nayaindia Loksabha Election 2024 लोकसभा के लिए हौसला अफजाई शुरू
Columnist

लोकसभा के लिए हौसला अफजाई शुरू

Share

भोपाल। प्रदेश में विधानसभा चुनाव से फुर्सत होने के बाद अब दोनों ही प्रमुख दल भाजपा और कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओ,ं नेताओं में हौसला अफजाई के प्रयास शुरू कर दिए हैं। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कैबिनेट की पहली बैठक में मंत्रियों से अपने-अपने क्षेत्र में एक्टिव एवं अलर्ट रहने के लिए कह दिया है। वहीं भाजपा संगठन की आज महत्वपूर्ण बैठक हो रही है जिसमें प्रदेश भर के जिला अध्यक्ष और महामंत्रियों को बुलाया गया है।

दरअसल, राजनीति में चाहे हार मिले या जीत कभी विश्राम नहीं मिलता। शायद यही कारण है कि प्रदेश में भी भाजपा और कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव की तैयारी तेज कर दी है। अभी से प्रत्याशियों की तलाश शुरू हो रही है और संगठन को दुरुस्त किया जा रहा है। भाजपा चूंकि फिर से सरकार में आ गई है इसलिए उसे सरकार का परफॉर्मेंस भी बेहतर रखना है। यही कारण है कि मंत्रिमंडल विस्तार के बाद मंगलवार को पहले कैबिनेट की बैठक में ही मुख्यमंत्री डॉ.मोहन यादव ने मंत्रियों को अपने-अपने क्षेत्र में एक्टिव और अलर्ट रहने को कहा है। लोकसभा चुनाव की तैयारी के हिसाब से काम करने के निर्देश भी दिए हैं। उन्होंने कहा कि विकसित भारत संकल्प यात्रा के साथ केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए भी सभी मंत्रियों को कम करना है। क्षेत्र के लोगों से अधिक से अधिक मेल मुलाकात होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जल्दी ही लोकसभा क्षेत्र और जिला बार प्रभार की जिम्मेदारी मंत्रियों को सौंप जाएगी। इस बैठक में कई मंत्रियों ने जिलों की स्थिति के हिसाब से मुख्यमंत्री को सुझाव भी दिए। बैठक में विभागों के बंटवारे के बारे में भी बातचीत हुई है। इस बात की भी संभावना है कि मुख्यमंत्री सामान्य प्रशासन विभाग अपने पास रखेंगे और बाकी विभागों को उपमुख्यमंत्रियों और मंत्रियों के बीच बांट देंगे।

बहरहाल, भाजपा संगठन ने आज प्रदेश भाजपा कार्यालय में तीन महत्वपूर्ण बैठकर बुलाई हैं। इस बैठक में पार्टी के प्रदेश पदाधिकारी जिला प्रभारी जिला अध्यक्ष और महामंत्रियों को विशेष रूप से बुलाया गया है। इस बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सुनील बंसल, प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद विष्णु दत्त शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा विशेष रूप से पदाधिकारी का मार्गदर्शन करेंगे। पहली बैठक सुबह 10:00 बजे जिसमें लोकसभा कॉल सेंटर प्रभारी सह प्रभारी की बैठक होगी। दूसरी बैठक 12:00 बजे जिसमें प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना की प्रदेश और जिला की टोली की बैठक की जाएगी। और तीसरी बैठक 1:00 बजे होगी जिसमें प्रदेश पदाधिकारी, जिला प्रभारी, जिला अध्यक्ष और जिला महामंत्री उपस्थित रहेंगे। उधर प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस की प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में एक महत्वपूर्ण बैठक हुई जिसमें वर्तमान विधायक जिला कांग्रेस अध्यक्षों जिला सह प्रभारी और जिला संगठन मंत्रियों की संयुक्त रूप से की गई। बैठक में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं मध्यप्रदेश के नवनियुक्त प्रभारी भंवर जितेंद्र सिंह, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी, नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंगार, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, अरुण यादव, कांतिलाल भूरिया एवं विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष हेमंत कटारे विशेष रूप से उपस्थित थे।

इस अवसर पर भंवर जितेंद्र सिंह ने कहा कि पूरी ऊर्जा और प्रतिबद्धता के साथ कांग्रेस का हौसला बरकरार रखना है। वहीं जीतू पटवारी ने कहा ‘मैं’ नहीं ‘हम’ सामूहिक नेतृत्व में ही दम है। भंवर जितेंद्र सिंह ने कहा कि विधानसभा चुनाव में हमारी उम्मीद के मुताबिक परिणाम नहीं आए मगर अपेक्षाकृत प्रदेश की जनता ने हमें एक मजबूत जनाधार दिया है जिससे हम पूरे जोश और उम्मीद के साथ भविष्य की रणनीति पर काम करेंगे और लोकसभा चुनाव को देखते हुए एक नई ऊर्जा के साथ कांग्रेस के सभी कार्यकर्ता मैदान में सक्रिय रहें। उन्होंने मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी की प्रदेश कांग्रेस की कार्यकारिणी को तत्काल प्रभाव से भंग करते हुए पुरानी और नई नीतियों को भी भंग कर दिया है। कुल मिलाकर प्रदेश में लोकसभा चुनाव की तैयारी तेज हो गई हैं। भाजपा का जहां सत्ता और संगठन का पूरा फोकस लोकसभा चुनाव पर बन गया है। वहीं कांग्रेस भी हार की हताशा से ऊबरने की कोशिश में जुट गई है। नए सिरे से नियुक्तियां की जाएगी। पुरानी सभी नियुक्तियों को भंग कर दिया गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें