Naya India

ICMR की नई गाइडलाइन्स: चाय और कॉफी के सेवन के लिए जरूरी बातें

हेल्दी ईटिंग हैबिट्स को प्रमोट करने के लिए आईसीएमआर (ICMR) ने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रिशन के लिए कुछ गाइडलाइन्स जारी की हैं। जिसमे चाय और कॉफी का सेवन करने वाले लोगों के लिए भी बहुत सी जरूरी बातें शामिल की गई हैं। जो आपकी हेल्दी बॉडी के लिए बहुत जरुरी हैं। क्योंकि कैफीन का ज्यादा सेवन करने से कई हेल्थ रिस्क भी हो सकते हैं।

ICMR के शोधकर्ताओं का मानना हैं की चाय और कॉफी में कैफीन होता हैं। और यह एक ऐसा यौगिक हैं, जो आपकी केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को उत्तेजित करता हैं। और शारीरिक निर्भरता का कारण भी बन सकता हैं। लेकिन दिशानिर्देशों में यह भी कहा गया हैं की बिना दूध वाली चाय पीने से कुछ स्वास्थ्य लाभ भी मिलते हैं। जिनमे ब्लड सर्कुलेशन में सुधार, कोरोनरी धमनी रोग और पेट के कैंसर जैसी कई स्थितियों का कम जोखिम भी शामिल हैं। लेकिन यह लाभ तभी मिलेंगे जब इसका सेवन सही मात्रा में सही समय और सही तरह से करें।

चाय-कॉफी पिने का सही समय: मेडिकल बॉडी ICMR चाय-कॉफी भोजन से 1 घंटा पहले और 1 घंटा बाद पीने की सलाह देते हैं। इसका कारण इन पेय पदार्थों में टैनिन की मौजूदगी होती हैं। जो शरीर में आयरन के अवशोषण को रोक सकता हैं। और इससे संभावित रूप से आयरन की कमी और एनीमिया जैसी स्थितियां भी पैदा हो सकती हैं। साथ ही अत्यधिक कॉफी के सेवन से ब्लड प्रेशर बढ़ बढ़ना और हार्ट संबंधित समस्याएं हो सकती हैं।

चाय-कॉफी का सेवन करने की सही मात्रा: ICMR 300 मिलीग्राम की दैनिक कैफीन सेवन सीमा की सिफारिश करता हैं। आपको बता दें कि 150 मिलीलीटर कप ब्रू कॉफी में 80 से 120 मिलीग्राम कैफीन रहता हैं। जबकि इंस्टेंट कॉफी में 50 से 65 मिलीग्राम तक रहता हैं। और चाय में प्रति सेवन लगभग 30 से 65 मिलीग्राम कैफीन होता हैं।

खानपान में इन चीजों का ध्यान रखना भी जरूरी: चाय और कॉफी के सेवन को कंट्रोल करने के साथ ही ICMR तेल, चीनी और नमक के सेवन को भी सीमित करने की वकालत करते हैं। और साथ ही डाइट में फलों, सब्जियों, साबुत अनाज, दुबले मांस और सी फूड्स को शामिल करने की सलाह भी देते हैं।

यह भी पढ़ें: 

Atal Setu पर फिदा हुई रश्मिका मंदाना, 2 घंटे का सफर 20 मिनट में…

T20 World Cup से पहले बाबर आजम ने तोड़ा विराट कोहली का वर्ल्ड रिकॉर्ड, बने नंबर-1

Exit mobile version