nayaindia Karnatak election देश तोड़ना चाहती है कांग्रेस- मोदी
ताजा पोस्ट

देश तोड़ना चाहती है कांग्रेस- मोदी

ByNI Desk,
Share

बेंगलुरू। कांग्रेस के आतंकवादी नेटवर्क से जुड़े होने के आरोपों के बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस देश तोड़ना चाहती है। उन्होंने सोनिया गांधी के एक भाषण का हवाला देते हुए कहा कि कांग्रेस खुल कर कर्नाटक को भारत से अलग करने की वकालत कर रही है। उन्होंने रविवार को बेंगलुरू में रोड शो किया और चार चुनावी रैलियों को संबोधित किया। कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए अपनी आखिरी रैली में उन्होंने ‘जहरीला सांप’ से तुलना करने वाले मल्लिकार्जुन खड़गे को निशाना बनाते हुए मोदी ने कहा कि उनको विष पीने की शक्ति हासिल है।

प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को कर्नाटक में अपना प्रचार समाप्त कर दिया। उन्होंने अपनी रैलियों के दौरान कांग्रेस पार्टी और नेहरू गांधी परिवार पर हमला बोला। हालांकि, उन्होंने अपने भाषण के दौरान कभी भी कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी का नाम नहीं लिया। मोदी ने रैली के दौरान कहा कि कांग्रेस तो कर्नाटक को देश से अलग मानती है, तभी तो कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने अपने भाषण में कहा कि वो कर्नाटक की संप्रभुता की रक्षा करना चाहते हैं।

इसके आगे मोदी ने कहा- क्या आपको पता है कि इसका मतलब क्या है? मैं आपको इसका मतलब बताता हूं। जब कोई देश आजाद होता है तो उसे संप्रभु कहा जाता है। यानी की कांग्रेस कर्नाटक को भारत से अलग मानती है। उन्होंने आगे कहा कि क्या आपको ये मंजूर है? ऐसा कहने वाली कांग्रेस को सजा दोगे या नहीं दोगे? प्रधानमंत्री ने कहा- कांग्रेस खुल कर कर्नाटक को भारत से अलग करने की वकालत कर रही है। टुकड़े टुकड़े गैंग की बीमारी कांग्रेस में इतने ऊपर तक पहुंच जाएगी, ये मैंने कभी सोचा नहीं था।

मोदी ने कहा- कांग्रेस के लोग ऐसे बयान देकर स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान देने वाले लाखों कन्नाडिगा का अपमान कर रही है। साथ ही करोड़ों कन्नाडिगा का अपमान भी कर रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रैली के दौरान कांग्रेस पार्टी पर तंज करते हुए दावा किया कि ये पार्टी अब डर गई है और कर्नाटक चुनाव अभियान में जब उनका झूठ अब काम नहीं आ रहा है तो उन्होंने अपने सबसे वरिष्ठ नेता नेता सोनिया गांधी को प्रचार में लाने का फैसला किया। गौरतलब है कि सोनिया गांधी ने शनिवार को हुबली में एक चुनावी सभा को संबोधित किया था। उन्होंने चार साल बाद चुनाव प्रचार में हिस्सा लिया था।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें