kishori-yojna
पत्नी के कहने पर महाकालेश्वर मंदिर में दान किए 17 लाख रुपए के गहने, मंदिर में 3 माह की अवधि में आए 23.03 करोेड़ …

मध्य प्रदेश के उज्जैन में स्थित विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर में अपनी पत्नी की अंतिम इच्छा के अनुसार 17 लाख रुपये मूल्य के सोने के..

अयोध्या : आतंकियों की नजर अयोध्या के राम मंदिर पर, मंगाई जाएगी स्पेशल स्कैनिंग मशीन…

खुफिया विभाग ने भारत सरकार को सूचित किया है कि आतंकियों की नजर अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर पर है. रिपोर्ट के अनुसार कहा गया है कि मंदिर निर्माण कार्य के दौरान ही…

गूगल मैप्स, आरओ वाटर, गंगा-व्यू कैफे के साथ गठजोड़: राम मंदिर की समय सीमा दूर, पीएम मोदी की प्रमुख वाराणसी परियोजना ..

मोदी ने मार्च 2018 में अपने संसदीय क्षेत्र में 400 करोड़ रुपये की परियोजना का शुभारंभ किया। जिसे भगवान शिव के प्राचीन काशी विश्वनाथ मंदिर के आसपास लंगर डाला जा रहा है।

राम मंदिर भूमि पूजन के एक साल पूरा होने पर कल होगा भव्य आयोजन, 2023 तक भक्तों के लिए खुल जाएगा मंदिर 

अयोध्या | 5 अगस्त भारतीय इतिहास और राम भक्तों के लिए काफी एतिहासिक दिन है। 5 अगस्त के दिन ही अयोध्या में श्री राम मंदिर (Ayodhya Ram Mandir) का भूमि पूजन हुआ था। प्रधानमंत्री नरेंद्र (Narendra Modi) मोदी ने रामजन्म भूमि पर पूजन (Ram Mandir Bhoomi Pujan) कर मंदिर की आधारशिला रखी थी। इस अवसर को एक साल होने के उपलक्ष्य में अयोध्या में विशेष कार्यक्रम होने जा रहे हैं। Ayodhya के विधायक वेद प्रकाश गुप्ता के अनुसार, 5 अगस्त को भगवान राम के भूमि पूजन के उपलक्ष में विशेष कार्यक्रम होंगे। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शामिल होंगे। कार्यक्रम में प्रमुख संत-महंत भी हिस्सा लेंगे। ये भी पढ़ें:- राज्यसभा में पेगासस मुद्दे पर जांच मांगी तो सभापति ने तृणमूल कांग्रेस के 6 सांसद निलंबित किए 2023 में राम भक्त कर सकेंगे रामलला के दर्शन ना जाने कितने सालों से लोगों को राम जन्मभूमि में भगवान श्रीराम को विराजमान होते देखने का सपना था जो अब जल्द पूरा होने जा रहा है। अयोध्या में श्रीराम मंदिर भक्तों के लिए दिसंबर 2023 तक खोल दिया जाएगा। सूत्रों के अनुसार, 2023 के अंत तक राम भक्त भगवान रामलला के मंदिर में… Continue reading राम मंदिर भूमि पूजन के एक साल पूरा होने पर कल होगा भव्य आयोजन, 2023 तक भक्तों के लिए खुल जाएगा मंदिर 

राजनीति के लिए “राम” की शरण!

उत्तरप्रदेश के विधानसभा चुनाव होने में आठ माह का समय शेष है। ऐसे में राजनीतिक दलों द्वारा अपनी तैयारियों को आरंभ करना स्वाभाविक है। इसी कड़ी में घोर जातिवादी राजनीतिक दल और दलित-उत्थान के नाम पर उपजी बहुजन समाज पार्टी (बसपा) डेढ़ दशक बाद फिर से उत्तरप्रदेश को ब्राह्मण समाज को साधने हेतु दांव चला है।

2023 में भक्त कर सकेंगे रामजन्मभूमि मंदिर में पूजन, संपूर्ण अयोध्या में होगा श्रीराम का दीदार

नई दिल्ली | Ayodhya Ram Mandir:  वर्षों अयोध्या में श्री रामजन्मभूमि (Ramjanmabhoomi) मंदिर में दर्शन और पूजा का इंतजार कर रहे भक्तों की मनोकामना जल्द ही पूरी होने वाली है। भगवान श्रीराम अपने भक्तों को जल्द ही श्री रामजन्मभूमि मंदिर में दर्शन देने वाले हैं। राम मंदिर ट्रस्ट की अयोध्या में हुई बैठक हुए निर्णय के मुताबिक, 2023 तक रामभक्तों के लिए नवनिर्मित मंदिर के द्वार खोल दिए जाएंगे और भक्तों को भगवान राम के दर्शन के साथ पूजा करने का सुअवसर प्राप्त होगा। ये भी पढ़ें:- Ayodhya Ram temple : नवंबर से दिखने लगेगा राम मंदिर का आकार, काम में आएगी और तेजी 2025 में पूरा बनकर तैयार हो जाएगा भव्य राम मंदिर 2023 से भक्तों के लिए दर्शन शुरू होने के साथ ही 2025 तक पूरा भव्य राम मंदिर (Ram Mandir) बनकर तैयार भी हो जाएगा। राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय के अनुसार, 2025 में राम मंदिर पूरी तरह तैयार हो जाएगा। संपूर्ण 70 एकड़ परिसर में किए जाने वाले सभी कार्य 2025 के खत्म होने से पहले ही पूरे कर लिए जाएंगे। ये भी पढ़ें:- Devshayani Ekadashi 2021 से भगवान विष्णु करेंगे आराम, शादी और धार्मिक कार्यों पर लगेगा विराम, जानें शुभ मुहूर्त पूरी अयोध्या नगरी… Continue reading 2023 में भक्त कर सकेंगे रामजन्मभूमि मंदिर में पूजन, संपूर्ण अयोध्या में होगा श्रीराम का दीदार

राम मंदिरः कांग्रेस चुप रहे तो बेहतर!

लग रहा है कि कांग्रेस पार्टी का जमीन से पूरी तरह से नाता टूट गया है और पार्टी के प्रवक्ताओं से लेकर शीर्ष नेता सब सोशल मीडिया में खबरें देख कर प्रतिक्रिया देने को आतुर रहते हैं। अगले साल उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं, जिसमें भाजपा का मुख्य मुद्दा अयोध्या का राम मंदिर है। इसलिए बेहतर होता कि राम मंदिर से जुड़े किसी भी मसले पर कांग्रेस या तो चुप रहती या सोच समझ कर बयान देती। लेकिन चूंकि सपा और आप के नेता बयान दे रहे थे और बयान सोशल मीडिया में ट्रेंड कर रहे थे इसलिए हम कहीं पीछे न छूट जाएं, इस सोच में प्रियंका गांधी वाड्रा से लेकर रणदीप सुरजेवाला तक ने जमीन खरीद में घोटाले का आरोप लगा दिया। यह भी पढ़ें: किसान इमरजेंसी का विरोध क्यों कर रहे हैं? असल में राम जन्मभूमि की जमीन खरीद को लेकर जिस घोटाले की बात कही जा रही है वह पहली नजर में कोई घोटाला नहीं लग रहा है। समाजवादी पार्टी और आम आदमी पार्टी के नेताओं ने सनसनी बनाने के लिए उसे यह ट्विस्ट दिया कि पांच मिनट में दो करोड़ की जमीन साढ़े 18 करोड़ की हो गई। असल में दो करोड़ की… Continue reading राम मंदिरः कांग्रेस चुप रहे तो बेहतर!

कांग्रेस ने अपना नुकसान किया

राम मंदिर निर्माण के लिए जमीन खरीदने में कथित घोटाले के मसले पर बयान देकर कांग्रेस ने अपना नुकसान किया है। कांग्रेस इस मामले में चुप रहती तो बेहतर होता क्योंकि इस पूरे मामले से उसका कोई लेना-देना नहीं है। यह समाजवादी पार्टी और भाजपा के बीच का मामला है। जमीन बेचने वाली पार्टी सपा नेताओं की करीबी है और खरीदने वाला ट्रस्ट भाजपा नेताओं के करीबियों का है। कांग्रेस इसमें कहीं नहीं है। कांग्रेस पहले भी इसमें कहीं नहीं थी। वह न तो मंदिर मामले में पक्षकार है और न उसके नेताओं ने मंदिर निर्माण के लिए बढ़-चढ़ कर चंदा दिया है। दिग्विजय सिंह और एकाध दूसरे नेताओं को छोड़ दें तो किसी कांग्रेस नेता ने मंदिर निर्माण में चंदा नहीं दिया है। लेकिन चंदे का हिसाब मांगने के लिए सब आगे आ गए। यह भी पढ़ें: राम मंदिरः कांग्रेस चुप रहे तो बेहतर! राम जन्मभूमि निर्माण क्षेत्र ट्रस्ट एक निजी ट्रस्ट है, जिसमें रामभक्तों ने चंदा दिया है उस चंदे से मंदिर के लिए जमीन खरीदी जानी है और निर्माण होना है। जिन लोगों ने चंदा दिया है वे चुप हैं और कांग्रेस के नेता हिसाब मांग रहे हैं! तभी उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने… Continue reading कांग्रेस ने अपना नुकसान किया

लड़ते हैं बाहर जाके ये शेख ओ बिरहमन . . .

ऐसे उदाहरणों की भरमार है जहां कृत्रिम बनाया हुआ हिंदू–मुसलमान का विभाजन जरा भी नहीं चला। हिंदू मृतक को श्मशान ले जाने के लिए परिवार वाले नहीं आए तो पड़ोसी मुसलमानों ने अपना कंधा दिया। हिंदू संस्कारों के हिसाब से मृतक का अंतिम संस्कार किया। उधर मुसलमान का अस्पताल में दम अटका था कि कोई उसके कान में कलमा सुना दे तो वह इत्मीनान से आंखें मूंद ले तो हिंदू डाक्टर ने उसके कान में कलमा पढ़ दिया। संघ भी काम संघ मुसलमानों के साथ मिलकर करता है, बस हिंदूओं को बेवकूफ बनाता है कि मुसलमानों ऐसे होते हैं, वैसे होते हैं! यह ज्ञान अयोध्या और फैजाबाद के हिंदू-मुसलमान दोस्तों और रिश्तेदारों से मिलने पर हुआ। राम मंदिर के जमीन खरीद घोटाले पर हुई बातों के दौरान एक दोस्त की टिप्पणी सबसे मजेदार थी की हिंदू मुसलमान के बिना मिले इस देश में कुछ नहीं हो सकता। न अच्छा काम न बुरा काम! सही बात है। एक गलत काम के जरिए सही संदेश। घोटाला हमारा राष्ट्रीय चरित्र है। मगर इसमें दो बातें खास हैं। एक राम मंदिर में भी घोटाला दूसरे मुसलमान के साथ मिलकर। मुसलमान के साथ मिलकर देश निर्माण का जो अच्छा काम चल रहा था उसे तो… Continue reading लड़ते हैं बाहर जाके ये शेख ओ बिरहमन . . .

Ram Mandir Bhumi Vivad : योगी दरबार में दस्तावेज के साथ हाजिर हुए अधिकारी, कागजात भी जांचे

अयोध्या | राम मंदिर जमीन की खरीद पर हुए विवाद पर अब यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ एक्शन मोड में आ गये हैं. योगी ने अयोध्या के निर्माणाधीन राम मंदिर की जमीन खरीद से जुड़े विवाद पर सियासत गर्म होने के बाद इस संबंध में  जिले के कई अधिकारियों को बुलावा भेजा. इसके साथ ही अधिकारियों से जमीन से संबंधित सभी कागजातों को लेकर आने को कहा. योगी आदित्यानाथ ने कहा कि जिस जमीन पर सारा विवाद शुरू हुआ है उसका सारा ब्यौरा लेकर उपस्थित हों. इस संबंध में अब योगी की सभा में सत्य और आरोपों की जांच शुरू की गई है. बता दें कि राम मंदिर के लिए जमीन की खरीदारी को लेकर कुछ दिनों से विपक्षी पार्टियों द्वारा भ्रष्टाचार के आरोप लगाए जा रहे हैं. सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार योगी आदित्यनाथ जानकारी से संतुष्ट हैं. चंपत राय ने भी दी सफाई,  कहा- आरोप गलत बता दें कि आप के सांसद सिंह द्वारा लगाए गये हैं कि श्रीरामजन्मभूमि ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय के जानकरी में ये घोटाले हुए हैं. अब योगी आदित्यनाथ के एक्शन में आने के बाद से चंपत राय ने भी सफाई दी है. राय ने कहा है कि जमीन की कीमत… Continue reading Ram Mandir Bhumi Vivad : योगी दरबार में दस्तावेज के साथ हाजिर हुए अधिकारी, कागजात भी जांचे

पूरा हुआ राम मंदिर का इंतजार, ट्रस्ट के महासचिव ने की घोषणा..तीन तरह के पत्थर बढ़ाएंगे राम मंदिर की भव्यता

आयोध्या : श्री राम जन्मभूमि आयोध्या में अब जल्द ही एक उत्सव की तैयारी होने वाली है। भक्तों को बेसब्री से इंतज़ार है आयोध्या में राम मंदिर बनने का। आखिरकार भक्तों का ये इंतजार खत्म होने वाला है। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव ने कहा कि 2024 तक मंदिर निर्माण का कार्य पूरा करने का लक्ष्य है। राम मंदिर का निर्माण कार्य बड़ें ही जोरो-शोरों से किया जा रहा है। आपकों बता दें कि राम मंदिर में नींव भराई का काम 5 अगस्त 2020 को हुआ था यह शुभ काम करने का अवसर प्रधानमंत्री मोदी को मिला था। राम मंदिर सबसे भव्य मंदिर होगा ऐसा मंदिर आयोध्या का सबसे भव्य मंदिर होगा। राम मंदिर में हर कोने को अलीशान बनाने के अथक प्रयास किए जा रहे है। राम मंदिर में तीन अलग-अलग पत्थरों का प्रयोग किया जा रहा है। राम मंदिर के लिए कोरोड़ों रूपये का दान आया है। पुरा देश इस भव्य मंदिर के बनने का इंतजार कर रहा है। also read: Puri Rath Yatra 2021: इस बार भी बिना भक्तों के नगर भ्रमण के लिए निकलेंगे भगवान जगन्नाथ मंदिर में छह लेयर का काम हुआ पूरा धर्मनगरी आयोध्या में राम मंदिर में नींव भराई का काम बड़ी… Continue reading पूरा हुआ राम मंदिर का इंतजार, ट्रस्ट के महासचिव ने की घोषणा..तीन तरह के पत्थर बढ़ाएंगे राम मंदिर की भव्यता

राम मंदिर निर्माण: रावण ने जहां माता सीता को रखा था बंदी, वहां से भी आएंगे राम मंदिर के लिए पत्थर

New Delhi: SC का फैसला आने के बाद से अयोध्या में राम मॆदिर बनने का काम जोर शोर से चल रहा है अब जानकारी मिली है कि श्रीलंका (SRI LANKA) स्थित सीता एलिया के पत्थर का अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण में इस्तेमाल में लिया जाएगा. इस खबर के बाहर आने के बाद से लोगों में और भी ज्यादा उत्साह भर गया है. इस संबंध में श्रीलंका में भारतीय उच्चायोग (INDIAN HIGH COMMISSION )  ने  ट्वीट कर बताया कि अयोध्या में राम मंदिर के लिए श्रीलंका स्थित सीता एलिया के पत्थर का इस्तेमाल किया जाएगा. इससे भारत और श्रीलंका के संबंधों की मजबूती का स्तम्भ बनेगा.भारत में श्रीलंका के उच्चायुक्त मिलिंदा मोरागोडा को उच्चायुक्त की मौजूदगी में म्यूरापति अम्मान मंदिर में यह पत्थर सौंपा गया. इसे भी पढ़ें- FIAF Award 2021 पाने वाले पहले भारतीय बने अमिताभ बच्चन,  2021 में आएंगी बैक टू बैक फिल्में सीता माता को यहीं रखा गया था बंदी मान्यता है कि सीता एलिया में माता सीता का मंदिर है . ऐसा माना जाता है कि इसी स्थान पर लंकापति रावण ने उन्हें बंदी बनाकर रखा था और यहीं माता सीता भगवान राम से प्रार्थना किया करती थीं कि वह उन्हें बचाकर ले जाएं. ऐसे में… Continue reading राम मंदिर निर्माण: रावण ने जहां माता सीता को रखा था बंदी, वहां से भी आएंगे राम मंदिर के लिए पत्थर

राम मंदिर और मुसलमान

अयोध्या के राम मंदिर और मस्जिद का मामला शांतिपूर्वक हल हो रहा है, यह भारत के हिंदुओं और मुसलमानों दोनों की उदारता और सहिष्णुता का प्रमाण है। इससे भी बड़ी बात यह है कि कुछ मुसलमान संस्थाएं और सज्जन राम मंदिर निर्माण में उत्साहपूर्वक सहयोग कर रहे हैं।

बिहार में 370 और मंदिर का मुद्दा!

भारतीय जनता पार्टी ने भले ऐलान किया है कि बिहार में नीतीश कुमार के चेहरे पर चुनाव लड़ा जाएगा और वे मुख्यमंत्री के दावेदार हैं पर असल में भाजपा के अपने उम्मीदवार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम, चेहरे और काम पर चुनाव लड़ेंगे।

अब क्या मथुरा-काशी की बारी है

अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के भूमिपूजन और शिलान्यास के बाद अचानक पूरे देश में मथुरा और काशी की चर्चा शुरू हो गई है।

और लोड करें