nayaindia kharge vs pm modi खड़गे ने फिर मांगा मोदी से मिलने का समय
Trending

खड़गे ने फिर मांगा मोदी से मिलने का समय

ByNI Desk,
Share

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने चार दिन में दूसरी बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने का समया मांगा है। गुरुवार को उन्होंने समय मांगने के लिए प्रधानमंत्री को चिट्‌ठी लिखी। अपनी चिट्ठी में उन्होंने कहा कि वे प्रधानमंत्री को कांग्रेस का घोषणापत्र समझाना चाहते हैं। गौरतलब है कि कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र का नाम न्याय पत्र रखा है। खड़गे ने चिट्ठी में लिखा है कि वे प्रधानमंत्री मोदी को न्याय पत्र समझाना चाहते हैं, ताकि वे देश के प्रधानमंत्री के तौर पर ऐसे बयान न दें, जो गलत हैं।

दो पन्नो की इस चिट्ठी में उन्होंने लिखा है कि प्रधानमंत्री ने हालिया भाषणों में जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया है, उससे वे बिल्कुल हैरान या अचंभित नहीं हैं। इससे पहले खड़गे ने 22 अप्रैल को प्रधानमंत्री से मिलने का समय मांगा था। खड़गे ने अपनी दूसरी चिट्‌ठी में लिखा है- आपके सलाहकार आपको उन चीजों के बारे में गलत जानकरी दे रहे हैं, जो हमारे न्याय पत्र में हैं भी नहीं। इसलिए मुझे आपसे व्यक्तिगत तौर पर मिलकर आपको अपना मैनिफेस्टो समझाने में खुशी मिलेगी।

खड़गे ने चिट्टी में लिखा है- इस बात की उम्मीद थी कि पहले चरण की वोटिंग में भाजपा का खराब प्रदर्शन देखकर आप और आपकी पार्टी के नेता इसी तरह की भाषा में बात करेंगे। कांग्रेस गरीबों और उनके न्याय की बात करती आई है। हमें पता है कि आप और आपकी सरकार को गरीब और वंचितों की कोई परवाह नहीं है। उन्होंने लिखा है- आपकी सूट बूट की सरकार कॉरपोरेट के लिए काम करती है, जिसके टैक्स आपने कम कर दिए हैं, जबकि वेतनभोगी वर्ग को ज्यादा टैक्स देना पड़ रहा है। गरीब को खाने और नमक पर भी ज्यादा जीएसटी देना पड़ रहा है, जबकि अमीर कॉरपोरेट जीएसटी रिफंड क्लेम कर रहा है। इसलिए जब हम गरीब और अमीर के बीच बराबरी की बात करते हैं, तो आप उसे जान बूझकर हिंदू और मुस्लिम पर ले जाते हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने चिट्ठी में लिखा है- हमारा मैनिफेस्टो देश के लोगों के लिए हैं, चाहे वे हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, जैन या बौद्ध हों। मुझे लगता है कि आप अब तक आजादी के पहले के अपने साथियों, मुस्लिम लीग और अंग्रेजों को नहीं भूले हैं। उन्होंने लिखा है- कांग्रेस ने हमेशा गरीबों को सशक्त करने के लिए काम किया है और मोदी सरकार ने नोटबंदी के जरिए गरीबों का पैसा लूटने का काम किया है। आपकी सरकार ने गरीबों का जमा कराया हुआ पैसा अमीरों को लोन के तौर पर ट्रांसफर करने के लिए नोटबंदी को व्यवस्थित लूट और कानूनी डकैती के रूप में इस्तेमाल किया।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें