प्रधानमंत्री ने ई-रुपी लांच किया

प्रधानमंत्री ने डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए एक नई करेंसी के तौर पर ई-रुपी लांच किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ई-वाउचर आधारित डिजिटल पेमेंट सॉल्यूशन ई-रुपी लांच किया

क्या आपको पता है e-RUPI क्या है, और कैसे काम करेगा ? पीएम मोदी आज करने वाले हैं लॉन्च

नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्होंने अपने सभी भाषणों में डिजिटलाइजेशन की बात की है. उन्होंने कई बार कैशलैस ट्रांजैक्शन पर भी जोर दिया है. इसी क्रम में आज प्रधानमंत्री मोदी एक नया पेमेंट प्लेटफार्म लॉन्च करने जा रहे हैं.

ममता के लिए दिल्ली कितनी दूर!

ममता बनर्जी की ताकत उनका जुझारू होना है। इसी ताकत के दम पर उन्होंने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी की चुनौती स्वीकार की थी और किसी भी राज्य में अब तक हुए सबसे घमासान चुनाव में प्रधानमंत्री-गृहमंत्री की जोड़ी और भाजपा-संघ दोनों के साझा संगठन को पराजित किया था

कोरोना को दी ऐसी मात कि पीएम भी खुद को तारीफ करने से रोक नहीं पाए

कोरोना वायरस ने 2020 में हमारे जीवन में दस्तक दी थई। जब से लाखओं लोगों की जान जा चुकी है। लेकिन हमने कोरोना से लड़ाई लड़ी है और जीते भी है। कोरोना की दूसरी लहर में हमें अंदर से झकझोक कर रख दिया है। कई ऐसे उदाहरण भी है जिन्होने अपनों से दूर रहकर कोरोना से जंग जीती है। गाजियाबाद के सेक्टर छह में रहने वाली पूजा वर्मा और उनके पति गगन कौशिक कोरोना संक्रमिक हो गए थे। उन्होंने कोविड-19 से संक्रमित होने के बाद खुद को अपने बेटे से अलग कर लिया था। वर्मा, उनके पति और छह वर्षीय बेटा तीन कमरों के एक फ्लैट में रहते हैं और अप्रैल में कोविड-19 से संक्रमित होने के बाद दंपति ने एक कड़ा फैसला किया और तय किया कि तीनों अलग अलग कमरों में रहेंगे। संक्रमित होवे के बाद तीनों ने खुद को अलग-अलग कमरों में आइसोलेट कर लिया। जब तक उनकी रिपोर्ट नेगेटिव नहीं आई तब तक वे तीनों अलग ही रहें। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छह साल के बच्चे की मां की उनके साहस और सकारात्मक सोच के लिए प्रशंसा की है। बच्चों के आसान नहीं आइसोलेशन लेकिन आइसोलेट रहना बच्चों के लिए आसान नहीं है। बच्चों को फिलहाल… Continue reading कोरोना को दी ऐसी मात कि पीएम भी खुद को तारीफ करने से रोक नहीं पाए

इमरान खान के रेप वाले बयान पर उनकी पूर्व पत्नियों ने ही घेरा, एक ने कहा-अपने प्राइवेट पार्ट को…

New Delhi: प्‍लेबॉय की छवि से बाहर आकर पाकिस्तान (Pakistan)  के पीएम बने इमरान खान (Prime Minister Imran Khan) के दिये गये बयानों पर विवाद होना आम बात है. कई बार उनकी अपनी पार्टी के नेता ही उनके दिये हुए बयान के साथ इत्तेफाक नहीं रखते है. ऐसे में एक बार फिर से रेप (rape) पर दिये गये एक बयान पर इमरान खान को उनकी ही पूर्व पत्नियों  (ex-wives) ने ही घेर लिया है. इमरान के लिए अभी का समय अच्छा नहीं चल रहा है. आतंकि घटनाओं को लेकर पाकिस्तान के पीएम दुनियाभर के नेताओं के बीच आलोचनाओं के शिकार हो रहे हैं.  इसी बीच उन्हें अपनी पूर्व पत्नी से झाड़ मिल गई है. इमरान की पूर्व पत्नी  जेमिमा (Jemima)  ने कुरान का हवाला देते हुए कहा कि पुरुषों के आंख पर पर्दा करने की सीख दी गई है ना कि महिलाओं को पर्दा करने के लिए. वहीं इमरान की दूसरी पूर्व पत्‍नी ने पीएम को मुंह बंद रखने की भी नसीहत दे दी.  बता दें कि इससे पहले इमरान खान ने कहा था कि रेप से बचने के लिए पाकिस्‍तानी महिलाओं को पर्दा करना चाहिए. जमकर इमरान पर बरसी जेमिमा जेमिमा ने इमरान के इस बयान पर कहा कि… Continue reading इमरान खान के रेप वाले बयान पर उनकी पूर्व पत्नियों ने ही घेरा, एक ने कहा-अपने प्राइवेट पार्ट को…

केजरीवाल को विकल्प बनाने की तैयारी

अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी अलग विपक्षी राजनीति में अपनी जगह बनाने के प्रयास में लगी है। किसान आंदोलन का समर्थन और किसानों की मदद करने से लेकर भाजपा और केंद्र सरकार के साथ लगातार टकराव के जरिए उन्होंने अपनी जगह बनाने का प्रयास किया है। हालांकि अपनी राजनीति के जरिए वे बार बार भाजपा की बी टीम होने का संकेत देते हैं फिर भी राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सरकार के अधिकार छीन कर उप राज्यपाल को देने वाला बिल पास होने के बाद से उनका टकराव बढ़ा है। यह हकीकत है कि अगले लोकसभा चुनाव से पहले राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों में अगर उनकी पार्टी ठीक-ठाक प्रदर्शन करती है और अगले साल के दिल्ली नगर निगम चुनाव में जीतती है तो केजरीवाल की दावेदारी को गंभीरता से लेना होगा। नगर निगम की पांच सीटों के उपचुनाव में चार पर जीत हासिल कर आम आदमी पार्टी ने अपनी ताकत दिखाई है। ध्यान रहे केजरीवाल की पार्टी पोस्ट आईडियोलॉजी यानी उत्तर विचारधारा की राजनीति का प्रतिनिधित्व करती है, जिसकी बुनियाद गवर्नेंस पर है। गवर्नेंस के अपने मॉडल का प्रचार केजरीवाल बेहतर ढंग से कर सकते हैं, गुजरात मॉडल से भी बेहतर। सो, अगले तीन साल उनकी राजनीति के… Continue reading केजरीवाल को विकल्प बनाने की तैयारी

 BJP सांसद अजय निषाद ने फिर दिया विवादित बयान कहा- तीसरे बच्चे को जन्म देने के पहले सरकार से लेना होगा NOC

New Delhi: BJP  के नेता विवादित बयान देने से बाज नहीं आ रहे हैं. दो दिन पहले ही उत्तराखंड के CM ने महिलाओं के पहनावे को लेकर विवादित बयान दे दिया था. जिसके बाद आज उन्हें माफी मांगनी पड़ी. देखा गया है कि सुर्खियां बटोरने के लिए भाजपा के नेता कई बार ऐसे  बयान दे देते हैं जो पार्टी के लिए ही परेशानी  बन जाती है. मुजफ्फरपुर से BJP सांसद अजय निषाद (AJAY NISHAD)  बढ़ती जनसंख्या को नियंत्रित करने पर बोल रहे थे. इसी क्रम में उन्होंने कह दिया कि जिनके पहले से दो बच्चे हैं और वे अगर तीसरा बच्चा पैदा करना चाह रहे हैं तो इसके लिए पहले सरकार से एनओसी (NOC) लें. उन्होंने कहा कि वे जल्द ही राज्य और केंद्र सरकार के पास ऐसा कानून बनाने के लिए  प्रस्ताव भी देंगे. बता दें कि  BJP  के नेता एक लंबे समय से जनसंख्या कानून की मांग कर रहे हैं. ये बात तो बहुत हद तक समझ आती है कि मौजूदा समय में बढ़ती जनसंख्या  देश के लिए एक चुनौती है लेकिन इस तरह के बयानों से जनता में आक्रोश उत्पन्न होता है और लोगों में भ्रम की स्थिति भी पैदा होती है. इसे भी पढ़ें-  Bengal election 2021… Continue reading  BJP सांसद अजय निषाद ने फिर दिया विवादित बयान कहा- तीसरे बच्चे को जन्म देने के पहले सरकार से लेना होगा NOC

अनाज बांट कर वोट का जुगाड़

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुफ्त अनाज बांटने की योजना को पांच महीने के लिए बढ़ाने का ऐलान किया। इसका चौतरफा स्वागत हो रहा है और होना भी चाहिए क्योंकि देश के अलग अलग हिस्सों से जो मजदूर लौटे हैं या पहले से मजदूर बेरोजगार हुए हैं या दूसरे गरीब को इसकी जरूरत है।

पीएम, सीएम के बाद डीएम, आरडब्लुए की कमान!

भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से लड़ाई सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में शुरू हुई थी और मुख्यमंत्रियों से होते हुए कलेक्टरों और अब रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन यानी आरडब्लुए की कमान में पहुंच गई है।

नागरिकताः सरकारी शीर्षासन

नए नागरिकता कानून ने हमारे नेताओं को अधर में लटका दिया है। पड़ौसी मुस्लिम देशों के मुस्लिम शरणार्थियों को नागरिकता दें या न दें, इस सवाल ने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को यह कहने के लिए मजबूर कर दिया है कि भारत सरकार अब ‘राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर’ (एनआरसी) बनाएगी ही नहीं।  ऐसा कहकर नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने भारत सरकार और भाजपा, दोनों को ही शीर्षासन करवा दिया है। उन्होंने कहा है कि सरकार तो सिर्फ ‘राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर’ ही बना रही है, जो अटलजी की भाजपा सरकार और डा. मनमोहनसिंह की कांग्रेस सरकार के दौरान भी बनता रहा है। जनसंख्या रजिस्टर और नागरिक रजिस्टर में फर्क यह है कि पहले में जो भी भारत में छह महिने से रहता है, वह अपना नाम लिखा सकता है लेकिन दूसरे में हर व्यक्ति के बारे में सप्रमाण विस्तृत जानकारी मांगी जाएगी और यदि उसकी जांच में कोई कमी पाई गई तो उसे नागरिकता नहीं दी जाएगी। उसे घुसपैठिया करार दिया जाएगा। मोदी और शाह देश में फैले जन-आंदोलन से इतना घबरा गए हैं कि दोनों ने कह दिया है कि हम नागरिकता रजिस्टर बना ही नहीं रहे जबकि भाजपा के 2019 के घोषणा-पत्र में उक्त रजिस्टर बनाने का साफ-साफ वादा किया… Continue reading नागरिकताः सरकारी शीर्षासन

मोदी को सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान की चिंता!

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नागरिकता कानून के विरोध में हुए प्रदर्शनों में सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाए जाने पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में जिस तरह लोगों ने हिंसा की, संपत्ति को नष्ट किया वो अपने घर में बैठ कर सोचें कि क्या ये सही था? गौरतलब है कि राज्य के मुख्यमंत्री ने सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों की पहचान कर उनसे इसकी भरपाई करने का अभियान छेड़ा है। बहरहाल, प्रधानमंत्री ने राज्य के युवाओं से यह भी कहा कि आजादी के बाद से अधिकारों पर सबसे ज्यादा जोर रहा है पर अब दायित्वों के निर्वहन पर ध्यान देने की जरूरत है। पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती के मौके पर लखनऊ में आयोजित एक समारोह में प्रधानमंत्री मोदी ने सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान पर चिंता जताई और प्रदर्शनकारियों से कहा- उन्हें इसके लिए आत्मचिंतन करना चाहिए। मोदी ने कहा- सरकारी संपत्ति को तोड़ने वालों को मैं कहना चाहूंगा कि बेहतर सड़क, बेहतर ट्रांसपोर्ट सिस्टम, उत्तम सीवर लाइन नागरिकों का हक है तो इसे सुरक्षित रखना और साफ-सुथरा रखना भी तो उनका कर्तव्य। उन्होंने कहा- आज अटल सिद्धि की इस धरती से मैं यूपी के युवा साथियों को, यहां के हर नागरिक… Continue reading मोदी को सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान की चिंता!

पीएम किसान मानधन योजना के तहत 235005 को कार्ड जारी

उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही के निर्देशन में कृषि विभाग द्वारा प्रधानमंत्री (पीएम) किसान मान-धन योजना के तहत वर्ष 2019-20 में

और लोड करें