nayaindia karnataka assembly election JDS
रियल पालिटिक्स

डीकेएस बनाम देवगौड़ा

ByNI Political,
Share

कर्नाटक में अगले कुछ दिन में विधानसभा चुनाव की घोषणा होने वाली है। उससे पहले कांग्रेस नेताओं का एक समूह एचडी देवगौड़ा परिवार की पार्टी जेडीएस के साथ तालमेल की कोशिश में लगी है। लेकिन कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार कांग्रेस को जेडीएस से दूर ले जाने की कोशिश कर रहे हैं। जेडीएस में भी कुछ ऐसी ही सोच है।

उधर भी देवगौड़ा परिवार अपना विकल्प खोल कर रखना चाह रहा है। उसके लग रहा है कि इस बार कांग्रेस की स्थिति बेहतर हुई तो फिर त्रिशंकु विधानससभा बनेगी, जिसमें वह कांग्रेस और भाजपा दोनों से मोलभाव कर सकती है। ध्यान रहे देवगौड़ा परिवार और शिवकुमार परिवार में पुराना झगड़ा है। दोनों वोक्कालिगा समुदाय से आते हैं और दोनों का क्लेम इस समुदाय के वोट पर है।

जेडीएस से तालमेल का विरोध करके शिवकुमार यह साबित करना चाहते हैं कि उनकी वजह से वोक्कालिगा कांग्रेस को वोट करेगा और इस लिहाज से मुख्यमंत्री के दावेदार होंगे। अपनी दावेदारी मजबूत करने के लिए वे देवगौड़ा परिवार से सीधी टक्कर करना चाहते हैं। उन्होंने कहा है कि वे अपने सांसद भाई डीके सुरेश को विधानसभा चुनाव लड़ाएंगे। शिवकुमार ने इसके लिए रामनगर विधानसभा सीट की पहचान की है, जहां से एचडी कुमारस्वामी के बेटे निखिल ने चुनाव जीता है।

सोचें, कर्नाटक में कांग्रेस का सिर्फ एक लोकसभा सांसद हैं और वो हैं डीके सुरेश। उनको एचडी देवगौड़ा के पोते के खिलाफ विधानसभा चुनाव लड़ाने की डीके शिवकुमार की तैयारी क्या इशारा करती है! यह वोक्कालिगा वोट कांग्रेस की ओर लाने का आक्रामक दांव है लेकिन इससे सिद्धरमैया समर्थक ओबीसी वोट बिदक भी सकता है, जो संख्या में ज्यादा है।

कर्नाटक में मुफ्त की रेवड़ियों का पिटारा
कर्नाटक में कांग्रेस चुनाव पूर्व घोषणाओं में सबको मात देती लग रही है। कांग्रेस ने मुफ्त की रेवड़ियों का पिटारा खोला है। उसकी घोषणाओं से आम आदमी पार्टी के नेता भी हैरान परेशान हैं। भाजपा तो बैकफुट पर है ही। चुनाव की घोषणा से पहले कांग्रेस नेता हर दूसरे या तीसरे दिन कोई नई घोषणा कर रहे हैं। इतना ही नहीं कांग्रेस ने ऐलान किया है कि वह गारंटी पत्र देगी। पार्टी की ओर से दस्तखत किया गया एक गारंटी पत्र सभी नागरिकों को दिया जाएगा, जिसमें लिखा होगा कि कांग्रेस अपना वादा पूरा करेगी। आम नागरिकों को यकीन दिलाने के लिए कांग्रेस गारंटी पत्र दे रही है।

कांग्रेस ने मुफ्त की रेवड़ियों की घोषणा में सबको पीछे छोड़ दिया है। पार्टी ने सभी वयस्क महिलाओं को दो हजार रुपया महीना देने का ऐलान किया है। सोचें, अरविंद केजरीवाल ने पंजाब में हर महिला को एक हजार रुपया देने का ऐलान किया था। उसके बाद मध्य प्रदेश में कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने हर महिला को डेढ़ हजार रुपया देने का ऐलान किया। अब कर्नाटक में कांग्रेस ने दो हजार रुपए का ऐलान किया है। इसके अलावा कांग्रेस अन्न भाग्य योजना के तहत हर गरीब परिवार को हर महीने 10 किलो अनाज देगी। ध्यान रहे पिछले तीन साल से केंद्र सरकार भी 10 किलो अनाज दे रही थी लेकिन अब वह पांच किलो ही अनाज दे रही है।

कांग्रेस ने चुनाव जीतने के बाद राज्य के लोगों को शिरडी और तिरूपति की मुफ्त यात्रा का भी ऐलान किया है। इसके अलावा दो सौ यूनिट फ्री बिजली देने का वादा भी किया गया है। कांग्रेस ने प्रेशर कुकर, बरतन और एलआईसी का प्रीमियम भरने तक का वादा किया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें