बूढ़ा पहाड़
अमरिंदर की राष्ट्रपति शासन की बेचैनी

कैप्टेन अमरिंदर सिंह जब से मुख्यमंत्री पद से हटे हैं और कांग्रेस पार्टी छोड़ी है तब से वे कई सौ बार राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग कर चुके हैं।

Punjab Political : सीएम केजरीवाल ने कहा- कांग्रेस से बड़ी ‘ड्रामेबाज’ पार्टी नहीं देखी…

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने पंजाब कांग्रेस और मुख्यमंत्री चरण सिंह पर जोरदार हमला किया….

Punjab Politics : Captain Amarinder ने कहा BJP और शिरोमणि अकाली दल के साथ लड़ेंगे चुनाव, हम तैयार हैं…

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि हम भाजपा और सुखदेव सिंह की पार्टी शिरोमणि अकाली दल के साथ गठबंधन करेंगे. उन्होंने कहा कि..

Punjab Politics : नकली केजरीवाल का जबाव देते हुए सीएम चन्नी ने कहा- ‘अफवाहबाज़’ लोगों को गुमराह कर रहे हैं…

पंजाब की सीएम चरणजीत सिंह ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को ‘अफवाहबाज़‘ करार दे देिया है. उन्होंने कहा कि पंजाब की सत्ता..

Rahul Gandhi के आगे माने Sidhu, वापस लिया इस्तीफा, बने रहेंगे कांग्रेस पंजाब इकाई के अध्यक्ष

सिद्धू अब कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष पद पर बने रहेंगे। राहुल गांधी से मुलाकात के बाद सिद्धू ने कहा कि, जो भी शिकायतें थी, वो मैंने राहुल गांधी के समक्ष पेश कर दी है।

Punjab की राजनीति में घमासान मचाने वाले Navjot Singh Sidhu पर आज बड़ा फैसला, आलाकमानों ने बुलाई बैठक

कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष पद से सिद्धू के इस्तीफे के बाद पैदा हुए विवाद को खत्म करने के लिए आज कांग्रेस आलाकमान सिद्धू के साथ बड़ी बैठक कर रहे हैं।

Punjab Poltics : ‘फ्री बिजली’ और अब ‘मुफ्त इलाज’, नए सीएम चन्नी को केजरीवाल की सलाह- नकल करना आसान लेकिन …

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल पंजाब में एक के बाद एक वादों की झड़ी लगा रहे हैं….

भगवंत मान का केजरीवाल पर दबाव

पंजाब से दूसरी बार लोकसभा सदस्य चुने गए भगवंत मान ने अपनी पार्टी के सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल पर दबाव बढ़ा दिया है। मान चाहते हैं कि केजरीवाल उनको मुख्यमंत्री पद का दावेदार घोषित करें।

केजरीवाल की पंजाब राजनीति

अरविंद केजरीवाल की राजनीति भले दिल्ली से बाहर ज्यादा सफल नहीं हुई है लेकिन वे प्रयास नहीं छोड़ते हैं।

सिद्धू के लिए आप में क्या जगह है?

navjotsingh sidhu arvind kejriwal : क्या आम आदमी पार्टी में नवजोत सिंह सिद्धू के लिए वह जगह है, जो वे चाहते हैं? क्रिकेटर से नेता बने कांग्रेस के विधायक नवजोत सिद्धू चाहते हैं कि आम आदमी पार्टी उनको मुख्यमंत्री पद का दावेदार घोषित करे। लेकिन आप की योजना में ऐसा कुछ नहीं है। जम्मू-कश्मीर : बकरीद में ‘गाय’ की कुर्बानी पर रोक लगाने के बाद धार्मिक संगठनों ने जताई आपत्ति आप ने यह जरूर कहा है कि उसकी सरकार बनी तो सिख मुख्यमंत्री बनेगा, लेकिन उसकी योजना में सिद्धू इसके दावेदार नहीं हैं। ध्यान रहे सिद्धू 2017 में भी चाहते थे कि अरविंद केजरीवाल उनको मुख्यमंत्री पद का दावेदार घोषित कर दें, लेकिन केजरीवाल ने इस पर ध्यान नहीं दिया था। Read also: लव जिहादः दुखद लेकिन रोचक केजरीवाल की पार्टी के नेताओं जैसे संजय सिंह, भगवंत मान आदि ने राज्यसभा से इस्तीफा देने के सिद्धू के फैसले की तारीफ की थी और यह भी कहा था कि अगर वे आप में आते हैं तो उनका स्वागत है लेकिन किसी ने उन्हें मुख्यमंत्री पद का दावेदार नहीं बताया था। Arvind Kejriwal का नया खेला! PM मोदी को चिट्ठी लिख सुंदरलाल बहुगुणा को भारत रत्न की मांग असल में केजरीवाल किसी… Continue reading सिद्धू के लिए आप में क्या जगह है?

सिद्धू को रोकने का अमरिंदर का नया दांव

Captain Navjot Sidhu : पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह और क्रिकेटर से नेता बने कांग्रेस विधायक नवजोत सिंह सिद्धू ( Captain Navjot Sidhu ) के बीच शह-मात का खेल चल रहा है। दोनों के बीच कई महीनों से ठनी है और कांग्रेस आलाकमान की पंचायत के बावजूद मामला नहीं सुलझ रहा है। कैप्टेन ने कह दिया कि जो आलाकमान कहेगा वे उसे मानने को तैयार हैं। लेकिन साथ ही सिद्धू को रोकने का नया दांव भी चल दिया। Corona: तीसरी लहर बेहद करीब, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की चेतावनी उन्होंने एक तरह से साफ कर दिया है कि सिद्धू को वे प्रदेश अध्यक्ष नहीं बनने देंगे। इसके लिए उन्होंने पार्टी नेताओं की एक बैठक में यह साफ कहा कि किसी हिंदू चेहरे को पार्टी का अध्यक्ष बनाया जाएगा। फिलहाल सुनील जाखड़ प्रदेश अध्यक्ष हैं। Rajasthan में Covid 19 से अबतक की सबसे बड़ी राहत, 24 घंटे में सिर्फ 33 केस, एक भी मौत नहीं यह बात तार्किक भी लगती है कि अगर जाट-सिख समुदाय के नेता कैप्टेन अमरिंदर सिंह मुख्यमंत्री हैं तो पार्टी किसी गैर सिख को प्रदेश अध्यक्ष बनाए। इस दांव से सिद्धू का पत्ता कट जाएगा। उन्हें या तो राज्य सरकार में मंत्री पद स्वीकार करना होगा या… Continue reading सिद्धू को रोकने का अमरिंदर का नया दांव

सिद्धू ने कैप्टेन के खिलाफ मोर्चा खोला

punjab politics siddhu attack : चंडीगढ़। दिल्ली में कांग्रेस के आला नेताओं राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात के दो दिन बाद कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह के खिलाफ मोर्चा खोला है। सिद्धू ने बिजली कटौती और इसकी कीमत को लेकर मुख्यमंत्री को कठघरे में खड़ा किया है और इसमें तत्काल सुधार के उपाय करने को कहा है। उन्होंने शुक्रवार को एक के बाद एक कई ट्विट करके कहा कि अगर मुख्यमंत्री सही दिशा में चलें तो बिजली कटौती की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। उड्डयन मंत्री सिंधिया ने पदभार ग्रहण करते ही दी 8 नई उड़ानों की सौगात, मंत्री बनते ही होने लगी बरनोल की राजनीति सिद्धू ने शुक्रवार को कुल नौ ट्विट किए। एक ट्विट में उन्होंने कहा- पंजाब की बिजली दरों, बिजली खरीदने का समझौता और पंजाब के लोगों को 24 घंटे फ्री बिजली दिए जाने का सच जानिए। अगर हम सही दिशा में कदम उठाएं तो मुख्यमंत्री को पंजाब में बिजली कटौती, दफ्तरों की टाइमिंग बदलने की और आम आदमी के एसी के इस्तेमाल को लेकर नियम बनाने की जरूरत नहीं है। सिद्धू ने आगे लिखा- पावर परचेज कॉस्ट, पंजाब एक यूनिट 4.54 रुपए में खरीद रहा… Continue reading सिद्धू ने कैप्टेन के खिलाफ मोर्चा खोला

राहुल और प्रियंका से मिले सिद्धू

navjot sidhu priyanka gandhi : नई दिल्ली। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह से नाराज चल रहे राज्य के विधायक और पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की आखिर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात हुई। एक दिन के इंतजार के बाद बुधवार को सिद्धू पहले प्रियंका से मिले और उसके बाद शाम को राहुल से उनकी मुलाकात हुई। इससे एक दिन पहले मंगलवार को राहुल ने इस बात से इनकार कर दिया था कि उनका कोई प्रोग्राम सिद्धू से मिलने का था। गौरतलब है कि कांग्रेस आलाकमान ने मुख्यमंत्री के दिल्ली दौरे पर उनसे मुलाकात नहीं की थी। बहरहाल, बताया जा रहा है कि सिद्धू ने अपनी शिकायत प्रियंका और राहुल को बताई। दिन में प्रियंका से मिलने के बाद सिद्धू ने ट्विट करके इसकी जानकारी दी। सिद्धू से मिलने के बाद प्रियंका अपनी मां और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने पहुंचीं। वे राहुल गांधी से भी मिलीं और माना जा रहा है कि उसके बाद ही राहुल ने सिद्धू से मिलने का फैसला किया। इन मेल मुलाकातों में क्या नतीजा निकला यह किसी को पता नहीं है। Rajasthan Covid 19 Update: 24 घंटे में सामने आए 100 नए Corona केस, सर्जरी के बाद भी फैल रहा… Continue reading राहुल और प्रियंका से मिले सिद्धू

राहुल ने कहा, नहीं मिलना था सिद्धू से

rahul gandhi navjot sidhu meeting : नई दिल्ली। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह और कांग्रेस सांसद नवजोत सिंह सिद्धू ( rahul gandhi navjot sidhu ) के बीच चल रहे विवाद में एक नया मोड़ आ गया है। सिद्धू की टीम ने कहा था कि सिद्धू मंगलवार को दिल्ली में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से मिलेंगे। लेकिन राहुल गांधी ने मंगलवार को बताया कि सिद्धू के साथ उनकी कोई बैठक तय नहीं है। माना जा रहा है कि सिद्धू की बयानबाजी से कांग्रेस के आला नेता नाराज हैं। भारत में जल्द आ रही है Covid 19 से मुकाबले को ‘Moderna’ Vaccine, अब छू मंतर होगा कोरोना बहरहाल, बताया जा रहा है कि क्रिकेटर से नेता बने सिद्धू ने मुलाकात के लिए राहुल गांधी ( rahul gandhi navjot sidhu ) से समय मांगा था। वे कैप्टेन अमरिंदर सिंह से विवाद के मसले पर राहुल से मुलाकात करके अपना पक्ष रखना चाहते थे। सिद्धू ने इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से इस मुद्दे के समाधान के लिए बनाई गई तीन सदस्‍यों की समिति से मुलाकात कर अपना पक्ष रखा था। हालांकि समिति उनके और कैप्टेन के विवाद का कोई समाधान नहीं निकाल सकी है। Bihar Panchayat Elaction… Continue reading राहुल ने कहा, नहीं मिलना था सिद्धू से

सिद्धू पर डोरे डाल रहे हैं केजरीवाल

Punjab Congress Politics AAP : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पंजाब में पहले हुई गलतियों से सबक सीख चुके हैं। उन्होंने पिछले चुनाव के समय बहुत सी चीजों का ध्यान नहीं रखा। उनको लग रहा था कि आम आदमी पार्टी सहज रूप से जीत रही है। इसलिए उन्होंने कई बड़े नेताओं का रास्ता काट दिया था। निर्दलीय चुनाव जीतने वाले सुखपाल खैरा और उनके भाई को केजरीवाल ने पार्टी से बाहर जाने दिया था। बहुत अच्छा अवसर होने के बावजूद उन्होंने क्रिकेटर से नेता बने नवजोत सिंह सिद्धू को पार्टी में नहीं लिया था। उन्होंने सिखों के बीच बेहद लोकप्रिय वकील एचएस फुल्का को भी किनारे कर दिया, जिसकी वजह से उन्होंने अक्टूबर 2018 में विधानसभा से ही इस्तीफा दे दिया। इन गलतियों का नतीजा यह हुआ है कि अनुकूल माहौल के बावजूद केजरीवाल की पार्टी चुनाव नहीं जीत सकी। यह भी पढ़ें: केरल में राहुल की तिकड़ी से नाराजगी इस बार केजरीवाल ऐसी कोई गलती नहीं करना चाहते हैं। उन्होंने पार्टी के सारे बड़े नेताओं को प्रचार में लगाया है और इस प्रयास में लगे हैं कि अगर कांग्रेस में सिद्धू की बात नहीं बनती है तो उनको पार्टी में लिया जाए। तभी अमृतसर में जब केजरीवाल से सिद्धू… Continue reading सिद्धू पर डोरे डाल रहे हैं केजरीवाल

और लोड करें