nayaindia ritesh deshmukh ved movie निर्देशन में चला रीतेश का सिक्का
बॉलीवुड

निर्देशन में चला रीतेश का सिक्का

Share

किसी ने भी, यहां तक कि खुद रीतेश देशमुख ने भी सोचा नहीं होगा कि उनकी मराठी फिल्म‘वेड’ऐसा कमाल करेगी। वे तो इसका निर्देशन संभालने से पहले बेतरह आशंकित थे क्योंकि पहली बार इस मैदान में कूद रहे थे। जब आपकी फिल्में लगातार पिटे जा रही हों तो किसी के भी आत्मविश्वास की यही गत होगी। मगर पत्नी जेनेलिया डिसूजा ने उन्हें हिम्मत दिलाई। आज यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर केवल दो हफ्ते में चालीस करोड़ से ऊपर, यानी अपनी लागत के ढाई गुने से भी ज्यादा, कमा चुकी है और मराठी सिनेमा के कई रिकॉर्ड तोड़ चुकी है।

मराठी शब्द‘वेड’का मतलब होता है पागल। रीतेश और उनकी पत्नी जेनेलिया इसमें मुख्य भूमिकाओं में हैं। पिता विलासराव देशमुख के जमाने से उनके परिवार की सलमान खान के परिवार से अच्छी पहचान है और इस फिल्म में सलमान ने एक कैमियो किया है। मगर इसके चलने का कारण सलमान नहीं, स्वयं रीतेश हैं और उनकी पत्नी हैं। एक सामान्य सी प्रेम कथा को उनके फिल्माने के ढंग ने अलहदा और विशेष बना दिया है। रीतेश की पिछली, शशांक घोष के निर्देशन वाली फिल्म‘प्लान ए प्लान बी’नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई थी जो लोगों को याद भी नहीं है। फिर शाद अली के निर्देशन में‘मिस्टर मम्मी’आई जिसे रीतेश खुद याद नहीं रखना चाहेंगे। मतलब यह कि‘हाउसफुल’,‘मस्ती’और‘एक विलेन’वाले दिन जाने कहां चले गए थे। इन हालात में वे पहली बार निर्देशक बने।‘वेड’पिछली 30 दिसंबर यानी 2022 के बिलकुल अंत में रिलीज हुई और केवल मराठी बाजार तक सीमित होते हुए भी इसने राजकुमार राव की‘बधाई दो’, जॉन अब्राहम की‘अटैक’, शाहिद कपूर की‘जर्सी’, रणवीर सिंह की‘जयेशभाई जोरदार’और आयुष्मान खुराना की‘ऐन एक्शन हीरो’को पीछे छोड़ दिया है। ये सब फिल्में 2022 की ही थीं। संभव है कि यह‘सर्कस’भी पछाड़ दे। और हो सकता है कि रीतेश जल्दी ही इसे हिंदी में भी रिलीज़ करें। ध्यान रखिए, फिल्मों में बड़ा स्टार बनने से ज्यादा अहमियत रखता है बड़ा निर्देशक बनना।

By सुशील कुमार सिंह

वरिष्ठ पत्रकार। जनसत्ता, हिंदी इंडिया टूडे आदि के लंबे पत्रकारिता अनुभव के बाद फिलहाल एक साप्ताहित पत्रिका का संपादन और लेखन।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें