• मणिपुर में म्यांमार से साजिश का आरोप

    नई दिल्ली। मणिपुर में एक साल से ज्यादा समय से चल रही जातीय हिंसा के बीच राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी एनआईए ने दावा किया है कि मणिपुर को अशांत बनाए रखने का साजिश म्यांमार से रची जा रही है। एनआईए ने अपने एक आरोपपत्र में कहा है कि म्यांमार से मणिपुर को अस्थिर करने की कोशिशें हो रही हैं। केंद्र सरकार को इनपुट मिले थे कि सीमापार स्थित नगा विद्रोही गुट दो प्रतिबंधित मैती संगठनों की मदद कर रहा है। एनआईए ने असम की अदालत में आरोपपत्र पेश किया है। एनआईए ने आरोपपत्र में कहा है- हमने चीन, म्यामांर मॉड्यूल...

  • मणिपुर में दो जवान शहीद

    इम्फाल। मणिपुर की दो लोकसभा सीटों पर मतदान खत्म होने के बाद भी हिंसा का दौर जारी है। कुकी उग्रवादियों के हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल यानी सीआरपीएफ के दो जवान शहीद हो गए हैं। गौरतलब है कि मणिपुर में शुक्रवार को मतदान हुआ था और मतदान समाप्त होने के छह घंटे बाद आधी रात के करीब विष्णुपुर जिले में कुकी उग्रवादियों के हमले में सीआरपीएफ के दो जवान शहीद हो गए। घटना में दो जवान घायल भी हुए हैं। घायल जवानों का इलाज इम्फाल के रीजनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में चल रहा है। एक अन्य घटना में...

  • मणिपुर के 11 मतदान केंद्रों पर आज वोटिंग

    इम्फाल। चुनाव आयोग के निर्देश पर मणिपुर के हिंसा प्रभावित 11 मतदान केंद्रों पर सोमवार को वोट डाले जाएंगे। चुनाव आयोग ने इनर मणिपुर लोकसभा क्षेत्र के 11 मतदान केंद्रों पर 22 अप्रैल को फिर से वोटिंग का आदेश दिया है। गौरतलब है कि इन मततदान केंद्रों पर 19 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के पहले चरण की वोटिंग के दौरान हिंसा और तोड़फोड़ हुई थी। ईवीएम जलाए जाने की घटना भी हुई थी। हिंसा प्रभावित मणिपुर की इनर और आउटर मणिपुर सीट के लिए 19 अप्रैल को 72 फीसदी वोटिंग हुई थी। चुनाव के दौरान कई मतदान केंद्रों पर गोलीबारी,...

  • बंगाल, छत्तीसगढ़, मणिपुर में हिंसा

    नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के पहले चरण में पश्चिम बंगाल के कूचबिहार में हिंसा हुई। पश्चिम बंगाल के कूचबिहार में भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच पथराव हो गया। तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि कूचबिहार के तूफानगंज में भाजपा कार्यकर्ताओं ने पोलिंग बूथ पर हिंसा की। तृणमूल एजेंट्स से मारपीट की गई है, इसमें कई घायल हैं। ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता हथियारों के साथ बूथ के सामने खड़े होकर मतदाताओं को डरा रहे हैं। उधर जातीय हिंसा से प्रभावित मणिपुर के पूर्वी इम्फाल में उपद्रवियों ने ईवीएम तोड़...

  • मणिपुर में शांति बहाली प्राथमिकता: शाह

    इम्फाल। लोकसभा चुनाव के प्रचार के बीच सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह हिंसा प्रभावित मणिपुर के दौरे पर पहुंचे। उन्होंने राजधानी इम्फाल में कहा कि हिंसा प्रभावित मणिपुर में शांति स्थापित करना केंद्र सरकार की प्राथमिकता है। लोकसभा चुनाव में भाजपा गठबंधन के लिए वोट की अपील करते हुए शाह ने कहा कि लोकसभा चुनाव 2024 मणिपुर को तोड़ने वाली ताकतों और इसे एकजुट रखने वालों के बीच है। अमित शाह ने कहा- कांग्रेस का एजेंडा मणिपुर को बांटना है, लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि मणिपुर को बांटने की हिम्मत किसी में नहीं है। मणिपुर के बंटवारे...

  • मणिपुर में फिर हिंसा, दो की मौत

    इम्फाल। मणिपुर में लोकसभा चुनाव के बीच भी हिंसा थम नहीं रही है। करीब एक साल पहले शुरू हुई जातीय हिंसा शनिवार को एक बार फिर भड़क गई। इस हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई है। पूर्वी इम्फाल और कांगपोकपी जिले के बीच सटे मोइरंगपुरेल इलाके में दो हथियारबंद समूहों के बीच गोलीबारी हुई। बताया गया है कि इस गोलीबारी में जिन लोगों की मौत हुई है वे दोनों कुकी समुदाय से हैं। लोकसभा चुनाव 2024 के चलते राज्य में आदर्श आचार संहिता लागू है, लेकिन पिछले दो दिन से मणिपुर में अलग अलग इलाकों में गोलीबारी की...

  • मणिपुर पर मोदी का बड़ा दावा

    नई दिल्ली। पिछले करीब एक साल से जातीय हिंसा से जूझ रहे मणिपुर को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ा दावा किया है। उन्होंने कहा है कि उनकी सरकार ने समय से राज्य में हस्तक्षेप किया, जिससे वहां की स्थिति में काफी सुधार हुआ है। गौरतलब है कि विपक्षी पार्टियां मणिपुर के मामले में प्रधानमंत्री की चुप्पी को लेकर निशाना साधती रही हैं। विपक्ष का आरोप रहा है कि केंद्र सरकार ने मामले को ठीक से संभाला होता तो हिंसा इतनी नहीं भड़कती। मणिपुर की हिंसा में दो सौ से ज्यादा लोगों की मौत हुई है और 50 हजार से...

  • मणिपुर में सेना अधिकारी अगवा

    इम्फाल। जातीय हिंसा से ग्रस्त मणिपुर में सेना के एक अधिकारी को अगवा  कर लिया गया है। कोई एक साल पहले शुरू हुई हिंसा के बाद यह चौथा मामला है, जब सेना के अधिकारी या जवान को अगवा किया गया है। सैनिकों के अलावा पिछले दिनों राजधानी इम्फाल के एक अतिरिक्त पुलिस आयुक्त अधीक्षक यानी एएसपी को अगवा कर लिया गया था। पुलिसकर्मियों ने इसका बहुत तीव्र विरोध किया था। उन्होंने अपने हथियार सरेंडर कर दिए थे। बाद में इशारों  में कहा गया था कि ऐसे हालात रहे तो पूरे प्रदेश में सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून यानी अफ्सपा लगाने की...

  • मैती को एसटी में शामिल करने का आदेश रद्द

    इम्फाल। पिछले 10 महीने से मणिपुर में चल रही जातीय हिंसा का कारण बने आदेश को खुद मणिपुर हाई कोर्ट ने रद्द कर दिया है। मणिपुर हाई कोर्ट ने मैती समुदाय को अनुसूचित जनजाति यानी एसटी सूची में शामिल करने पर विचार करने के आदेश को रद्द कर दिया है।  जस्टिस गोलमेई गैफुलशिलु की बेंच ने पुराने आदेश के एक विवादित पैराग्राफ को हटाते हुए कहा कि यह सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक बेंच के रुख के खिलाफ था। गौरतलब है कि हाई कोर्ट के इस आदेश की वजह से ही राज्य में हिंसा शुरू हुई थी, जिसमें दो सौ के...

  • मणिपुर में ताजा हिंसा में दो की मौत

    इम्फाल। पिछले करीब 10 महीने से जातीय हिंसा से प्रभावित मणिपुर में एक बार फिर हिंसा का नया दौर शुरू हो गया है। पिछले एक हफ्ते से हिंसा की घटनाओं में बढ़ोतरी हो गई है। ताज हिंसा में पुलिस बलों की फायरिंग में दो लोगों की मौत हो गई है। उससे पहले एक उग्र भीड़ ने हिंसा से सबसे ज्यादा प्रभावित चुराचांदपुर जिले में गुरुवार को यानी 15 फरवरी की देर रात को एसपी और कलेक्टर ऑफिस पर हमला कर दिया था। तीन से चार सौ लोगों की भीड़ ने दफ्तर पर पथराव किया और साथ ही एक बस सहित...

  • थौबल में पुलिस मुख्यालय पर हमला

    इम्फाल। मणिपुर के थौबल में, जहां पांच दिन पहले राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा शुरू हुई थी, वहां उपद्रवियों ने पुलिस मुख्यालय पर हमला कर दिया। बुधवार की रात को हुए इस हमले में उपद्रवियों ने पुलिस के ऊपर फायरिंग की, जिसमें तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए। एक दिन पहले ही उपद्रवियों के हमले में दो पुलिसकर्मियों सहित तीन लोगों की मौत हो गई थी और तीन पुलिसकर्मी घायल हुए थे। बुधवार की रात को हुए हमले के बारे में पुलिस ने बताया कि भीड़ ने पहले पुलिस मुख्यालय में घुसने की कोशिश की थी। जब पुलिस ने...

  • मणिपुर में दो जवानों की मौत

    इम्फाल। मणिपुर में आठ महीने से ज्यादा समय से चल रही हिंसा अब और तेज हो गई है। म्यांमार की सीमा से सटे मोरेह इलाके में बुधवार की सुबह उग्रवादियों के हमले में सुरक्षा बलों के दो जवान मारे गए हैं। इसके अलावा एक कुकी महिला की भी मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि हमलावर कुकी समुदाय के थे, जो कुकी समुदाय के लोगों की गिरफ्तारी का विरोध कर रहे थे। राज्य में हालात इतने बिगड़ गए हैं कि राज्य सरकार ने हिंसा पर काबू पाने के लिए केंद्र सरकार से मदद मांगी है। मणिपर में मई...

  • राहुल की यात्रा अब थौबल से होगी

    इम्फाल/नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा की शुरुआत अब मणिपुर की राजधानी इम्फाल की बजाय थौबल से होगी। कांग्रेस ने शुक्रवार को बताया कि राजधानी इम्फाल से करीब 35 किलोमीटर दूर थौबल से राहुल गांधी की यात्रा शुरू होगी। कांग्रेस ने इस हिंसाग्रस्त राज्य की सरकार की ओर से लगाई गई शर्तों की वजह से ये बदलाव किया है। राज्य सरकार ने यात्रा में एक हजार लोगों के शामिल होने की ही अनुमति दी थी। कांग्रेस ने इन शर्तों की वजह से जगह में बदलाव किया है। मणिपुर के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कीशम मेघचंद्र ने...

  • मणिपुर में चार लोगों की हत्या

    इम्फाल। कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा शुरू होने से पहले मणिपुर में एक बार फिर हिंसा भड़क गई है। म्यांमार की सीमा पर मोरेह में गोलीबारी और सुरक्षा बलों पर हमले की घटनाओं के बाद अब एक ही गांव के चार लोगों की हत्या कर दिए जाने की खबर आई है। चारों लोग मैती समुदाय के हैं। बताया जा रहा है कि संदिग्ध उग्रवादियों ने चारों लोगों की हत्या की है। पुलिस ने तीन लोगों के शव बरामद होने की पुष्टि की है, जबकि चौथे व्यक्ति के बारे में बताया गया है कि वह अभी लापता है। गौरतलब है...

  • मणिपुर के मोरेह में फिर गोलीबारी

    इम्फाल। म्यांमार की सीमा से लगते मणिपुर के शहर मोरेह में एक बार फिर गोलीबारी हुई है। सोमवार की सुबह म्यांमार की सीमा से सटे मोरेह में पुलिस और विद्रोहियों के बीच गोलीबारी हुई। पुलिस की टीम मोरेह शहर से गुजर रही थी उसी समय विद्रोहियों ने पुलिस टीम को निशाना बनाया। घटना के बाद सीमा क्षेत्र की सुरक्षा चाकचौबंद करने के लिए मणिपुर पुलिस की अतिरिक्त टीमों को बॉर्डर इलाकों में भेजा गया है। मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने घटना के बाद कहा कि मोरेह में सुरक्षा बलों पर हमलों में म्यांमार के विद्रोहियों का हाथ है।...

  • मणिपुर में सुरक्षा बलों से मुठभेड़

    इम्फाल। मणिपुर में नए साल में शुरू हुई हिंसा का दौर दूसरे दिन भी जारी रहा। मंगलवार को राज्य में 12 घंटे के अंदर दूसरी बार सुरक्षा बलों और विद्रोहियों के बीच मुठभेड़ हुई। इस दौरान विद्रोहियों ने सुरक्षा बलों पर आरपीजी से हमला किया, जिसमें मणिपुर पुलिस के चार और बीएसएफ का एक जवान घायल हुआ है। उन्हें इलाज के लिए इम्फाल भेजा गया है। इससे पहले एक जनवरी को हुई हिंसा में चार लोगों की मौत हो गई थी। साल के पहले दिन हुई हिंसा के बाद राजधानी इम्फाल सहित पांच जिलों में कर्फ्यू लगाई गई है। इस...

  • मणिपुर में सुरक्षा बलों पर हमला, चार घायल

    इम्फाल। पिछले आठ महीने से जातीय हिंसा से जूझ रहे मणिपुर में एक बार फिर हिंसा की घटनाएं तेज हो गई हैं। हिंसा से प्रभावित टेंग्नोपौल के मोरेह में अज्ञात बंदूकधारियों ने सुरक्षा बलों की गाड़ी पर आईईडी से हमला कर दिया। इस हमले में चार सुरक्षाकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए। उनका इलाज पांच असम राइफल्स कैंप में चल रहा है। खबरों के मुताबिक, घटना टेंग्नौपाल के मोरेह में शनिवार दोपहर साढ़े तीन बजे हुए। हमलावरों ने पुलिस को उस समय निशाना बनाया, जब वे मोरेह से की लोकेशन प्वाइंट की ओर बढ़ रहे थे। गौरतलब है कि...

  • मणिपुर में 10 पार्टियों के नेता राज्यपाल से मिले

    इम्फाल। मणिपुर में छह महीने से ज्यादा समय से चल रही जातीय हिंसा के बीच शनिवार को राज्य की 10 पार्टियों के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल अनुसुइया उइके से मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री ओकरम इबोबी सिंह भी शामिल थे। पार्टियों ने राज्यपाल को एक ज्ञापन दिया। इसमें कहा गया है कि केंद्र सरकार, खासकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दखल दिए बिना राज्य में शांति कायम नहीं हो सकती। प्रतिनिधिमंडल में शामिल नेताओं ने यह भी कहा कि कुकी और मैती दोनों समुदायों के बीच जल्दी शांति वार्ता कराई जाए। इस बीच मणिपुर में कुकी समुदाय के...

  • मणिपुर में दो शव मिलने के बाद तनाव बढ़ा

    इम्फाल। मणिपुर की राजधानी इम्फाल में पुलिस ने बुधवार को दो शव बरामद किए, जिसके बाद कई इलाकों में तनाव बढ़ गया है। इस बीच प्रशासन ने इंटरनेट पर पाबंदी 13 नवंबर तक बढ़ा दी है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि राजधानी में मिले दो में से एक शव महिला का है। महिला का शव ताइरेनपोकपी इलाके के आसपास मिला। इससे पहले मंगलवार को इम्फाल पूर्वी जिले के ताखोक मापल माखा इलाके में एक पुरुष की का शव मिला, जिसकी उम्र लगभग 40 साल बताई जा रही है। पुलिस ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी। पुलिस के मुताबिक, मरने...

  • मणिपुर में चार लोग अगवा, फायरिंग में कई घायल

    इम्फाल। मणिपुर में जातीय हिंसा के छह महीने से ज्यादा हो गई लेकिन अभी तक शांति बहाली नहीं हो पाई है। राज्य में एक बार फिर कुकी और मैती समुदायों के बीच हिंसा भड़क गई है। बताया जा रहा है कि मैती समुदाय के दो लोगों को अगवा किए जाने की घटना के बाद बहुसंख्यक मैती समुदाय गुस्से में है और उन्होंने कुकी समुदाय के चार लोगों को अगवा कर लिया। इस दौरान दोनों तरफ से गोलीबारी भी हुई, जिसमें कई लोग घायल हो गए। खबरों के मुताबिक मणिपुर के कांगपोकपी जिले में कांग्चुप चिंगखोंग गांव के पास मंगलवार को...

और लोड करें