nayaindia Patna Jan Vishwas Rally विपक्षी की पहली साझा रैली
Trending

विपक्षी की पहली साझा रैली

ByNI Desk,
Share

पटना। विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ की पहली साझा रैली पटना में हुई है। पटना से ही विपक्षी गठबंधन की शुरुआत हुई थी और नीतीश कुमार की पहल पर भाजपा विरोधी पार्टियां 18 जून 2023 को पटना में मिली थीं। लेकिन सात महीने बाद जब विपक्षी पार्टियों की पहली साझा रैली हुई तो सबके निशाने पर नीतीश कुमार थे क्योंकि वे पाला बदल कर भाजपा के साथ जा चुके हैं। राज्य के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने नीतीश पर हमला किया और उनके बहाने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी निशाना बनाया है।

रविवार को पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में हुई जन विश्वास रैली में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और राहुल गांधी भी शामिल हुए। उनके साथ साथ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी ने भी रैली में हिस्सा लिया। बिहार के महागठबंधन में शामिल राजद, कांग्रेस और तीन वामपंथी पार्टियों ने मिल कर इस रैली का आयोजन किया था। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव भी जन विश्वास रैली में शामिल हुए।

लालू प्रसाद ने अपने भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निजी तौर पर निशाना बनाया और उनके हिंदू होने पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि अगर नरेंद्र मोदी हिंदू होते तो अपनी मां के निधन पर बाल मुंडवाते। उन्होंने नीतीश पर भी निजी हमला किया और कहा कि उनका शरीर काम नहीं कर रहा है। दूसरी ओर तेजस्वी यादव ने अपने भाषण में कहा कि उनकी पार्टी आरजेडी का मतलब राइट्स, जॉब और डेवलपमेंट है। उन्होंने दावा किया उनके उप मुख्यमंत्री रहते उनकी पहल पर बिहार में भर्तियां हुईं।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपने भाषण में कहा- देश में जब भी बदलाव आता है, तो बिहार में तूफान शुरू होता है। यहां से तूफान बाकी प्रदेशों में जाता है। बिहार देश की राजनीति का नर्व सेंटर है। उन्होंने कहा- आज देश में विचारधारा की लड़ाई है। एक तरफ नफरत, हिंसा, अहंकार और दूसरी तरफ मोहब्बत, भाईचारा है। अगर आप गठबंधन को समझना चाहते हो, एक लाइन में समझा जा सकता है- हम नफरत के बाजार में मोहब्बत की दुकान खोलते हैं।

महागठबंधन की जन विश्वास महारैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा- प्रधानमंत्री मोदी के राज्य में पिछले तीन सालों में 25 हजार लोग खुदकुशी कर चुके हैं क्योंकि नौकरी नहीं है, खाने के लिए अन्न नहीं है, फिर भी प्रधानमंत्री मोदी कहते हैं, मोदी की गारंटी। आपकी गारंटी क्या है सबको मालूम है। सबको धोखा देना यही आपकी गारंटी है।  सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा- एक तरफ उत्तर प्रदेश ’80 हराओ’ का नारा दे रहा है, वहीं बिहार भी ’40 हराओ’ का नारा लगा रहा है। अगर यूपी और बिहार मिलकर 120 सीटें हरा देंगे तो भाजपा का क्या होगा?

यह भी पढ़ें

मंत्रिपरिषद की बैठक में विकसित भारत पर चर्चा

शहबाज शरीफ बने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री

हर्षवर्धन ने संन्यास की घोषणा की

पवन सिंह ने नाम वापस लिया

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें