मीर घाटी में न हिंदू हैं और न हिंदू लौटता हुआ है। घाटी बिना हिंदू धड़कन के है।

घाटी: इस्लाम का कलंक नहीं तो क्या?

इस्लाम यदि इंसान व इंसानियत का धर्म है तो क्योंकर कश्मीर घाटी अब बिना हिंदुओं के है? क्या घाटी के मौलानाओं, इमामों, जमायतियों, तबलीगियों और अब्दुला-मुफ्तीयों व आम मुसलमानों ने कभी सोचा कि कश्मीरियत खत्म करके, इस्लामियत बना कर उन्होने घाटी को पृथ्वी का स्वर्ग बनाया है या दोजख?

संघ परिवार: इस्लाम व मुस्लिमों पर विचार

संघ प्रवक्ताओं के अनुसार, मुख्य समस्या व्यवहारिक है। जिहाद का इतिहास भी कोई मुद्दा नहीं है। इसलिए, मुसलमानों को यह संदेश दें कि उन्हें बाबर और औरंगजेब की विरासत से बचना चाहिए, और राष्ट्रवादी विरासत में आना चाहिए। यही समाधान है। इस्लामी मतवाद कोई समस्या है ही नहीं।

देर आए, दुरुस्त आए : सऊदी के इतिहास में पहली बार पवित्र “मक्का मस्जिद” में किसी ‘महिला सुरक्षाकर्मी’ की हुई तैनाती

सऊदी के इतिहास में पहली बार एक महिला सुरक्षाकर्मी की तैनाती की गई. ये देखखर हज करने पहुंचे लोगों कोे भई काफी आश्चर्य हुआ लेकिन लोगों ने सऊदी के इस मूव के तारीफ ही की है.

मलेरकोटलाः एक बेमिसाल मिसाल

पंजाब के मलेरकोटला कस्बे के बारे में ज्ञानी जैलसिंहजी मुझे बताया करते थे कि अब से लगभग 300 साल पहले जब गुरु गोविंदसिंह के दोनों बेटों को दीवार में जिंदा चिनवाया जा रहा था, तब मलेरकोटला के नवाब शेर मोहम्मद खान ने उसका डटकर विरोध किया था और भरे दरबार में उठकर उन्होंने कहा था… Continue reading मलेरकोटलाः एक बेमिसाल मिसाल

रमजान 2021 : आज से रमजान का पाक महीना शुरू, जानें क्यों रखे जाते हैं रोजे…

आज से रमजान का पवित्र महीना शुरु हो गया है। मुसलमान समाज पुरे साल भर से रमजान के पवित्र महीने का इंतज़ार करते है। रमजान इस्लाम धर्म के सबसे पवित्र महीनों में आता है। ऐसा माना जाता है कि रमज़ान के महीने में की गई इबादत का फल आम दिनों में की गई इबादतों के… Continue reading रमजान 2021 : आज से रमजान का पाक महीना शुरू, जानें क्यों रखे जाते हैं रोजे…

मध्यप्रदेश में धर्म परिवर्तन बना दंडनीय अपराध, जबरिया शादी और धर्म बदलने पर रोक के लिए आया यह कानून

भोपाल | जोर-जबरदस्ती से धर्म परिवर्तन कराने और धोखा देकर विवाह रचाने की वारदात पर रोक लगाने के लिए मध्य प्रदेश में धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 2021 लागू किया गया है। गौरतलब है कि राज्य में बीते साल धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम लागू किए जाने का प्रस्ताव कैबिनेट में पारित किया गया था। विधानसभा में भी इस… Continue reading मध्यप्रदेश में धर्म परिवर्तन बना दंडनीय अपराध, जबरिया शादी और धर्म बदलने पर रोक के लिए आया यह कानून

Uttar Pradesh News : दहेज मांगने, तेज आवाज में म्यूजिक बजाने पर मौलवी नहीं पढ़ाएंगे निकाह

सहारनपुर | डीजे की धुन पर नाचने, तेज आवाज में संगीत बजाने, पटाखों का इस्तेमाल और दहेज मांगना निकाह पढ़ने की आस में आए दूल्हों के बेरंग लौटने का कारण बन सकता है। इस्लामिक मदरसा दारुल उलूम देवबंद में शादी समारोहों के दौरान तेज संगीत बजाने और पटाखों के इस्तेमाल के खिलाफ मौलवियों ने एक… Continue reading Uttar Pradesh News : दहेज मांगने, तेज आवाज में म्यूजिक बजाने पर मौलवी नहीं पढ़ाएंगे निकाह

लव-जिहाद की अनदेखी न करें सभ्य समाज

गैर-मुस्लिम महिलाओं के लिए अधिकांश मुस्लिम पुरुषों का प्रेम मजहबी अभियान अधिक है। अर्थात्- यह इस्लाम के विस्तार हेतु जिहाद है। इस पृष्ठभूमि में क्या मजहब के नाम पर धोखे को स्वीकार करने से सभ्य समाज स्वस्थ रह सकता है?

इस्लाम की आलोचना कैसे करें?

सौ साल पहले, 1920 में लाहौर में मुसलमानों की ओर से दो पुस्तकें प्रकाशित हुईं, जो भगवान कृष्ण और महर्षि दयानन्द पर आक्षेप करती थीं। एक ‘कृष्ण तेरी गीता जलानी पड़ेगी’, और दूसरी ‘बीसवीं सदी का महर्षि।

क्या अकबर ने इस्लाम छोड़ दिया था?

कुछ समय से गीतकार जावेद अख्तर बादशाह अकबर का झंडा बुलंद कर रहे हैं। एक ताने जैसा कि अकबर के समय भारत धनी था, इसलिए मुगल-काल को बुरा नहीं कहना चाहिए।

हिन्दू बुद्धि पर पार्टी का ग्रहण

टीपू सुलतान के जन्मदिन पर शिव सेना सांसद कृपाल तुमाने की श्रद्धांजलि पर सोशल मीडिया में हिन्दू बौद्धिकों ने मजाक उड़ाया, कि शिव सेना कितनी गिर गई है!

इस्लाम से खारिज तब्लीगी जमात को जीने का हक नहीं : मौलाना

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में आस्ताना ए हशमतिया के सज्जादा नशीन मुफ्ती मौलाना जरताब रजा खां हशमती ने कहा है कि बहावी विचारधारा वाले तब्लीगी जमात को सवा सौ पहले ही इस्लाम से खारिज किया जा चुका है।

मुसलमानों से सीधे संवाद का समय

भारत की अधिकांश विकट समस्याएं हिन्दू-मुस्लिम संबंधों से जुड़ी रही हैं। खलीफत आंदोलन से शुरू होकर, सांप्रदायिक दंगे, देश-विभाजन, कश्मीर, पाकिस्तान से चार युद्ध, जिहादी आतंकवाद, सेक्यूलर-सांप्रदायिक विवाद, अयोध्या-काशी-मथुरा पर अतिक्रमण, अल्पसंख्यक तुष्टीकरण से लेकर अभी चल रहे नागरिकता संशोधन कानून पर विरोध, हर समस्या की मूल फाँस वहीं है। लेकिन जिसे यथावत् छोड़कर सारी… Continue reading मुसलमानों से सीधे संवाद का समय

इमेज की फिक्र जरूरी

इस्लाम की छवि के लिए चिंतित लोगों को ऐसी घटनाओं पर जरूर गौर करना चाहिए। इसके लिए सिर्फ पश्चिमी देशों या कथित इस्लामोफोबिया से ग्रस्त लोगों को दोष देना उचित नहीं है।

नुसरत जहां और मौलवी

तृणमूल कांग्रेस की सांसद नुसरत जहां इस बार फिर चर्चा में है। इस बार दुर्गा पूजा में जाने के कारण देवबंद के उलेमा उनसे इतने ज्यादा नाराज हो गए कि उन्होंने उनसे अपना नाम तक बदलने की सलाह देते हुए कहा कि इस्लाम में दुर्गा पूजा में जाना मना है।