nayaindia INDIA alliance ममता और नीतीश के कारण मुश्किल
Election

ममता और नीतीश के कारण मुश्किल

ByNI Political,
Share

कांग्रेस की नेशनल अलायंस कमेटी ने सीटों पर बातचीत शुरू कर दी है। आम आदमी पार्टी के तीन नेताओं संदीप पाठक, आतिशी और सौरभ भारद्वाज के साथ सोमवार को कांग्रेस नेताओं ने बात की। आप ने दिल्ली में तीन और पंजाब में छह सीट का प्रस्ताव दिया है, जबकि कांग्रेस को दिल्ली में चार और पंजाब में आठ सीटें चाहिए। ऐसा लग रहा है कि दोनों के बीच बात बन जाएगी। इससे एक दिन पहले कांग्रेस की नेशनल अलायंस कमेटी के पांच सदस्यों- अशोक गहलोत, मुकुल वासनिक, भूपेश बघेल, सलमान खुर्शीद और मोहन प्रकाश को बिहार के बारे में बातचीत करनी थी लेकिन नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यू ने इस बैठक में शामिल होने से इनकार कर दिया।

तभी कांग्रेस नेताओं की बातचीत सिर्फ राजद के साथ हुई। राजद की ओर से राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कांग्रेस नेताओं से बात की। लेकिन सवाल है कि नीतीश की पार्टी के बगैर कैसे बात आगे बढ़ेगी? नीतीश कुमार इस बात पर अड़े हैं कि वे पिछली बार भाजपा के साथ 17 सीटों पर लड़े थे तो इस बार भी 17 सीटें चाहिए और उन्होंने जो 16 सीटें जीती थीं उनमें से किसी सीट पर अदला-बदली नहीं करेंगे। उनकी जिद की वजह से राजद के मुस्लिम-यादव समीकरण वाली कम से कम पांच सीटें फंस रही हैं। ऐसा लग रहा है कि नीतीश किसी खास मकसद से सीट बंटवारे की बात को अटका रहे हैं। इसी तरह उधर ममता बनर्जी ने मामला अटका दिया है। वे बार बार कांग्रेस को दो सीट देने की बात कर रहे हैं, जिससे अधीर रंजन चौधरी भड़क रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को ममता की दया की जरुरत नहीं है। सो, ममता और नीतीश के कारण बंगाल और बिहार का मामला अटक रहा है।

1 comment

  1. Somebody essentially help to make significantly articles Id state This is the first time I frequented your web page and up to now I surprised with the research you made to make this actual post incredible Fantastic job

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें