nayaindia BIhar politics भाजपा नेता और सहयोगी भी चिंतित
Politics

भाजपा नेता और सहयोगी भी चिंतित

ByNI Political,
Share

नीतीश कुमार के फिर से एनडीए में लौटने की खबरों से भाजपा के कई नेता परेशान हैं तो कई सहयोगी पार्टियां चिंता में हैं। हालांकि भाजपा आलाकमान ने सबको भरोसा दिलाया है कि नीतीश के दबाव में किसी को नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। फिर भी नेताओं की चिंता खत्म नहीं हो रही है। सबसे ज्यादा चिंता में लोक जनशक्ति पार्टी रामविलास के नेता चिराग पासवान हैं। उनकी वजह से 2020 के विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार को बड़ा झटका लगा था। चिराग ने नीतीश के खिलाफ हर सीट पर उम्मीदवार उतार दिया था। इसकी वजह से नीतीश के नाम पर लड़ कर भाजपा को 75 सीट जीत गई लेकिन खुद नीतीश 43 ही सीट जीत पाए।

तब से नीतीश ने गांठ बांधी और चिराग पासवान को निपटाया। उनकी पहल पर चिराग की पार्टी टूटी और उनके चाचा पशुपति पारस पांच सांसदों को लेकर अलग हुए। नीतीश ने भाजपा से बात कर उनको लोकसभा में असली गुट की मान्यता दिलाई और पारस को केंद्र में मंत्री बनवाया। बाद में चिराग को अपने पिता का दशकों पुराना बंगला खाली करना पड़ा। सो, वे आशंकित हैं कि फिर नीतीश उनका नुकसान कर सकते हैं। इसी तरह नीतीश को छोड़ कर गए उपेंद्र कुशवाहा भी चिंता में हैं तो भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी की भी चिंता बढ़ है क्योंकि उन्होंने इस संकल्प के साथ पगड़ी बांधी थी कि नीतीश को सत्ता से हटा कर ही पगड़ी खोलेंगे। अब उनको भी नीतीश के साथ समझौता करना पड़ रहा है।

1 comment

  1. I loved even more than you could possibly be able to accomplish right here. Despite the fact that the language is stylish and the overall appearance is appealing, there is something odd about the manner that you write that makes me think that you ought to be careful about what you say in the future. In the event that you safeguard this hike, I will most certainly return on multiple occasions.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें