आप को क्यों परेशान करेगी केंद्र सरकार?

आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दावा किया है कि केंद्र सरकार ने 15 लोगों की एक सूची केंद्रीय एजेंसियों जैसे सीबीआई, ईडी आदि को दी है

दिल्ली सरकार व एलजी की तकरार

ऑक्सीजन की कमी से मरे लोगों को मुआवजा देने के मसले पर दिल्ली सरकार और उप राज्यपाल के बीच तकरार जारी है।

ऑक्सीजन की कमी पर दिल्ली सरकार की मक्कारी!

ऑक्सीजन की कमी को लेकर सर्वाधिक मौतें संभवतः राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हुई है। लेकिन दिल्ली सरकार ने अभी तक केंद्र को नहीं बताया है कि दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी से कितने लोगों की मौत हुई है।

75वें स्वतंत्रता दिवस के पहले दिल्ली सरकार ने उठाया ऐसा कदम, सब करने लगे तारीफ

दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार ने 75वें स्वतंत्रता दिवस के पहले एक नई पहल शुरू की है. इस पहल के शुरू करने के साथ ही लोगों ने सोशल मीडिया में इस फैसले को सही ठहराना शुरू कर दिया है

मनीष सिसोदिया ने उत्तराखंड में आप के मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर दिया संकेत, जानें कौन होगा आप के सीएम का चेहरा

मनीष सिसोदिया ने उत्तराखंड में आप के मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर दिया संकेत, जानें कौन होगा आप के सीएम का चेहरा

Delhi Deputy CM मनीष सिसोदिया ने रिपोर्ट को फर्जी बताया

नई दिल्ली। ऑक्सीजन की मांग को बढ़ा-चढ़ा कर बताने का दावा करने वाली सुप्रीम कोर्ट की उप समिति की रिपोर्ट को दिल्ली सरकार ने फर्जी करार दिया है। Delhi Deputy CM मनीष सिसोदिया ने कहा है- भाजपा के नेता जिस रिपोर्ट के हवाले से केजरीवालजी को गालियां दे रहे हैं, ऐसी कोई रिपोर्ट है ही नहीं। भाजपा झूठ बोल रही है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की बनाई कमेटी के सदस्यों ने ऐसी किसी रिपोर्ट पर दस्तखत नहीं किया है। उन्होंने यह भी दावा किया कि यह रिपोर्ट भाजपा मुख्यालय में तैयार की गई है। सिसोदिया ने शुक्रवार को कहा- सुप्रीम कोर्ट ने ऑक्सीजन ऑडिट कमेटी बनाई थी। हमने इसके मेंबर्स से बात की है। सबका कहना है कि उन्होंने कोई रिपोर्ट साइन ही नहीं की है। जब ऑक्सीजन ऑडिट कमेटी के सदस्यों ने कोई रिपोर्ट साइन ही नहीं की है, अप्रूव ही नहीं की है तो फिर ये रिपोर्ट है कहां? उन्होंने कहा- ये कौन सी रिपोर्ट है? कहां से आई है? क्या कोई ऐसी रिपोर्ट है ऑक्सीजन ऑडिट कमेटी की, जिसे मेंबर्स ने अप्रूव किया है और साइन किया है? सिसोदिया ने कहा- मैं चुनौती देता हूं भाजपा नेताओं को कि ऐसी रिपोर्ट लाइए। झूठ और मक्कारी की… Continue reading Delhi Deputy CM मनीष सिसोदिया ने रिपोर्ट को फर्जी बताया

Delhi: घर-घर राशन योजना पर निकला गुस्सा कहा- प्रधानमंत्री एकदम झगड़ालू व्यक्ति हैं, इनके पास लिस्ट होती है कि आज किस से झगड़ा करना है..

नई दिल्ली | घर-घर राशन ( Delhi Ration Scheme Kejriwal ) पर केंद्र सरकार और दिल्ली की सरकार आपस में एक बार फिर से उलझती हुई दिखाई थी. इसकी शुरुआत दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक ट्वीट कर की. सीएम केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार उन्हें घर-घर राशन योजना को शुरू करने नहीं दे रही है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार का हर वक्त झगड़ा करने का मन होता है. उन्होंने केंद्र सरकार पर कल्याणकारी योजनाओं को रोकने का भी आरोप लगाया. सीएम केजरीवाल के ट्वीट के बाद दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने तो सारी हदें पार कर दी. मनीष सिसोदिया ने पीएम मोदी को अब तक का सबसे झगड़ालू प्रधानमंत्री बता दिया. केंद्र की चिट्ठी आयी है। बेहद पीड़ा हुई। इस क़िस्म के कारण देकर हर घर राशन योजना ख़ारिज कर दी- राशन गाड़ी ट्रैफ़िक में फँस गयी या ख़राब हो गयी तो तीसरी मंज़िल तक राशन कैसे जाएगा (21वीं सदी का भारत चाँद पर पहुँच गया, आप तीसरी मंज़िल पर अटक गए) संकरी गली में कैसे जाएगा https://t.co/SiJKbBDbtU — Arvind Kejriwal (@ArvindKejriwal) June 23, 2021 केंद्र सरकार ने खारिज की घर घर राशन योजना सीएम केजरीवाल ने ट्वीट कर… Continue reading Delhi: घर-घर राशन योजना पर निकला गुस्सा कहा- प्रधानमंत्री एकदम झगड़ालू व्यक्ति हैं, इनके पास लिस्ट होती है कि आज किस से झगड़ा करना है..

Delhi सरकार के निशाने पर Modi सरकार, मनीष सिसोदिया ने जमकर बोला हमला, कहा- SC की फटकार पर ही काम करता है केन्द्र

नई दिल्ली | दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार के बीच पूरे कोरोना काल में जारी रही सियासी तकरार अभी भी जारी है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने आज फिर से केंद्र सरकार पर जमकर प्रहार किया है। डिप्टी सीएम सिसोदिया ने भारतीय ‘जनता’ पार्टी को भारतीय ‘झगड़ा’ पार्टी बताया है। गौरतलब है कि केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार के बीच कोरोना काल में पहले ऑक्सीजन, फिर वैक्सीनेशन और अब घर-घर राशन पहुंचाने की योजना पर केंद्र सरकार की रोक के बाद घमासान और तेज हो गया है। ये भी पढ़ें:- G7 Summit के पहले ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का बड़ा एलान कहा- अगले साल तक दान करेंगे 10 करोड़ टीके… मनीष सिसोदिया ने दिल्ली सरकार की घर-घर राशन योजना पर केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि, भाजपा ‘भारतीय झगड़ा पार्टी’ बन कर रही गई है। केंद्र सरकार के पास अब कुछ राज्य सरकारों को भला-बुरा कहने के अलावा कोई काम नहीं बचा है। केंद्र बस तभी काम करता है जब उच्चतम न्यायालय उसे फटकार लगाता है। ये भी पढ़ें:- प्रशांत किशोर की लंबी उड़ान: शरद पवार के बाद शाहरूख खान से करेंगे मुलाकात, PK पर बायोपिक बनाना चाहते हैं किंग खान… डिप्टी सीएम सिसोदिया ने… Continue reading Delhi सरकार के निशाने पर Modi सरकार, मनीष सिसोदिया ने जमकर बोला हमला, कहा- SC की फटकार पर ही काम करता है केन्द्र

Delhi में रद्द हुए 9वीं और 11वीं के Exam, 22 जून को जारी होंगे परिणाम, डिप्टी सीएम ने किया ऐलान

नई दिल्ली| कोरोना संकट के कारण दिल्ली में अब 9वीं कक्षा और 11वीं कक्षा की परीक्षाएं भी रद्द कर दी गई है। ये परीक्षाएं 12 अप्रेल को स्थगित की गई थीं, वे अब रद्द कर दी गई हैं. दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने प्रेस कांफ्रेंस कर जानकारी देते हुए कहा कि, दिल्ली में Corona Pandemic के कारण 12 अप्रेल को जो परीक्षाएं रोकी गई थीं, वे अब रद्द कर दी गई हैं। उन्होंने कहा कि 9वीं और 11वीं के रिजल्ट को लेकर भी निर्णय लिए गए। इससे पहले प्रधानमंत्री ने सीबीएसई बोर्ड (CBSE) की 12वीं की परीक्षा रद्द की थी जबकि सीबीएसई बोर्ड की 10वीं की परीक्षा पहले ही रद्द कर दी गई थी। ये भी पढ़ें:- Good News: अब रसोई गैस भरवाने के समय आप कर सकेंगे वितरक का चुनाव, मंत्रालय ने की घोषणा जो स्कूल परीक्षाएं करा चुके हैं वे उसी आधार पर करेंगे रिजल्ट घोषित इसी के साथ उन्होंने बताया कि जो प्राइवेट स्कूल मिड टर्म और वार्षिक परीक्षाएं करा चुके हैं, वे उसी आधार पर अपने छात्रों का रिजल्ट घोषित कर सकते हैं। साथ ही जिन सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में मिड टर्म एग्जाम हो चुके थे, उसी के आधार पर 9वीं और 11वीं… Continue reading Delhi में रद्द हुए 9वीं और 11वीं के Exam, 22 जून को जारी होंगे परिणाम, डिप्टी सीएम ने किया ऐलान

घर-घर क्यों न पहुँचे अनाज

केंद्र सरकार और दिल्ली की सरकार के बीच आजकल अजीब-सा विवाद चला हुआ है। दिल्ली की केजरीवाल-सरकार दिल्ली के लगभग 72 लाख लोगों को अनाज उनके घरों पर पहुंचाना चाहती है लेकिन मोदी सरकार ने उस पर रोक लगा दी है। इन गरीबी की रेखा के नीचेवाले लोगों को ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना’ के तहत राशन की दुकानों से बहुत कम दामों पर अनाज पहले से मिल रहा है।इसके बावजूद दिल्ली सरकार ने राशन का यह सस्ता अनाज लोगों के घर-घर पहुंचाने की योजना इसलिए बनाई है कि एक तो राशन की दुकानों पर लगनेवाली भीड़ से महामारी का खतरा बढ़ जाता है। दूसरा, बुजुर्ग गरीब लोगों को उन दुकानों तक पहुंचने और कतार में खड़े रहने में काफी दिक्कत महसूस होती है और तीसरा, इन दुकानों का बहुत-सा माल चोरी-छिपे मोटे दामों पर खुले बाजारों में बिकता रहता है। यह भी पढ़ें: काबुल में पाक-चीन पसोपेश इस सस्ते अनाज पर देश में ‘राशन माफिया’ की एक फौज पलती जा रही है। इसीलिए दिल्ली सरकार ने अनाज घर-घर पहुंचाने की योजना बनाई है। इस योजना को पिछले साल से लागू करने पर वह आमादा है। पांच बार उसने केंद्र से इसकी अनुमति मांगी है लेकिन केंद्र सरकार इस पर कोई… Continue reading घर-घर क्यों न पहुँचे अनाज

राशन माफिया मददगार केंद्र, केजरीवाल ने मोदी सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घर घर राशन पहुंचाने की योजना रोके जाने का आरोप लगाते हुए केंद्र सरकार पर तीखा हमला किया है। रविवार को उन्होंने एक वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस करके केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। केजरीवाल ने कहा आरोप लगाया कि केंद्र सरकार घर-घर राशन पहुंचाने की योजना पर रोक लगा कर दिल्ली में राशन माफिया की मदद करना चाह रही है। केजरीवाल ने कहा- जब पिज्जा-बर्गर की और स्मार्ट फोन की घर-घर डिलीवरी हो रही है तो राशन की डिलीवरी क्यों नहीं हो सकती है। मुख्यमंत्री ने सवालिया लहजे में कहा- अगर आप राशन माफिया के साथ खड़े होंगे, तो गरीबों का साथ कौन देगा? उन्होंने कहा- दिल्ली में अगले हफ्ते से घर-घर राशन पहुंचाने का काम शुरू होने वाला था। सारी तैयारियां हो चुकी थीं, लेकिन आपने अचानक इसे क्यों रोक दिया? प्रधानमंत्री से अपील करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा- पीएम सर, इस स्कीम के लिए राज्य सरकार सक्षम है और हम केंद्र से कोई विवाद नहीं चाहते। हमें गरीबों के लिए काम करने दीजिए। हमने इसका नाम मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना रखा था। आपने तब कहा कि योजना में मुख्यमंत्री नाम नहीं आ सकता। हमने आपकी बात मानकर… Continue reading राशन माफिया मददगार केंद्र, केजरीवाल ने मोदी सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

Delhi में अब 5 जून से बिना राशन कार्ड वालों को भी मिलेगा राशन, उप मुख्यमंत्री Manish Sisodia ने दी जानकारी

नई दिल्ली। कोरोना महामारी में दिल्ली की केजरीवाल सरकार (Kejriwal Govt) लोगों को ज्यादा से ज्यादा सहूलियत देने के लिए तरह-तरह के कदम उठा रही है. जिससे किसी भी नागरिक को कोई परेशानी न उठानी पड़ें. दिल्ली सरकार बच्चों के स्वास्थ्य की चिंता करते हुए सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाओं को रद्द करवाने की मांग या फिर शराब के शौकीनों को घर बैठे होम डिलीवरी के जरिए शराब पहुंचाने जैसे कामों में निरन्तर प्रयासरत है ताकि लोगों को इस दौरान कोई तकलीफ न हो. ऐसे में अब दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने लोगों को राहत पहुंचाने के लिए स्कूलों में अनाज देने का एक और बड़ा फैसला लिया है. ये भी पढ़ें:- Bihar: नीतीश सरकार देगी बालिकाओं को मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों में 33 प्रतिशत आरक्षण जिसके अनुसार, अब स्कूलों में भी राशन (Ration) दिया जाएगा, जिन लोगों के पास राशन कार्ड (Ration Card) नहीं है उनको भी राशन मिल सकेगा. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने इसकी जानकारी देते हुए एक ट्वीट किया है. दिल्ली में जिन लोगों के पास राशनकार्ड नहीं हैं उन्हें भी राशन देने के लिए 5 जून से स्कूलों में राशन मिलने लगेगा. आज से स्कूलों में राशन पहुँचना शुरू हो गया है.दिल्ली में किसी… Continue reading Delhi में अब 5 जून से बिना राशन कार्ड वालों को भी मिलेगा राशन, उप मुख्यमंत्री Manish Sisodia ने दी जानकारी

निजी अस्पतालों को मिल रही है वैक्सीन

नई दिल्ली। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने वैक्सीन को लेकर बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि राज्यों को वैक्सीन नहीं मिल रही है, जबकि निजी अस्पतालों को बड़ी संख्या में वैक्सीन उपलब्ध हो रही है। उन्होंने बताया कि निजी अस्पताल एक हजार से ज्यादा रुपए में एक डोज लगा रहे हैं। सिसोदिया ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि निजी अस्पतालों की क्या सेटिंग है, जो उनको इतनी मात्रा में वैक्सीन मिल रही है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वैक्सीन की किल्लत की जानकारी देते हुए सिसोदिया ने शनिवार को कहा कि दिल्ली में 18 से 44 वालों के लिए वैक्सीन 10 जून से पहले उपलब्ध नहीं होगी। उन्होंने कहा- 18 से 44 साल के लोगों को अभी और इंतज़ार करना होगा। सिसोदिया ने कोरोनारोधी टीकों की वितरण व्यवस्था पर केंद्र के ऊपर अड़ियल रुख अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि केवल कुछ निजी अस्पतालों में युवाओं को वैक्सीन लग रही है। उन्होंने कहा- सरकारी केंद्रों में वैक्सीन मुफ्त लगती है जबकि निजी अस्पतालों में एक हजार से 12 सौ रुपए प्रति डोज कीमत चुकानी होती है। मनीष सिसोदिया ने बताया जून महीने में दिल्ली को साढ़े पांच लाख वैक्सीन डोज मिलने का अनुमान… Continue reading निजी अस्पतालों को मिल रही है वैक्सीन

पोस्टरबाजों की हास्यास्पद गिरफ्तारी

कोरोना महामारी के इस दौर में हमारी अदालतें, सरकार और पुलिस कई ऐसे काम कर रही हैं, जो उन्हें नहीं करने चाहिए और कई ऐसे काम बिल्कुल नहीं कर रही हैं, जो उन्हें एकदम करने चाहिए। जैसे वह ऑक्सीजन, इंजेक्शन और दवाइयों के कालाबाजारियों को फांसी पर लटकाने की बजाय उन्हें पुलिस थानों और जेल में बिठाकर मुफ्त का खाना खिला रही है और जो लोग मुफ्त में दवाइयाँ बांट रहे हैं, मरीज़ों को पलंग दिलवा रहे हैं, अपनी एंबूलेंस में अस्पताल पहुंचा रहे हैं, उन पर मुकदमे चला रही है। यह भी पढ़ें: काबुलः पाक आगे, भारत पीछे चले उनके खिलाफ कार्रवाई इसलिए हो रही है कि वे विरोधी दलों के हैं। यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास के खिलाफ इसीलिए जांच बिठा दी गई थी। जांच में मालूम पड़ा कि वे और उनका संगठन शुद्ध परोपकार और जन-सेवा में लगे हुए थे। अदालतों में बैठे न्यायाधीश आजकल ऐसे-ऐसे फैसले दे रहे हैं और इतनी आपत्तिजनक टिप्पणियां कर रहे हैं, जो निश्चित रुप से संविधान की मर्यादा के अनुकूल नहीं हैं लेकिन उनमें इतना दम नहीं है कि इस वक्त के कालाबाजारी हत्यारों को वे फांसी पर लटकवाएं ताकि ठगी करनेवाले इन हजारों हत्यारों की हड्डियों में कंपकंपी दौड़ जाए।… Continue reading पोस्टरबाजों की हास्यास्पद गिरफ्तारी

आप के बड़े नेता क्यों नहीं पकड़े जा रहे?

दिल्ली में छिड़े पोस्टर विवाद में दिल्ली पुलिस ने 25 लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए सारे लोग छोटे-छोटे दिहाड़ी मजदूर हैं। प्रिंटिंग प्रेस के लोग या ऑटो चलाने वाले या पोस्टर चिपकाने वालों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सबको पता है कि पोस्टर का आइडिया या कंटेंट बनाने में उनकी कोई भूमिका नहीं है। दिल्ली पुलिस ने कह भी दिया है कि आम आदमी पार्टी ने पोस्टर लगवाए हैं। सवाल है कि जब पुलिस को पता है कि आम आदमी पार्टी ने पोस्टर लगवाए हैं तो पार्टी के बड़े नेताओं को क्यों नहीं पकड़ा जा रहा है? क्यों नहीं दिल्ली पुलिस मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया या पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह से पूछताछ कर रही है? असल में पोस्टर लगाने के खिलाफ एफआईआर करके और कुछ लोगों को गिरफ्तार करके दिल्ली पुलिस इस मामले में फंस गई है। यह मामला सोशल मीडिया में इतना उछल गया कि विपक्षी पार्टियों का हर नेता पोस्टर शेयर करके खुद को गिरफ्तार करने की मांग कर रहा है। ऐसे में अगर पुलिस आप के किसी बड़े नेता पर हाथ डालती है तो यह विवाद और बढ़ेगा। असल में पोस्टर पर सिर्फ यह लिखा हुआ है… Continue reading आप के बड़े नेता क्यों नहीं पकड़े जा रहे?

और लोड करें