• डाउनलोड ऐप
Friday, May 7, 2021
No menu items!
spot_img

Economic Crisis

Corona Update: मई के मध्य तक अपने चरम पर होगा कारोना, जानें अर्थव्यवस्था पर होगा क्या असर

New Delhi. देश में कोरोना कहर बरसा रहा है. कोरोना के बढ़ते मामलो को देखते हुए कई राज्य में लॉकडाउन लगाए जा चुके हैं. ऐसे में मुख्य आर्थिक सलाहकार (CEA) के वी सुब्रमणियम का बयान और भी ज्यादा डराने...

सरकारी नौकरियों के सृजन पर रोक संबंधी आदेश वापस ले सरकार: कांग्रेस

कांग्रेस ने गैर जरूरी खर्चों में कटौती से जुड़े सरकार के प्रस्ताव को लेकर शनिवार को कहा कि नयी नौकरियों के सृजन पर रोक जन विरोधी कदम है और इस आदेश को तत्काल वापस लिया जाना चाहिए।

संस्कृति अनुदान की प्रक्रिया पर सवाल

कोरोना काल में समूची रंगमंचीय गतिविधियां रूकी हुई हैं। रंगकर्मी या तो अपने-अपने घरों में कैद हैं या डिजिटल प्लेटफार्म पर सक्रिय हैं। उनके सामने आर्थिक संकट भी गहराया हुआ है।

देश की वर्तमान स्थिति की मुख्य वजह सरकार का कुप्रबंधन: सोनिया

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मंगलवार को आरोप लगाया कि आर्थिक संकट, कोरोना वायरस महामारी और चीन के साथ सीमा पर तनाव से जुड़े संकट की मुख्य वजह भाजपा की अगुवाई वाली राजग सरकार का कुप्रबंधन और उसकी नीतियां हैं।

मध्यम वर्ग को भी मुफ्त मिले रसोई गैस : कांग्रेस

बिहार कांग्रेस ने कोरोना महामारी से बचाव के लिए लागू लॉकडाउन में अर्थिक संकट झेल रहे मध्यम वर्ग के लोगों को भी तीन माह तक मुफ्त रसोई गैस सिलेंडर

कोरोना से सबसे खतरनाक आर्थिक संकट पैदा होगा: सिसोदिया

नई दिल्ली। दिल्ली के वित्तमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को कहा कि कोरोनावायरस (कोविड-19) सिर्फ एक स्वास्थ्य संकट नहीं है, बल्कि यह दुनिया में सबसे खतरनाक आर्थिक संकट पैदा करने वाला है। सिसोदिया ने इसके लिए जीएसटी परिषद से...

सामाजिक तनाव और आर्थिक विकास एकसाथ संभव नहीं : कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) से उत्पन्न हालात और गहराते आर्थिक संकट पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि सामाजिक तनाव के कारण आर्थिक विकास संभव नहीं है।कांग्रेस के मनीष तिवारी ने बजट...

अव्यवस्था और आर्थिकी की चिंता

पूरा देश अराजकता के दौर में पहुंचता दिख रहा है। हर जगह किसी न किसी तरह की अव्यवस्था पैदा हो गई है या जान बूझकर पैदा कर दी गई है। इस अराजकता और अव्यवस्था के बीच सबसे बड़ी चिंता आर्थिकी को लेकर है। अलग अलग कारणों से देश के अलग अलग इलाकों में आर्थिकी ठप्प पड़ी है।

उड़ने वाले सिर्फ रह गए बैठे ठाले!

गत सप्ताह इस कॉलम में भवानी प्रसाद मिश्र की जिस कविता का मैंने पठन कराया था उसकी एक लाईन मुझे बार-बार याद हो आती है- उड़ने वाले सिर्फ रह गए बैठे ठाले! यह लाईन 21वीं सदी के भारत में नोटबंदी के बाद की वह हकीकत है जिस पर जितना सोचेंगे कम होगा।

जेल के राशन का भी पैसा नहीं!

हैरान करने वाली बात है पर चूंकि पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने खुद यह बात कही है इसलिए इसे गलत बता कर खारिज नहीं किया जा सकता है। बादल ने बताया है कि पंजाब के पास अपने जेलों में राशन मुहैया कराने के लिए पैसा नहीं है।
- Advertisement -spot_img

Latest News

यमराज

मृत्यु का देवता!... पर देवता?..कैसे देवता मानूं? वह नाम, वह सत्ता भला कैसे देवतुल्य, जो नारायण के नर की...
- Advertisement -spot_img