अर्थव्यवस्था को झटका

विश्व बैंक ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी ने भारतीय अर्थव्यवस्था को जबर्दस्त झटका दिया है। इससे देश की आर्थिक वृद्धि दर में भारी गिरावट आएगी।

विकास दर ढाई फीसदी रहेगी!

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को मौद्रिक नीति समीक्षा की घोषणा के साथ यह भी स्पष्ट किया कि अगले वित्त वर्ष में विकास दर पांच फीसदी भी रहने का अनुमान नहीं है। पर इस बीच रेटिंग करने वाली एजेंसी मूडीज ने 2020 के कैलेंडर वर्ष में भारत की विकास दर ढाई फीसदी रहने का अनुमान जाहिर किया है। इससे पहले इसी महीने मूडीज ने भारत की जीडीपी की विकास दर 5.3 फीसदी और फरवरी में 5.4 फीसदी रहने का अनुमान जताया था। मूडीज ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी से पड़ने वाले आर्थिक बोझ के कारण जीडीपी विकास दर के अनुमान में बदलाव किया गया है। गौरतलब है कि 2019 में वास्तविक विकास दर पांच फीसदी रही थी। एक दूसरी रेटिंग एजेंसी फिच ने 2020-21 के लिए भारत की विकास दर 5.1 फीसदी रहने का अनुमान जताया है। एजेंसी ने पिछले हफ्ते को ग्लोबल इकोनॉमिक आउटलुक 2020 में कहा है कि आने वाले हफ्तों में कोरोना वायरस का असर बढ़ेगा। ऐसे हालातों में अर्थव्यवस्था को नुकसान हो सकता है। हालांकि फिच का अनुमान है कि 2021-22 में भारत की विकास दर 6.4 फीसदी रहेगी। एक तीसरी रेटिंग एजेंसी स्टैंडर्ड एंड पूअर्स, एसएंडपी ने 2020… Continue reading विकास दर ढाई फीसदी रहेगी!

विकास दर पांच फीसदी रहेगी

नई दिल्ली। चालू वित्त वर्ष 2019-20 की सकल घरेलू उत्पाद, जीडीपी की विकास दर पांच फीसदी रह सकती है। यह पिछले 11 साल की सबसे खराब विकास दर होगी। इससे पहले 2008-09 के वित्त वर्ष में विकास दर इतनी कम रही थी। ध्यान रहे उस समय सारी दुनिया आर्थिक मंदी की चपेट में थी।बहरहाल, केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय, सीएसओ ने सालाना विकास दर का पहला अग्रिम अनुमान मंगलवार को जारी किया। इसके मुताबिक विकास दर पांच फीसदी रह सकती है। हालांकि कई निजी एजेंसियों ने विकास दर पांच फीसदी के नीचे आने का भी अनुमान जाहिर किया है। इससे पहले वित्त वर्ष 2018-19 में वास्तविक विकास दर 6.8 फीसदी रही थी। इस बार उसमें बड़ी गिरावट आ सकती है। सीएसओ की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक निर्माण सेक्टर की विकास सिर्फ दो फीसदी रहने की उम्मीद है। 2018-19 में इस सेक्टर में विकास दर 6.9 फीसदी थी। गौरतलब है कि सीएसओ आर्थिक को आठ हिस्से में बांट कर आंकड़े जारी करता है। पहला अग्रिम अनुमान विभिन्न सेक्टर के सात महीने के आंकड़ों के आधार पर निकाला जाता है। इसमें निजी कंपनियों के नतीजों पर भी गौर किया जाता है।सीएसओ के आंकड़ों के आधार पर ही सरकार बजट तैयार करती है।… Continue reading विकास दर पांच फीसदी रहेगी

आजाद भारत में पहली बार विकास दर के मुकाबले महंगाई नहीं बढ़ी : राजनाथ

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने यहां रामलीला मैदान में आज से शुरू हुए व्यापारियों के सबसे बड़े सम्मेलन में आश्वासन दिया कि देश की अर्थव्यवस्था में जल्द सुधार होगा।

जीडीपी वृद्धि दर गिरने पर सोशल मीडिया पर सरकार आलोचना

भारत की जीडीपी विकास दर 2019-20 की दूसरी तिमाही में गिरकर 4.5 प्रतिशत हो गई है, जिसके बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने सरकार पर निशाना साधा है। वृद्धि दर को पुनर्जीवित करने के उद्देश्य से कई सरकारी उपायों के बावजूद, भारतीय अर्थव्यवस्था गिरती जा रही है।

आईएमएफ ने जताया मंदी का अंदेशा

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष, आईएमएफ ने व‌र्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक  की रिपोर्ट में पूरी दुनिया में मंदी का अंदेशा जताया है। इस रिपोर्ट में दुनिया भर में आर्थिक मंदी की आशंका जाहिर की गई है।

और लोड करें