nayaindia Lalan Singh Resigns From Post Of JDU President Nitish Himself Take Charge जदयू के अध्यक्ष पद से ललन सिंह की छुट्टी, नीतीश खुद संभालेंगे जिम्मेदारी
News

नीतीश फिर जदयू के अध्यक्ष

ByNI Desk,
Share

नई दिल्ली। एक बड़े राजनीतिक घटनाक्रम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपनी पार्टी जनता दल यू के राष्ट्रीय अध्यक्ष बन गए हैं। शुक्रवार को राजधानी दिल्ली में हुई पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। इस्तीफे के बाद उन्होंने नीतीश कुमार को अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव रखा, जिसे आम सहमति से स्वीकार कर लिया गया। विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ से नीतीश की नाराजगी और भाजपा के साथ वापस जाने की अटकलों के बीच यह बड़ा बदलाव है।

नीतीश कुमार के अध्यक्ष बनने पर जदयू की ओर से कहा गया- पार्टी के सभी नेताओं की राय थी कि प्रमुख चेहरा होने के नाते 2024 के लोकसभा चुनावों से पहले नीतीश को संगठन की कमान संभालनी चाहिए। इस्तीफा देते हुए ललन सिंह ने कहा- मैं बहुत समय तक पार्टी अध्यक्ष रह चुका हूं। मुझे चुनाव लड़ना है, पार्टी में दूसरे काम भी करने हैं। इसके बाद नीतीश ने कहा कि पार्टी नेताओं के आग्रह को देखते हुए वे यह जिम्मेदारी संभालने के लिए तैयार हैं।

इससे पहले जनता दल यू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक सुबह 11 बजे शुरू हुई और डेढ़ घंटे में ही समाप्त हो गई। इसके बाद तीन बजे से राष्ट्रीय परिषद की बैठक हुई, जिसमें कार्यकारिणी के फैसलों पर मुहर लगाई गई। बैठक में फैसला किया गया है कि नीतीश कुमार जन जागरण यात्रा पर निकलेंगे। पार्टी ने सभी राजनीतिक मसलों पर फैसला करने के लिए नीतीश कुमार को अधिकृत किया। इसके अलावा संसद के शीतकालीन सत्र में सांसदों के निलंबन के खिलाफ भी एक प्रस्ताव स्वीकार किया गया। पार्टी के आर्थिक प्रस्ताव में महंगाई और बेरोजगारी के लिए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को जिम्मेदार बताया गया।

बैठक के बाद पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता केसी त्यागी ने प्रेस कांफ्रेंस करके बैठक में हुए फैसलों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बैठक में ललन सिंह ने कहा कि जदयू का हर कार्यकर्ता मजबूती से विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ के साथ खड़ा है और पार्टी किसी सूरत में भाजपा के साथ नहीं जाएगी। नीतीश कुमार के फूलपुर से चुनाव लड़ने के सवाल पर केसी त्यागी ने कहा कि वह सीट समाजवादियों का मक्का-मदीना है। वहां से कौन चुनाव लड़ेगा ये नीतीश और अखिलेश मिलकर तय करेंगे।

बैठक के बारे में जानकारी देते हुए त्यागी ने कहा कि नीतीश कुमार जनवरी से जन जागरण अभियान चलाएंगे। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा है कि बिहार में राजद के साथ गठबंधन है, लेकिन अन्य राज्यों में अभी तय नहीं हो पा रहा है। जल्दी इसे भी तय किया जाएगा। नीतीश कुमार ने कहा कि कांग्रेस उनकी योजनाओं की चर्चा नहीं करती है। वे देश भर में जातीय गणना करवाना चाहते हैं, लेकिन इसकी चर्चा नहीं होती है। नीतीश ने बिहार के अलावा दूसरे राज्यों के पदाधिकारियों को शनिवार को अपने आवास पर बैठक के लिए बुलाया है। वे सभी राज्यों के पदाधिकारियों के साथ सीट बंटवारे पर चर्चा करेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें