Naya India

नक्सली समर्पण करें नहीं तो उखाड़ फेंकेंगे: अमित शाह

Amit Shah

कांकेर। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने विकास कार्यों में नक्सलवाद को बड़ी बाधा बताते हुए नक्सलियों को चेताया और कहा है कि वे आत्मसमर्पण कर दें नहीं तो दो साल में उन्हें उखाड़ फेंकेंगे। छत्तीसगढ़ के कांकेर में भाजपा उम्मीदवार भोजराज नाग के समर्थन में जनसभा करने पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा, इस देश से नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद को समाप्त किया और नक्सलवाद समाप्ति की कगार पर है। छत्तीसगढ़ में पांच साल तक भूपेश बघेल की सरकार थी, नक्सलवादियों पर कोई कार्रवाई नहीं होती थी। Amit Shah

बीते चार माह में छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के खिलाफ की गई कार्रवाई का जिक्र करते हुए गृहमंत्री शाह ने कहा चार माह में 90 से ज्यादा माओवादियों को खत्म करने का काम बीजेपी की सरकार ने किया, 113 को गिरफ्तार किया, ढाई सौ ने सरेंडर किए। नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और भाजपा की सरकार को दो साल दे दीजिए, नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बना दीजिए, छत्तीसगढ़ से नक्सलवाद को उखाड़ कर फेंक देंगे। जब तक नक्सलवाद है तब तक आदिवासी भाइयों के घर बिजली नहीं पहुंचती, स्कूल नहीं, राशन की दुकान नहीं है। नक्सली आत्मसमर्पण कर दें वरना इस देश से नक्सलवाद को समाप्त कर देंगे।

कांग्रेस पर वोट बैंक की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए अमित शाह (Amit Shah) ने कहा, भगवान श्री राम के ननिहाल में आया हूं और हम सब ने अपने जीवन में इस 17 तारीख को एक अनुपम दृश्य देखा। 500 साल से टेंट में बैठे रामलला ने अपना जन्मदिन भव्य मंदिर में मनाया और वहां सूर्य तिलक का दृश्य हुआ। जब राम मंदिर (Ram Mandir) टूटा तब से करोड़ों लोगों की इच्छा थी, कई लोग शहीद हो गए कि रामलला अपने मंदिर में विराजमान हों। मगर कांग्रेस पार्टी सालों तक रामलला की जन्म भूमि के प्रश्न को अटकाती रही, लटकाती रही, भटकाती रही और आपने नरेंद्र मोदी को दूसरी प्रधानमंत्री बनाया उन्होंने केस भी जीत लिया, भूमि पूजन भी किया और प्राण प्रतिष्ठा कर जय श्री राम कर दिया।

कांग्रेस पार्टी (Congress Party) को जब निमंत्रण भेजा गया प्राण प्रतिष्ठा का तो, उसने अपने वोट बैंक के लालच से भगवान राम के दरबार में नहीं गए, उन्हें जो करना हो करने दो, हम नहीं डरते। हमने सिर्फ राम मंदिर नहीं, काशीनाथ कॉरिडोर और अब सोमनाथ का मंदिर भी सोने से बन रहा है। नरेंद्र मोदी ने इस 10 साल के अंदर बहुत बड़ा परिवर्तन करने का काम किया। वह ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिनके पास 10 साल का ट्रैक रिकॉर्ड भी है और 25 साल का एजेंडा भी।

यह भी पढ़ें:

भारी सुरक्षा के बीच मणिपुर में 11 मतदान केंद्रों पर वोटिंग जारी

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज करेंगे सियाचिन का दौरा

Exit mobile version