kishori-yojna
विपक्ष की क्या तैयारी है?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मुकाबला करने के लिए विपक्ष के पास भी एक बड़ा चेहरा होना चाहिए। लेकिन क्या सचमुच ऐसा है?

2024 के लिए विपक्ष को आपसी विन-विन समझौता करना होगा!

यक्ष प्रश्न है कि भाजपा विरोधी पार्टियों के बीच एकजुटता तथा आपसी विन-विन समझौता कौन कराएगा?

विपक्षी एकता के बिना गुंजाइश नहीं

अगर विपक्ष को भाजपा के साथ मजबूती से लड़ना है तो ऐसा बिना एकजुटता के संभव नहीं होगा।

केंद्रीय मंत्री बोले- ऑनलाइन मतदान प्रणाली पर हो रहा है विचार और…

केंद्रीय विधि एवं न्याय मंत्री किरेन रीजीजू ने शुक्रवार अहम जानकारी दी है. उन्होंने कहा है कि इन चीजों के लिए तोड़-तोड़ कर समझने की कोशिश….

Hindu Vs Hindutva : क्या राहुल गांधी ने पकड़ ली है BJP की नब्ज…

राहुल गांधी ने खुद को हिंदू बताया था लेकिन हिंदुत्व का विरोध किया था. इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि देश…

प्रशांत किशोर की चोटी, ब्राह्मण को आफरा!

मैं ब्राह्मण हूं और बतौर ब्राह्मण अनुभव में फील करता हूं कि यदि पैसा और प्रसिद्धी मिल जाए तो हम बामनों को आफरा हो जाता है।

चुनाव से पहले मोर्चा बनेगा क्या?

भारत में दोनों तरह के प्रयोग हुए हैं। चुनाव संपन्न होने के बाद सरकार बनाने के लिए भी पार्टियों का गठबंधन हुआ और चुनाव होने से पहले भी मोर्चा बना कर लड़ा गया है।

ममता न पहली नेता हैं न कोशिश नई है

ममता बनर्जी का हौसला विधानसभा चुनाव में मोदी-शाह के खिलाफ निर्णायक जीत से बढ़ा है। उन्होने चुनाव व्हीलचेयर पर बैठ कर लड़ा।

और लोड करें