विदेश नीतिः कुछ कमी, कुछ बढ़त

ऐसा लगता है कि तुर्की में चल रहा रूस-यूक्रेन संवाद शीघ्र ही उनका युद्ध बंद करवा देगा लेकिन इस मौके पर भारतीय विदेश नीति की कमजोरी साफ़-साफ़ उभर कर सामने आ रही है।

सिर्फ सरकार बनाने का चुनाव नहीं

लोकतांत्रिक शासन प्रणाली में चुनाव का प्राथमिक मकसद नई सरकार चुनना होता है। लेकिन कई बार मतदाता सिर्फ इसलिए वोट नहीं डालते हैं कि उन्हें नई सरकार चुननी है।

मोदी सरकार ने अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया: येचुरी

श्री येचुरी ने यूक्रेन संकट की चर्चा करते हुए कहा कि देश की शिक्षा व्यवस्था मंहगी होने के कारण ही छात्र अन्य देशों में पढ़ने को मजबूर हैं।

मनमोहन ने मोदी सरकार पर निशाना साधा

पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह भी पांच राज्यों में चल रहे चुनाव प्रचार में उतरे हैं।

क्षत-विक्षत सच और सरकार

संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव लंबी चर्चा और प्रधानमंत्री के जवाब के बाद मंजूर कर लिया गया है और अब बजट पर चर्चा चल रही है।

सट्टा, जुआ, लॉटरी, शराब सबसे कमाई

सचमुच केंद्र और राज्यों की सरकारों के पास पैसे की कमी हो गई है। वे कहें भले नहीं है लेकिन सबको ऐसी कमी है कि हर धंधे से कमाई की सोच रहे हैं।

शहंशाह जैसे राज मत कीजिए: राहुल

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर बेहद तीखा हमला किया है।

राहुल ने इसे देशद्रोह बताया

देश के नागरिकों की जासूसी कराए जाने को देशद्रोह बताया। है। मामला संसद सत्र में उठेगा।

चुनावी चिंता में चार बार सरेंडर!

पुरानी कहावत है कि झुकती है दुनिया, झुकाने वाला चाहिए। भारत सरकार के संबंध में इसे थोड़ा बदल कर कह सकते हैं कि झुकती है सरकार बस चुनाव आना चाहिए।

राज्यों के खजाने में केंद्र की सेंध

राज्यों में इस समय या तो डबल इंजन की सरकार है या केंद्र और राज्य के बीच टकराव है।

कोई उम्मीद बर नहीं आती..

अभी मिर्जा गालिब की जयंती बीती है। उन्होंने लिखा था ‘कोई उम्मीद बर नहीं आती, कोई सूरत नजर नहीं आती। पहले आती थी हाले दिल पे हंसी अब किसी बात पर नहीं आती’।

झूठ का वायरस सबसे खतरनाक

2021 में भारत को किसने ज्यादा मारा? कोरोना ने या झूठ के वायरस ने? निःसंदेह कोरोना की वजह से लाखों लोगों की जान गई है, करोड़ों लोग संक्रमित हुए।

सन् 21 की घुन और भारत!

शरीर और देश का घुन से लगातार कमजोर व जर्जर होना इंसान और इतिहास दोनों के अनुभव का सत्य है। तभी नोट रखे सन् 2021-22 को  भारत के सर्वाधिक डरावने-झूठे वर्ष के रूप में याद रखा जाएगा। 

Omicron के खतरे के बीच केंद्र ने दी राज्य सरकारों को इन 5 रणनीति पर काम करने के निर्देश…

गुरुवार को केंद्र सरकार ने स्थिति का जायजा लेते हुए राज्यों की तैयारियों पर पांच रणनीति अपनाने की सलाह दी है…

चर्चा से भाग रही है सरकार: राहुल

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार आम लोगों से जुड़े मसले पर चर्चा कराने से भाग रही है।

और लोड करें