nayaindia Supreme Court MCD Alderman Lieutenant Governor सुप्रीम कोर्ट का एमसीडी में ‘एल्डरमैन’ पर चिंता
ताजा पोस्ट

सुप्रीम कोर्ट का एमसीडी में ‘एल्डरमैन’ पर चिंता

ByNI Desk,
Share

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने बुधवार को कहा कि उपराज्यपाल को दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) में ‘एल्डरमैन’ नामित करने का अधिकार देने का मतलब है कि वह निर्वाचित नगर निकाय को अस्थिर कर सकते हैं।

प्रधान न्यायाधीश डी. वाई चंद्रचूड़, न्यायमूर्ति पी. एस. नरसिम्हा और न्यायमूर्ति जे. बी. पारदीवाला की पीठ ने दिल्ली नगर निगम (एमसीडी MCD) में ‘एल्डरमैन’ (Alderman) को नामित करने के उपराज्यपाल ((Lieutenant Governor)) के अधिकार को चुनौती देने वाली दिल्ली सरकार (Delhi Government) की याचिका पर फैसला सुरक्षित रखते हुए यह बात कही। पीठ ने कहा, क्या एमसीडी में 12 विशिष्ट लोगों का नामांकन केंद्र के लिए इतना चिंता का विषय है? दरअसल, उपराज्यपाल को यह अधिकार देने का मतलब होगा कि वह लोकतांत्रिक रूप से चुनी गई नगर समितियों को अस्थिर कर सकते हैं क्योंकि उनके (एल्डरमैन के) पास मतदान के अधिकार भी होंगे।

उच्चतम न्यायालय ने निर्वाचित सरकार की सहायता तथा परामर्श के बिना दिल्ली नगर निगम (Delhi Municipal Corporation) (एमसीडी) में 10 ‘एल्डरमैन’ को नामित करने के लिए उपराज्यपाल के संविधान तथा कानून के तहत ‘अधिकार के स्रोत’ के बारे में मंगलवार को सवाल किया था। शीर्ष अदालत उस याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें आम आदमी पार्टी (आप) ने एमसीडी में उपराज्यपाल द्वारा नामित ‘एल्डरमैन’ की नियुक्तियों को चुनौती दी है। (भाषा)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें