nayaindia National Drinking Water Survey केंद्रीय सचिवों में क्या बड़ा बदलाव होगा?
Narendra Modi

केंद्रीय सचिवों में क्या बड़ा बदलाव होगा?

ByNI Political,
Share

भारत सरकार के आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय के सचिव मनोज जोशी को अचानक हटा दिया गया। लोकसभा चुनाव से पहले अकेले एक सचिव को हटाया गया है। तभी यह सवाल उठ रहा है कि क्या केंद्र सरकार में सचिवों के स्तर पर और बदलाव होंगे या यथास्थिति रहेगी?

एक अकेले सचिव के तबादले से सवाल भी उठे हैं। मनोज जोशी को आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय से हटा कर ग्रामीण विकास मंत्रालय के भू संपदा विभाग में भेज दिया गया है। यह भी सवाल उठ रहा है कि क्या यह किसी तरह की पनिशमेंट है?

असल में मनोज जोशी ने 29 फरवरी को प्रेस कांफ्रेंस करके पहले पेयजल स्वच्छता पुरस्कार का ऐलान किया था। उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस में बताय था कि देश के 485 शहरों में पानी का नमूना जांच के लिए दिया गया था, जिसमें से सर्फ 46 शहरों का नमूना सौ फीसदी पास हुआ यानी करीब 440 शहरों का पानी जांच में फेल हो गया।

बताया जा रहा है कि मंगलवार को ही पुरस्कार दिया जाना था लेकिन सरकार ने उसे टाल दिया और उसके बाद मनोज जोशी की छुट्टी हो गई। ऐसा माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव से पहले सर्वेक्षण और पानी के नमूनों का रिकॉर्ड जनता के सामने आने की संभावना से सरकार पीछे हट गई।

यह भी पढ़ें:
विपक्षी नेताओं के बयानों का विवाद

हेमंत सोरेन की मुश्किलें बढ़ रही हैं

कांग्रेस की पहली सूची कब आएगी

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें