nayaindia building collapses Lucknow Yogi Adityanath लखनऊ में बहुमंजिला इमारत ढहने के मामले में जांच समिति गठित
बूढ़ा पहाड़
देश | उत्तर प्रदेश | ताजा पोस्ट| नया इंडिया| building collapses Lucknow Yogi Adityanath लखनऊ में बहुमंजिला इमारत ढहने के मामले में जांच समिति गठित

लखनऊ में बहुमंजिला इमारत ढहने के मामले में जांच समिति गठित

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के हजरतगंज इलाके में मंगलवार शाम एक बहुमंजिला इमारत ढहने (building collapses) के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के निर्देश पर बुधवार को मंडलायुक्त की अगुवाई में तीन सदस्यीय जाँच समिति गठित की गई।

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर तीन सदस्यीय जाँच समिति गठित की गई है। लखनऊ की मंडलायुक्त रोशन जैकब की अगुवाई वाली इस समिति में लखनऊ के संयुक्त पुलिस आयुक्त पीयूष मोर्डिया तथा लोक निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि यह समिति इस हादसे के लिए ज़िम्मेदार लोगों को चिन्हित कर एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट देगी।

पिछले करीब 15 घंटे से जारी बचाव अभियान के दौरान इमारत के मलबे से अब तक 14 लोगों को निकाला जा चुका है जबकि तीन अन्य के फंसे होने की आशंका है। प्रशासन ने इस मामले में अपार्टमेंट के बिल्डर और भवन मालिकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के आदेश दिए हैं।

इस बीच, प्रशासन ने अलाया अपार्टमेंट के बिल्डर और भवन मालिकों के खिलाफ कड़ा रुख अपनाया है। मंडलायुक्त रोशन जैकब ने बुधवार को लखनऊ विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देश दिया कि हजरतगंज की वजीर हसन रोड पर बनाए गए अलाया अपार्टमेंट के ढहने के मामले में उसके भवन मालिक मोहम्मद तारीफ, नवाजिश और शाहिद के साथ-साथ अपार्टमेंट के बिल्डर यजदान पर मुकदमा दर्ज कराया जाए।

मंडलायुक्त ने यह भी आदेश दिए हैं कि लखनऊ शहर में यजदान बिल्डर द्वारा बनवाई गई अन्य इमारतों का चिह्नांकन कर जांच की जाए और अवैध निर्माण या खराब गुणवत्ता वाले निर्माण की स्थिति में तत्काल ध्वस्तीकरण कराया जाए। लखनऊ के जिलाधिकारी सूर्यपाल गंगवार ने कहा कि मामले की जांच के बाद जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।

गंगवार ने बुधवार को संवाददाताओं को बताया कि मंगलवार शाम को ढहे ‘अलाया अपार्टमेंट’ के मलबे से अब तक 14 लोगों को निकाला जा चुका है। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। उनमें से 10 की हालत स्थिर मगर खतरे से बाहर है जबकि चार को अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है। उन्होंने बताया कि मलबे में अभी तीन और लोगों के दबे होने की आशंका है उनमें से एक की तरफ से प्रतिक्रिया मिल रही है जबकि बाकी दो लोग कहां दबे हैं, इसका पता लगाया जा रहा है। प्रदेश के उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक के मुताबिक, इस चार मंजिला इमारत में 12 फ्लैट थे जिनमें से नौ में लोग रह रहे थे। (भाषा)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − four =

बूढ़ा पहाड़
बूढ़ा पहाड़
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
राम जन्मभूमि को बम से उड़ाने की धमकी के बाद पुलिस अलर्ट, सामने आई ये बात
राम जन्मभूमि को बम से उड़ाने की धमकी के बाद पुलिस अलर्ट, सामने आई ये बात