emergency

  • आपातकाल को नहीं भुला सकते: पीएम मोदी

    Narendra Modi :- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को आपातकाल की बरसी पर कहा कि यह भारतीय इतिहास का वह कालखंड है, जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता है। श्री मोदी ने एक ट्वीट में कहा, मैं उन सभी साहसी लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं, जिन्होंने आपातकाल का विरोध किया और हमारी लोकतांत्रिक भावना को मजबूत करने के लिए काम किया। आपातकाल के काले दिन हमारे इतिहास का वह कालखंड हैं, जिसे भुलाया नहीं जा सकता है। यह हमारे संवैधानिक मूल्यों के बिल्कुल विपरीत था। गौरतलब है कि 25 जून 1975 को देश में आपातकाल लगाने की घोषणा की...

  • वह काला अध्याय और यह काला अध्याय

    राहुल गांधी को लोकसभा से निष्कासित करने की बातें उड़ाई जा रही हैं। लेकिन आपातकाल के वक्त को याद करें। सुब्रह्मण्यन स्वामी की सदस्यता खत्म करने के लिए प्रस्ताव आया था तो उसमें तीन मुख्य आरोप थे। देश-विदेश में भारत विरोधी प्रचार करने का आरोप तीसरे क्रम पर था। उनके मसले पर राज्यसभा में लंबी बहस हुई।.... आखिर में ओम मेहता ने स्वामी को सदन से निष्कासित करने का प्रस्ताव पेश किया। स्वामी के ख़िलाफ़ आरोप क्रमांक-3 को प्रस्ताव से हटा दिया गया। यानी उन पर विदेशों में भारत के खि़लाफ़ प्रचार करने की तोहमत नहीं लगाई गई।... क्यों? इसलिए...

  • कांग्रेस के सहयोगियों को याद आ रही है इमरजेंसी

    यह हैरानी की बात है कि कांग्रेस पार्टी के करीबी सहयोगी इन दिनों बात बात में इमरजेंसी को याद कर रहे हैं। एक तरफ भाजपा के नेता और संवैधानिक पदों पर बैठे लोग इमरजेंसी की याद करके कांग्रेस को निशाना बना रहे हैं तो दूसरी ओर सहयोगी पार्टियां भी इसे याद कर रही हैं। उप राष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ ने 11 मार्च को मेरठ में एक कार्यक्रम में राहुल गांधी पर हमला करते हुए कहा कि संसद में अभी माइक बंद नहीं होता है। संसद में माइक इमरजेंसी के समय बंद होता था। तब विपक्ष को नहीं...