जीत कौन रहा है? हार कौन रहा है?

क्या इस बात से आप को कोई फ़िक्र नहीं हो रही है कि इस बुधवार को…

दुरात्माओं से मुक्ति के हवन का समय

आपके या मेरे मानने-न-मानने से कुछ नहीं होता, कांग्रेस के भीतरी हालात ही ऐसे हैं कि…

न विपक्ष मरघिल्ला है, न हुक़्मरान अविजित

अभी चार साल हैं, मगर 2024 के भारतीय सियासी परदे के पीछे का दृश्य विपक्ष के…

बेढब दौर के जनद्रोहियों की दास्तान

सवाल कांग्रेस का नहीं है, सवाल भारतीय जनता पार्टी का नहीं है, सवाल सचिन पायलट का…

उंगलियों के पोरों से बहती क्रांति के युग में

विकास दुबे को तो मारा जाना ही था। आज नहीं तो कल। अगर कोई इतने पुलिस…

टांगाटोली सरकार का अल्पायु योग

हिंदुत्व के कट्टर अनुचर जानते हुए भी मानेंगे नहीं और राजनीतिक पंडितों को यह मानने में…

मुद्दा नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी हैं ही नहीं

क्या नरेंद्र भाई मोदी का राज चले जाने से हमारा हिंदू-पन संकट में पड़ जाएगा? क्या…

कांग्रेसी दीवार पर राहुल की इबारत

कांग्रेस पार्टी के सांगठनिक पदों पर रहने का उन्हें 12 बरस का तजु़र्बा है। सियासत में…

आ जा वे माहीं तेरा रस्ता उडीक दीयां

या तो भारतवासियों की हथेली में किसी लकीर की कमी है है या फिर उनके मौजूदा…

इतिहास के फड़फड़ाते पन्नों के आगोश में

 ‘थ्री- नॉट-थ्री बहुमत है तो क्या हुआ? क्या बहुसंख्या के इस तकनीकी तर्क की आड़ में…

अनुचरों की झांझरें और समय का घर्घर-नाद

42 बरस पहले एक फ़िल्म आई थी ‘घर’। उसमें गुलज़ार का लिखा एक गीत लता मंगेशकर…

हाहाहूहू युग के नक्कारखाने की तूती

घर, घर होता है। चाहे वह समंदर किनारे न हो, चाहे वह हरे-भरे जंगलों के बीच…

Amazon Prime Day Sale 6th - 7th Aug