• डाउनलोड ऐप
Thursday, May 13, 2021
No menu items!
spot_img

mahatma gandhi

गांधी के स्वरोजगार के सपने को आकार दे रहा है ‘श्रमदान’

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने चरखा और खादी के जरिए स्वरोजगार का सपना संजोया था और उसे नई रोशनी मिली है जैन मुनि आचार्य विद्यासागर के प्रयासों से।

गोडसे पर टिप्पणी करने पर कांग्रेस ने प्रज्ञा ठाकुर पर बोला हमला

कांग्रेस ने आज मालेगांव बम धमाकों की आरोपी भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर पर हमला बोला। सांसद ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथू राम गोडसे का नाम लिये बिना उसे 'सच्चा देशभक्त' कहा था।

गहलोत ने गांधी जयंती पर महात्मा गांधी को किया नमन

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट एवं कई मंत्रियों ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर आज उन्हें नमन किया।

गांधी मूल्यों की ज्यादा जरूरत

अभी यह कहना थोड़ी जल्दबाजी होगी और अतिश्योक्तिपूर्ण भी कि अमेरिका गृह युद्ध के मुहाने पर खड़ा है। परंतु राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से गोरों के नस्ली वर्चस्ववाद को जिस तरह से संरक्षण मिल रहा है, उसमें अगर ट्रंप फिर से राष्ट्रपति बनते हैं तो अमेरिकी समाज बुरी तरह से बंटेगा और सामाजिक संघर्ष बढ़ेंगे।

कांग्रेस के आगे असल प्रश्न

फिलहाल, कांग्रेस में यथास्थिति यानी स्टेस-को कायम रहेगी। वो स्थिति जो पिछले साल आम चुनाव में पार्टी की लगातार दूसरी बार पराजय के बाद बनी थी। यानी फिलहाल पार्टी कार्यवाहक अध्यक्ष के नेतृत्व में ही काम करेगी।

हिंदी कैसे बने राष्ट्रभाषा ?

भारत में उत्तरप्रदेश हिंदी का सबसे बड़ा गढ़ है लेकिन देखिए कि हिंदी की वहां कैसी दुर्दशा है। इस साल दसवीं और बारहवीं कक्षा के 23 लाख विद्यार्थियों में से लगभग 8 लाख विद्यार्थी हिंदी में अनुतीर्ण हो गए।

ब्रह्मचर्य-प्रयोग था आडंबर

मनु बेन की डायरी दिखाती है कि भोली मनु के सिवा सभी लड़कियाँ और स्त्रियाँ महात्मा गाँधी के साथ सोने, नहाने, आदि परिचर्या को उन की निजी सेवा के रूप में लेती थीं। उन के बीच आपसी ईर्ष्या-द्वेष, कलह, दुराव, धमकियाँ, गाँधीजी से किसी विशेष लड़की को दूर करने, उस के बदले स्वयं स्थान लेने के प्रयत्न, आदि इसी कारण थे

चरित्र का यह कैसा दर्शन?

मनु बेन के आइने में (2): मनु बेन की डायरी आगे बढ़ती है। अमीषापाड़ा, बिहार, 2 फरवरी 1947: ‘‘आज बापू ने मेरी डायरी देखी और मुझ से कहा कि मैं इस का ध्यान रखूँ ताकि यह अनजान लोगों के हाथ न पड़ जाए

गांधी का मनु संग ‘ब्रह्मचर्य प्रयोग’

मनु बेन महात्मा गाँधी के अंतिम वर्षों की निकट सहयोगी थीं। मनु को प्रायः गाँधीजी की पौत्री कहा जाता है। वास्तव में यह रिश्ता बहुत दूर का था। वह गाँधीजी के चाचा की प्रपौत्री थी। लगभग अशिक्षित, सोलह-सत्रह वर्ष की लड़की, जिस के पिता जयसुखलाल गाँधी एक लाचार से साधारण व्यक्ति थे।

ट्रंप ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को दी श्रद्धांजलि

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप ने आज नई दिल्ली में महात्मा गांधी के समाधि स्थल राजघाट पर जाकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।
- Advertisement -spot_img

Latest News

सुशील मोदी की मंत्री बनने की बेचैनी

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को जब इस बार राज्य सरकार में जगह नहीं मिली और पार्टी...
- Advertisement -spot_img