nayaindia Narendra Modi Mann Ki Baat hundredth edition मन की बात के सौवें संस्करण को यादगार बनाने के लिए मोदी ने मांगे सुझाव
ताजा पोस्ट

मन की बात के सौवें संस्करण को यादगार बनाने के लिए मोदी ने मांगे सुझाव

ByNI Desk,
Share

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात के सौवें संस्करण के लिए सुझाव मांगे हैं। श्री मोदी ने रविवार को आकाशवाणी पर अपने मासिक कार्यक्रम मन की बात (Mann Ki Baat) की 99 वें संस्करण में राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि हमारा और आपका ‘मन की बात’ का ये साथ, अपने निन्यानवें- (99वें) पायदान पर आ पहुँचा है। आम तौर पर कहा जाता है कि निन्यानवें (99वें) का फेर बहुत कठिन होता है। क्रिकेट में तो 99 को बहुत मुश्किल पड़ाव माना जाता है।

इसे भी पढ़ेः एक व्यक्ति के अंगदान से 8 से 9 लोगों को मिलता है नया जीवन: मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, जहां भारत के जन-जन के ‘मन की बात’ हो, वहाँ की प्रेरणा ही कुछ और होती है। मुझे इस बात की भी खुशी है कि ‘मन की बात’ के सौवें (100वें) संस्करण को लेकर देश के लोगों में बहुत उत्साह है। मुझे बहुत सारे सन्देश मिल रहे हैं, फोन आ रहे हैं। आज जब हम आज़ादी का अमृतकाल मना रहे हैं, नए संकल्पों के साथ आगे बढ़ रहे हैं, तो सौवें (100वें) (100th edition)‘मन की बात’ को लेकर, आपके सुझावों, और विचारों को जानने के लिए मैं भी बहुत उत्सुक हूँ।

इसे भी पढ़ेः गुजरात में 17 से 30 अप्रैल तक चलेगा सौराष्ट्र-तमिल संगमम: मोदी

मुझे, आपके ऐसे सुझावों का बेसब्री से इंतज़ार है। वैसे तो इंतज़ार हमेशा होता है लेकिन इस बार ज़रा इंतज़ार ज्यादा है। श्री मोदी ने कहा कि ये सुझाव और विचार ही 30 अप्रैल को होने वाले सौवें (100वें) ‘मन की बात’ को और यादगार बनाएँगे। (वार्ता)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें