खाटू श्यामजी मंदिर श्रद्धालुओं के लिए बंद

श्री श्याम मंदिर समिति के अध्यक्ष शंभू सिंह ने बताया कि मंदिर को 13 नवंबर से अगले आदेश तक दर्शन हेतु पूरी तरह से बंद कर दिया गया है।

कार्तिक पूर्णिमा पर श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी, घाटों पर उमड़ा भक्तों का सैलाब

कार्तिक पूर्णिमा पर लाखों श्रद्धालुओं ने देशभर में गंगा मैया में डुबकी लगाई और पुण्य कमाया। हरिद्वारा, काशी समेत तमाम…

साल 2022 का दूसरा चंद्र ग्रहण कल, जानें सूतक और ग्रहण का समय

नई दिल्ली | Chandra Grahan 2022:  साल 2022 का आखिरी ग्रहण 8 नवंबर यानि कल लगने जा रहा है। ये ग्रहण चंद्र ग्रहण होगा और इस साल का दूसरा चंद्र ग्रहण होगा। भारत में चंद्र ग्रहण शाम के 5 बजकर 30 मिनट पर शुरू होकर 6 बजकर 18 मिनट पर समाप्त होगा। पूरे भारत में दिखाई देगा चंद्र ग्रहण ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यह चंद्र ग्रहण पूरे भारत में दिखाई देगा और कई पूर्वाेत्तर राज्यों में तो पूर्ण दिखाई देगा। ऐसे में चंद्र ग्रहण दिखाई देने के नौ घंटे पहले ही सूतक काल शुरू हो जाता है। जिसमें सभी धार्मिक कार्य वर्जित माने जाते हैं। चंद्र ग्रहण का समय भी अलग-अलग स्थानों के अनुसार, अलग-अलग होगा। ये भी पढ़ें:- राजस्थानः लापता बालिकाओं का पता लगाने के निर्देश चंद्र ग्रहण 2022 के सूतक और ग्रहण का समय दिल्ली: सूतक काल – सुबह 09.21 – शाम 06.18। चंद्र ग्रहण – शाम 05.32 – शाम 06.18 तक। कोलकाता: सूतक – सुबह 08.32 – शाम 06.18। चंद्र ग्रहण – शाम 04.56 – शाम 06.18 तक। मुंबई: सूतक – सुबह 08.45 – शाम 06.18। चंद्र ग्रहण – शाम 06.05 – शाम 06.18 तक। चेन्नई: सूतक – सुबह 08.59 – शाम 06.18 चंद्र ग्रहण – शाम 05.42… Continue reading साल 2022 का दूसरा चंद्र ग्रहण कल, जानें सूतक और ग्रहण का समय

काशी में आज धूमधाम से मनाई जाएगी देव दीपावली

वाराणसी (Varanasi) में सोमवार को ‘देव दीपावली’ (Dev Diwali) धूम-धाम से मनाई जाएगी। घाटों पर 10 लाख से अधिक दीये जलाए जाएगे और 80 लाख रुपये के फूलों की सजावट की जाएगी।

बैकुंठधाम और बैकुंठ चतुर्दशी

बैकुण्ठ धाम मन की अवस्था है। यह बैकुण्ठ कोई स्थान न होकर आध्यात्मिक अनुभूति का धरातल है। जिसे बैकुण्ठ धाम जाना हो, उसके लिए ज्ञान ही उम्मीद की एक किरण है।

8 नवंबर को भारत में दिखाई देगा पूर्ण चंद्रग्रहण

दो दिन बाद 8 नवंबर को पूर्ण चंद्रग्रहण (Total Lunar Eclipse) लगने वाला है। चंद्रोदय के समय ग्रहण भारत के सभी स्थानों पर दिखाई देगा।

श्रीविष्णु के जागरण का दिन देवउठनी एकादशी

पौराणिक मान्यतानुसार आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को देव शयन करते हैं, और कार्तिक शुक्ल पक्ष की एकादशी के दिन उठते हैं।

काशी विश्वनाथ में भक्तों की संख्या दोगुनी हुई

काशी विश्वनाथ धाम (Kashi Vishwanath Dham) के लोकार्पण के बाद से ही वाराणसी (Varanasi) में श्रद्धालुओं का पलट प्रवाह उमड़ रहा है।

इच्छा पूरक व अक्षय फलप्रदायक अक्षय नवमी

पंचांग के अनुसार वर्ष का नौंवा महिना कार्तिक बहुत शुभ है। यह मास स्नान- दान के लिए प्रसिद्ध है।

गौ संरक्षण का संकल्प लेने का दिन गोपाष्टमी

गौ का तात्पर्य गौ माता के साथ ही इंद्रियों और चंद्रमा भी से है। गोवर्धन का तात्पर्य गौ माता के गोबर से है। गौ माता का गोबर एवं मूत्र अत्यंत मूल्यवान होता है।

Chhath 2022: खरना पर बन रहा शुभ योग, आज पूजा से होगी सभी मनोकामना पूरी

खरना के दिन छठ व्रती निर्जला उपवास करते हैं। छठ व्रती और परिवारजन पूरी शुद्धता और पूरी आस्था के साथ गंगा घाटों पर जाते हैं।

नहाय-खाय से शुरू हुआ महापर्व छठ

परिवार की सुख-समृद्धि तथा कष्टों के निवारण के लिए किये जाने वाले इस व्रत की एक खासियत यह भी है कि इस पर्व को करने के लिए किसी पुरोहित(पंडित) की आवश्यकता नहीं होती है।

श्रीकेदारनाथ धाम के कपाट बंद

पुजारी टी गंगाधर लिंग ने भगवान केदारनाथ के स्वयंभू ज्योर्तिलिंग को श्रृंगार रूप से समाधि रूप दिया।

बिहार में भैयादूज और चित्रगुप्त पूजा की धूम

भाई-बहन के अटूट प्रेम और स्नेह के प्रतीक का पर्व ‘भैयादूज’ और कलम के आराध्य देव भगवान चित्रगु्प्त की पूजा बिहार में धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनायी जा रही है।

अयोध्या दीपोत्सव के बाद अब काशी में दिव्य देव-दीपावली की तैयारी

अयोध्या (Ayodhya) में अलौकिक दीपोत्सव मनाने के बाद अब योगी सरकार काशी में दिव्य और भव्य देव दीपावली की तैयारियों में जुट गई है।

और लोड करें