Naya India

केजरीवाल की पार्टी में सब ठीक नहीं

एक तरफ आम आदमी पार्टी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के जेल से निकलने के बाद बड़ी हवा बनाने की कोशिश कर रही है। केजरीवाल प्रेस कांफ्रेंस कर रहे हैं, हरियाणा जाकर रैली कर आए, दिल्ली में कांग्रेस उम्मीदवारों के समर्थन में रोड शो की तैयारी है और पंजाब में प्रचार करने जाना है। दूसरी ओर पार्टी की इकलौती महिला सांसद स्वाति मालीवाल को लेकर बड़ा विवाद हो गया है। मालीवाल के साथ मुख्यमंत्री आवास में मारपीट हुई है। यह इस किस्म की दूसरी घटना है। कुछ समय पहले दिल्ली के मुख्य सचिव के साथ मुख्यमंत्री आवास में मारपीट की घटना हुई थी और उसका मुकदमा भी दर्ज हुआ था। अब महिला राज्यसभा सांसद के साथ मुख्यमंत्री के पीए बिभव कुमार द्वारा मारपीट करने की खबर है।

खुद स्वाति मालीवाल इस मामले की रिपोर्ट दर्ज कराने सिविल लाइंस थाने में गई थीं लेकिन बताया जा रहा है कि उसी बीच किसी का फोन आया, जिसके बाद वे लिखित शिकायत दिए बगैर लौट गईं। बाद में राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट होने की घटना की पुष्टि की और कहा कि इस मामले में मुख्यमंत्री कड़ी कार्रवाई करेंगे। लेकिन यह कहानी का वह पक्ष है, जो दिखाई दे रहा है। असली कहानी कुछ और है, जिस ओर मालीवाल के पूर्व पति नवीन जयहिंद ने इशारा किया। उन्होंने कहा कि संजय सिंह को सब कुछ पता है वे क्यों नहीं सच बता रहे हैं? उन्होंने यह भी कहा कि मालीवाल की जान खतरे में है। ध्यान रहे नवीन जयहिंद के साथ मालीवाल का 2020 में तलाक हो चुका है।

सवाल है कि मालीवाल की क्या कहानी है और क्यों उनकी जान खतरे में है? और यह भी सवाल है कि संजय सिंह क्या जानते हैं, जो वे नहीं बता रहे हैं? वे दिल्ली महिला आयोग की सबसे कम उम्र की अध्यक्ष बनीं। वे जुलाई 2015 में महिला आयोग की अध्यक्ष बनी थीं और इस साल जनवरी में राज्यसभा सांसद बनने तक लगातार करीब नौ साल पद पर रहीं। इसे लेकर पार्टी में कई बार सवाल उठे। सबसे हैरानी की बात है कि राज्यसभा सांसद बनने के बाद वे लापता हो गईं। उन्होंने सोशल मीडिया में बताया कि वे बहन के इलाज के लिए अमेरिका में हैं। केजरीवाल की गिरफ्तारी और पार्टी के तमाम आंदोलन, प्रदर्शन से भी वे दूर रहीं। पिछले दिनों वे अमेरिका से लौट कर पार्टी के चुनाव प्रचार में एकाध जगह गईं, लेकिन इस बीच मुख्यमंत्री आवास में उनके साथ दुर्व्यवहार की खबर आ गई।

मालीवाल का विवाद आम आदमी पार्टी और केजरीवाल दोनों के लिए मुश्किल पैदा करने वाला है। ऐसा नहीं है कि यह मामला सिर्फ मालीवाल तक सीमित है। दूसरे राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा भी लापता हैं। वे कई महीनों से लंदन में हैं और पिछले दिनों मीडिया में खबर आई थी कि वे चुपचाप दुबई गए थे, जहां भाजपा के एक बड़े नेता के बेटे से उनकी मुलाकात हुई थी। बताया जा रहा है कि वे अपने लिए केंद्रीय एजेंसियों से राहत मांग रहे हैं। पिछले दिनों पार्टी के दलित विधायक और मंत्री रहे राजकुमार आनंद ने पार्टी छोड़ी और अब वे बहुजन समाज पार्टी की टिकट से चुनाव लड़ रहे हैं।

Exit mobile version