WHO ने कहा- Covaxin पर को मंजूरी देने में और लग सकता है समय, सही सलाह देनी जरूरी…

WHO ने कहा कि इस तरह के फैसले लेने के लिए सही मूल्यांकन करने और इसकी सिफारिश करने की प्रक्रिया में अधिक समय लग सकता है….

चीन ने छिपाए रखा था कोरोना

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस फैलाने को लेकर आरोपों से घिरे चीन को लेकर एक और बड़ा खुलासा हुआ है। एक नई जांच से पता चला है कि चीन ने एक महीने से ज्यादा समय तक कोरोना का मामला दुनिया से छिपाए रखा था।

Corona : चीन में कोरोना की बीमारी आने के पहले ही बढ़ गयी थी टेस्टिंग किट की बिक्री

चीन में कोरोना के मामले सामने आने के बाद से वहां महीनों पहले इस महामारी की जांच के लिए इस्तेमाल में लाया जाने वाला पीसीआर किट की खरीदारी शुरू हो गई थी….

भारत में गिरा नए संक्रमितों का आंकड़ा, 24 घंटे में 18 हजार नए केस, 263 मरीजों की मौत

देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 18 हजार 346 नए मामले सामने दर्ज किए गए हैं जबकि, 263 मरीजों की मौत होना सामने आया है। इसी दौरान देशभर में 29 हजार 639 लोग ठीक हुए हैं।

185 देशों में डेल्टा वैरिएंट का कहर !

डब्लुएचओ ने कहा कि अब 90 फीसदी मामले डेल्टा वैरिएंट के जबकि अल्फा, बीटा और गामा के एक फीसदी से भी कम।

भारत बायोटेक के कोवैक्सिन के लिए WHO आपातकालीन उपयोग के लिए 5 अक्टूबर तक देरी की संभावना

एक श्रृंखला में कहा कि कोवैक्सिन क्लिनिकल परीक्षण पूरी तरह से संकलित और जून 2021 में उपलब्ध था।भारत बायोटेक ने ट्वीट किया कि #COVAXIN नैदानिक ​​​​परीक्षण डेटा पूरी तरह से संकलित और जून 2021 में उपलब्ध

कोवैक्सीन को जल्द डब्लुएचओ मंजूरी?

कोरोना वायरस की भारत की स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सीन को इसी हफ्ते विश्व स्वास्थ्य संगठन, डब्लुएचओ की मंजूरी मिल सकती है।

देश में Covid 19 Vaccination का आंकड़ा 75 करोड़ पार, WHO ने भारत को दी बधाई

देश जिस गति से वैक्सीनेशन का अभियान आगे बढ़ रहा है उसे देखते हुए कहा जा सकता है कि महीने भर में देश के 100 करोड़ लोगों को वैक्सीन की कम से कम एक डोज तो लग ही जाएगी.

2 साल के बच्चे को भी दिया कोरोना का टीका, ऐसा करने वाला बन गया पहला देश …

कोरोना काल में सबसे ज्यादा परेशानी छोटे बच्चों को लेकर हो रही है. अबतक WHO की ओर से किसी भी देश में कोरोना के टीके के लिए मान्यता नहीं दे गई है…

राज्य स्कूल खोलने की फिर से तैयारी कर रहे है इस पर WHO के शीर्ष वैज्ञानिक ने किया सावधान

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने बच्चों के मानसिक, शारीरिक और संज्ञानात्मक भलाई पर लंबे समय तक प्रभाव से बचने के लिए कुछ दिशानिर्देश जारी किए।

कोरोना के बाद चमगादड़ से फैलने वाले नए वायरस Marburg की एंट्री, मसूड़ों और vegina से बहता है खून

मारबर्ग वायरस (Marburg Virus) को इबोला (Ebola virus) और कोरोना (Corona) से भी अधिक खतरनाक माना जा रहा है। यह जानवरों से इंसानों में फैल सकता है। इस वायरस से दो अगस्त को दक्षिणी गुएकेडौ प्रांत में एक व्यक्ति की मृत्यु हो गई थी जिसके बाद से लोग डरे हुए हैं।

Good News : मां के दूध में नहीं मिला कोरोना का टीका, WHO ने की स्तनपान कराने वाली महिलाओं के टीकाकरण की सिफारिश

नई दिल्ली | Good thing revealed in research : देश में कोरोना की टीकाकरण शुरू होने से लगातार विवाद होता रहा है. इन सब विवादों में सबसे बड़ा विवाद ये था कि क्या गर्भवती महिलाओं को कोरोना का टीका लेना चाहिए. इसके साथ ही इस बारे में लोगों में असमंजस की स्थिति थी कि स्तनपान करने वाली महिलाओं को वैक्सीन दी जा सकती है या नहीं. अब अमेरिका में छोटे स्तर पर किए गए एक अध्ययन में कहा गया है कि मां के दूध में कोविड-19 टीकों के अंश नहीं मिले. इससे संकेत मिलता है कि एमआरएनए आधारित टीके स्तनपान कराने वाली महिलाओं और उनके बच्चों के लिए सुरक्षित हैं. फाइजर और मॉडर्ना के कोविड-रोधी टीकों की खुराक ले चुकी महिलाओं पर यह अध्ययन किया गया. अध्ययन में कहा गया है कि स्तनपान कराने वाली महिलाओं के आंकड़ों का विश्लेषण किया गया और टीका लेने के बाद बच्चों को दूध पिलाना रोकने संबंधी चिंताओं को दूर किया गया. महिलाओं के टीकाकरण के सिफारिश Good thing revealed in research : अमेरिका में यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, सेन फ्रांसिस्को (यूएससीएफ) के शोधकर्ताओं ने फाइजर और मॉडर्ना के एमआरएनए आधारित टीके लेने के बाद सात महिलाओं के दूध का विश्लेषण किया और इसमें टीके… Continue reading Good News : मां के दूध में नहीं मिला कोरोना का टीका, WHO ने की स्तनपान कराने वाली महिलाओं के टीकाकरण की सिफारिश

CM Gehlot को सताई तीसरी लहर की चिंता, राजस्थान में मिले 33 नये कोरोना केस

चिकित्सा विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे के दौरान राजस्थान में 69 मरीज कोरोना संक्रमण से ठीक होकर घर गए हैं। जिसके बाद राज्य में अब 435 मरीजों का इलाज जारी है। एक और मरीज की मौत के बाद अब राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 8951 पहुंच गई है। इसी के साथ राज्य में अब तक मिले कुल कोरोना पाॅजिटिवों की संख्या 953393 हो गई है।

WHO ने की Rajasthan के Vaccination अभियान की सराहना, 24 घंटे में मिले 37 नए केस, दो मरीजों की मौत

जयपुर | राजस्थान में चल रहे कोरोना वैक्सीनेशन अभियान (Rajasthan Corona Vaccination Campaign) की विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने सराहना की है। डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार राजस्थान उन अग्रणी राज्यों में शामिल है जहां वैक्सीन की खुराक सबसे कम बर्बाद हुई है। वहीं दूसरी ओर राजस्थान में भले ही कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर अब नियंत्रण में आ गई हो, लेकिन अभी भी कोरोना वायरस का खतरा कम नहीं हुआ है। राज्य में पहले ही कोरोना वायरस का नया डेल्टा प्लस वैरिएंट मिल चुका है और अब कप्पा वैरिएंट के 11 नए मामलों ने हड़कंप मचा दिया है। साथ ही पाबंदियों में मिल रही लगातार छूट और जनता द्वारा कोरोना गाइडलाईन की धज्जियां उड़ाना तीसरी लहर को न्यौता देने का काम कर सकता है। इन सबके बीच राजस्थान में चार-पांच दिनों की राहत के बाद बुधवार को एक बार फिर कोरोना महामारी से 2 मरीजों की मौत हो गई। वहीं, राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान 37 नये पाॅजिटिव सामने आए हैं। राज्य में बुधवार को कोरोना वायरस उदयपुर में दो और मरीजों को लील गया। जिसके बाद राज्य में कोरोना संक्रमण से अब तक 8,947 लोगों की मौत हो चुकी है। ये भी पढ़ें:- Rajasthan में 350 सरकारी… Continue reading WHO ने की Rajasthan के Vaccination अभियान की सराहना, 24 घंटे में मिले 37 नए केस, दो मरीजों की मौत

WHO ने भी की राजस्थान के टीकाकरण अभियान की सराहना, सबसे कम वेस्टेज वाले राज्यों में हुआ शामिल-  डॉ. रघु शर्मा

जयपुर | WHO Praises Vaccination Campaign : वैक्सीनेशन शुरू होने के साथ ही भारत सरकार द्वारा आरोप लगाए गये थे राजस्थान में सबसे ज्यादा वैक्सीन की बर्बादी हो रही है. हालंकि राजस्थान सरकार ने इन आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था. अब राज्य की चिकित्सा व स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा है कि राज्य में जारी कोरोना बचाव टीकाकरण अभियान को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी सराहा है. उन्होंने कहा कि WHO की रिपोर्ट के अनुसार राज्य उन अग्रणी राज्यों में शामिल है जहां टीकों की खुराक सबसे कम बर्बाद (वेस्टेज) हुई है. शर्मा ने कहा कि चिकित्सा कर्मियों ने टीकों की प्रत्येक वॉयल में से 10 के अतिरिक्त उपलब्ध खुराक का उपयोग किया, जिससे राज्य में टीकों की आपूर्ति के अनुपात में 1.8 प्रतिशत अधिक टीकाकरण हो सका. राजस्थान में कप्पा वेरिएंट के कुल 11 मामले मिले हैं, ये वेरिएंट डेल्टा और डेल्टा प्लस जितना खतरनाक नहीं है। राजस्थान में कोरोना की स्थिति अब नियंत्रण में है: रघु शर्मा, राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री #COVID19 pic.twitter.com/beXAm5Qj1w — ANI_HindiNews (@AHindinews) July 14, 2021 राजस्थान को नहीं मिल रही है सुविधा WHO Praises Vaccination Campaign : स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि डब्ल्यूएचओ के अनुसार… Continue reading WHO ने भी की राजस्थान के टीकाकरण अभियान की सराहना, सबसे कम वेस्टेज वाले राज्यों में हुआ शामिल- डॉ. रघु शर्मा

और लोड करें