NDA alliance

  • कमजोर पार्टियों से तालमेल के फायदे

    भारतीय जनता पार्टी कमजोर प्रादेशिक पार्टियों से तालमेल कर रही है। कई जगह तो ऐसा भी हुआ है कि भाजपा ने पहले पार्टियों को कमजोर किया और फिर उनसे तालमेल किया। इसका फायदा यह है कि भाजपा जिस तरह से चाह रही है उस तरह से सीटों का बंटवारा हो रहा है और आगे के लिए यह रास्ता बन रहा है कि भाजपा जब चाहे तब इन पार्टियों को समाप्त कर दे या इनका विलय अपने में करा ले। Lok Sabha election 2024 यह भी पढ़ें: भाजपा के दक्कन अभियान की चुनौतियां कह सकते हैं कि भाजपा इस बार के...

  • नीतीश की विदेश यात्रा से अटका गठबंधन

    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ऐन मौके पर विदेश चले गए। लोकसभा चुनाव की किसी भी समय घोषणा हो सकती है लेकिन 16 सांसदों वाली पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष विदेश गए हैं! उनकी हेल्थ इमरजेंसी के बारे में कुछ बताया नहीं जा रहा है लेकिन इसके अलावा कोई और कारण दिख भी नहीं रहा है। ऐसा भी नहीं है कि बिहार में सीटों का बंटवारा फाइनल हो गया है और सबकी उम्मीदवारी तय हो गई है। अभी सब कुछ उलझा हुआ है। भाजपा और जदयू में भी सीटों का बंटवारा फाइनल नहीं हुआ है और न सहयोगी पार्टियों के साथ...

  • भाजपा के सहयोगियों की चिंता

    भारतीय जनता पार्टी ने सहयोगियों की चिंता बढ़ा दी है। वह जिस तरह से एक एक सीट के लिए मोलभाव कर रही है और सभी छोटी पार्टियों को कम सीटों पर समझौता करने के लिए मजबूर कर रही है उससे सहयोगी परेशान हुए हैं। पहले उत्तर प्रदेश में भाजपा ने जयंत चौधरी की राष्ट्रीय लोकदल को दो सीटें दीं और साथ ही सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी व निषाद पार्टी को एक एक सीट देने का फैसला किया तो अब महाराष्ट्र से खबर आ रही है कि भाजपा वहां अजित पवार की असली एनसीपी को सिर्फ चार से पांच सीट देने...