न एनआरसी मुद्दा और न सीएए!

पिछले साल के अंत में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने संशोधित नागरिकता कानून यानी सीएए और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर यानी एनआरसी का मुद्दा नहीं उठाया तो माना गया कि नीतीश कुमार के साथ एलायंस की वजह से पार्टी चुप रही है।

असम में महागठबंधन के प्रयास विफल होंगे!

असम में चार महीने के बाद विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं और उससे पहले विपक्षी एकता की कोई कोशिश सिरे नहीं चढ़ रही है। कांग्रेस के दिग्गज नेता और लगातार तीन बार राज्य के मुख्यमंत्री रहे तरुण गोगोई के निधन के बाद विपक्षी एकता की  संभावना और कम हो गई है

बीटीसी का सबसे दिलचस्प चुनाव

असम में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं पर उससे पहले राज्य में बोडोलैंड टेरिटोरियल कौंसिल यानी बीटीसी के चुनाव चल रहे हैं। चार जिलों को मिला यह एक कौंसिल बनी है, जिस पर पिछले 15 साल से बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट यानी बीपीएफ का नियंत्रण है।

असम में आसू को पटाए कांग्रेस

कांग्रेस पार्टी ने कहा है कि वह असम में महागठबंधन बनाएगी। हालांकि मुश्किल यह है कि कांग्रेस पार्टी ने वहां सब कुछ 15 साल तक मुख्यमंत्री रहे तरुण गोगोई के ऊपर छोड़ा है, जो अपने बेटे गौरव गोगोई से आगे कांग्रेस का भविष्य देख ही नहीं पा रहे हैं।

और लोड करें