Baba Ramdev की हो गई इंटरनेशनल किरकिरी, जानें क्या रहा कारण

नई दिल्ली| योग गुरु बाबा रामदेव के दिन इन दिनों कुछ खास सही नहीं चल रहे हैं. पहले तो मॉडर्न चिकित्सा पद्धति पर विवादित बयान देने के बाद बाबा रामदेव की खूब फजीहत हुई. इसके बाद अब बाबा रामदेव की इंटरनेशनल बेइज्जती भी हो गई है. दरअसल, बाबा रामदेव ने भारत के पड़ोसी देश नेपाल को पतंजलि की कोरोनिल किट गिफ्ट में दी थी. बाबा रामदेव को बड़ा झटका देते हुए नेपाल सरकार ने इसके वितरण पर रोक लगा दी है. इस संबंध में नेपाल सरकार की ओर से कहा गया है कि बाबा रामदेव की कोरोनिल किट में कोरोना संक्रमण को रोकने के कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं , इसीलिए यह निर्णय लिया गया है. कोरोनिल के प्रभावी होने के नहीं मिलते हैं साक्ष्य नेपाल की मीडिया रिपोर्ट के अनुसार नेपाल के आयुर्वेदिक और वैकल्पिक दवा विभाग ने एक आदेश में कहा है कि कोरोनिल किट के संबंध में अब तक ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली है जिससे यह स्पष्ट हो सके कि यह कोरोना संक्रमित व्यक्ति के लिए लाभकारी है. यह बता दे कि पतंजलि शुरू से ही दावा कर रही है कि कोरोनिल कोरोना से लड़ने में काफी मददगार है. नेपाल की सरकार की ओर से कहा… Continue reading Baba Ramdev की हो गई इंटरनेशनल किरकिरी, जानें क्या रहा कारण

राजद्रोहः दुआ और रामदेव

भारत में राजद्रोह एक मजाक बनकर रह गया है। अभी तीन-चार दिन पहले ही सर्वोच्च न्यायालय ने आंध्र के एक सांसद के खिलाफ लगाए राजद्रोह के मुकदमे के धुर्रे बिखेरे थे। अब राजद्रोह को दो मामलों पर अदालतों की राय सामने आई है। सर्वोच्च न्यायालय ने पत्रकार विनोद दुआ के मामले में और बाबा रामदेव के मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय ने इन दोनों पर राजद्रोह का मुकदमा ठोकने वालों की खूब खबर ली है। जो लोग किसी पर भी राजद्रोह का मुकदमा ठोक देते हैं, उन्हें या तो राजद्रोह शब्द का अर्थ पता नहीं है या वे भारत के संविधान की भावना का सम्मान करने की बजाय अंग्रेजों के राज की मानसिकता में जी रहे हैं। उन्होंने अपने अहंकार के फुग्गे में इतनी हवा भर ली है कि वह किसी के छूने भर से फटने को तैयार हो जाता है। विनोद दुआ और रामदेव का अपराध क्या है ? दुआ ने मोदी की आलोचना ही तो की थी, शाहीन बाग धरने और कश्मीर के सवाल पर और रामदेव ने एलोपेथी को पाखंडी-पद्धति ही तो कहा था। इसमें राजद्रोह कहां से आ गया ? यह भी पढ़ें: किसे राजद्रोह कहें और किसे नहीं ? क्या इन दोनों के बयान से… Continue reading राजद्रोहः दुआ और रामदेव

कोरोना के बाद अब बाबा रामदेव ने किया ब्लैक फंगस के आयुर्वेदिक इलाज का दावा, कहा- एक सप्ताह में आ जाएगी दवा

नई दिल्ली | बाबा रामदेव इन दिनों चर्चाओं में बने हुए हैं. एलोपैथी इलाज पद्धति पर एक विवादास्पाद बयान देने के बाद से बाबा रामदेव के तेवर भी बदले-बदले नजर आ रहे हैं. अब बाबा रामदेव ने दावा किया है कि ब्लैक फंगस का आयुर्वेदिक इलाज एक सप्ताह के अंदर आ जाएगा. बाबा रामदेव के इस दावे पर उनके सहयोगी और मित्र आचार्य बालकृष्ण ने भी हां में हीं मिला दी है. दोनों का दावा है कि हम इस पर काफी समय से काम कर रहे थे. अब लगभग सारी तैयारियां कर ली गई है, कुछ औपचारिकताओं के बाद से ब्लैक फंगस की दवा को आम लोगों के लिए उपलब्ध करा लिया जाएगा. बाबा ने दावे के साथ ही कहा कि परिस्थितियां जो भी रही हो हमने कभी भी मानव कल्याण के कार्य से मुंह नहीं मोड़ा है. उन्होंने कहा कि देश को लोगों को ब्लैक, व्हाइट और येलो फंगस से डरने की जरूरत नहीं है हमारा शोध बस अपने आखिरी चरण में है हम जल्द ही लोगों को इन बीमारियों से मुक्त कर देंगे. कोरोना के बाद जानलेवा बन गया है ब्लैक फंगस बता दें कि भारत में कोरोना की रफ्तार में कुछ कमी जरूर आई है लेकिन ब्लैक… Continue reading कोरोना के बाद अब बाबा रामदेव ने किया ब्लैक फंगस के आयुर्वेदिक इलाज का दावा, कहा- एक सप्ताह में आ जाएगी दवा

विवादों में योग गुरु! बाबा Ramdev पर देशद्रोह की शिकायत दर्ज, 7 जून को होगी सुनवाई

नई दिल्ली। एलोपैथी (Allopathic) और डॉक्टरों के खिलाफ बयानबाजी कर योग गुरु बाबा रामदेव (Baba Ramdev) चारों और से विवादों में घिर गए हैं. विवादित बयान पर डॉक्टरों के साथ ही अन्य लोगों ने भी स्वामी रामदेव के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. अब रामदेव के खिलाफ मुजफ्फरपुर CJM Court कोर्ट में परिवाद दायर किया गया है. इस मामले की सुनवाई आगामी 7 जून को होने वाली है. ये भी पढ़ें:- Rajasthan: कोच बना हैवान! नाबालिग टेनिस प्लेयर से कई बार किया Rape, टूर्नामेंट में सलेक्शन का देता रहा झांसा अधिवक्ता ज्ञान प्रकाश ने एलोपैथी डॉक्टरों के खिलाफ बयानबाजी के चलते महामारी एक्ट के अलावा धोखाधड़ी और देशद्रोह की धाराओं में शिकायत दर्ज करवाई है. आपको बता दें कि एलोपैथी दवाओं और चिकित्सों पर बाबा रामदेव के कथित बयानबाजी से नाराज डॉक्टरों ने मंगलवार को विरोध जताने के लिए काला बिल्ला लगाकर काम किया था. ये भी पढ़ें:- यात्रीगण ध्यान दें! Indian Railway ने कई ट्रेनों के समय में किया बदलाव, कई ट्रेनें की रद्द अधिवक्ता ने आरोप लगाया है कि गत 21 मई को पतंजलि विश्वविद्यालय एवं शोध संस्थान के संयोजक स्वामी रामदेव ने अलग-अलग टेलिविजन चैनलों पर एलोपैथी चिकित्सा विज्ञान पर अमर्यादित टिप्पणी तो की ही, इसके साथ ही उन्होंने… Continue reading विवादों में योग गुरु! बाबा Ramdev पर देशद्रोह की शिकायत दर्ज, 7 जून को होगी सुनवाई

Baba Ramdev मांगे माफी, नहीं तो 1 जून को होगा देशव्यापी काला दिवस प्रदर्शन, Resident Doctors ने किया ऐलान

नई दिल्ली। कोरोना महामारी से देश पहले ही बेहाल है. इस बीच चिकित्सा पद्धति और दवाओं को लेकर छिड़ी जंग ने लोगों को और परेषानी में डाल दिया है. एलोपैथी और डॉक्टरों के खिलाफ रामदेव की टिप्पणी पर छिड़ा विवाद थमने के बजाए अब और गहराता जा रहा है. बाबा रामदेव (Baba Ramdev) के बयान को लेकर डाॅक्टरों ने जंग छेड़ दी है. फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोशिएसन (FORDA)  इंडिया द्वारा बाबा रामदेव को सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने के लिए कहा है. नहीं तो उन पर महामारी रोग अधिनियम के तहत कार्रवाई की मांग कर डाली है. ये भी पढ़ें :- UP Board 10th Exam Cancelled: UP सरकार का बड़ा फैसला, 10वीं बोर्ड की परीक्षा रद्द, कक्षा में 11 प्रमोट होंगे विद्यार्थी देशव्यापी काला दिवस प्रदर्शन का ऐलान इसके साथ ही फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोशिएसन ने 1 जून को रामदेव की टिप्पणियों के खिलाफ देशव्यापी काला दिवस प्रदर्शन का ऐलान कर दिया है. लेकिन एफओआरडीए ने यह भी कहा है कि 1 जून को मरीजों का इलाज पूरी तरह से जारी रहेगा और इसमें किसी तरह की कोई बाधा नहीं आएगी. ये भी पढ़ें :- आइये जानते है तरबूज का इतिहास और इसका नया शोध, सबसे पहले तरबूज मिस्र में… Continue reading Baba Ramdev मांगे माफी, नहीं तो 1 जून को होगा देशव्यापी काला दिवस प्रदर्शन, Resident Doctors ने किया ऐलान

सरकार का पूरा फोकस, ध्यान भटकाओं!

समकालीन दुनिया के सबसे बड़े सार्वजनिक बौद्धिकों में से एक और पिछले कई दशकों से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बौद्धिक असहमति की आवाजों के प्रतीक रहे नोम चोमस्की ने मीडिया द्वारा मैनिपुलेशन के दस नुस्खों के बारे में बताया है… भारत के मौजूदा संदर्भ में वैसे तो नोम चोमस्की के बताए सारे नुस्खे आजमाए जाते हुए दिख रहे हैं। लेकिन सबसे ज्यादा जिस नुस्खे को आजमाया जा रहा है वह डायवर्जन का यानी ध्यान भटकाने का नुस्खा है। यह भी पढ़ें: महान असफलताओं के दो साल! यह भी पढ़ें: आंसुओं को संभालिए साहेब! एक बहुत पुरानी कहानी है, जिसे गांवों में रहने वाले लोग निजी अनुभवों से जानते हैं और शहरों में भी बहुत से लोगों ने पढ़ा या सुना होगा। गावों में पुराने जमाने में लोगों के पास धन के नाम पर सिर्फ पशुधन होता था और तब पशुओं की चोरी ही बड़ी चोरी मानी जाती थी। जब चोर गांव में आते थे सबसे पहले पशुओं के गले में बंधी घंटी खोलते थे। फिर एक चोर घंटी लेकर एक दिशा में जाता था और बाकी चोर पशुओं को लेकर दूसरी दिशा में जाते थे। गांव के लोग घंटी की आवाज का पीछा करते थे। थोड़ी दूर जाकर चोर घंटी फेंक… Continue reading सरकार का पूरा फोकस, ध्यान भटकाओं!

बाबा रामदेव का संजू बाबा वाला स्टाइल: किसी के बाप में दम हो तो बाबा को अरेस्ट करे….

अब एक बार फिर से बाबा रामदेव चर्चाओं में आ गए हैं. इस बार बाबा रामदेव के चर्चा में आने का कारण एक वीडियो बना…

ठंडे पड़े योग गुरु बाबा रामदेव के तेवर माफी मांगते हुए कहीं ये बड़ी बात…

सेफ मोड में आते हुए बाबा रामदेव ने माफी मांगी है. इसके साथ ही बाबा रामदेव ने कहा है कि मेरे बयान को गलत तरीके से..

Ramdev माफी मांगे: हर्षवर्धन

नई दिल्ली। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की ओर से आपत्ति जताने और दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन की ओर से मुकदमा दर्ज कराए जाने के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने पतंजलि समूह के रामदेव द्वारा डॉक्टरों पर दिए गए बयान को आपत्तिजनक बताया है और उनसे बयान वापस लेने को कहा है। हर्षवर्धन ने यह भी कहा है कि रामदेव ने जो सफाई दी है वह पर्याप्त नहीं है और उन्हें माफी मांगनी चाहिए। हर्षवर्धन ने रविवार को रामदेव को पत्र लिख कर अपना विवादित बयान वापस लेने को कहा। हर्षवर्धन ने पत्र में लिखा- एलोपैथी से जुड़े हेल्थ वर्कर्स और डॉक्टर बहुत मेहनत से कोरोना मरीजों की जान बचा रहे हैं। आपके बयान से कोरोना के खिलाफ चल रही लड़ाई कमजोर पड़ सकती है। उम्मीद है कि आप अपने बयान को वापस लेंगे। इससे पहले शनिवार को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने स्वास्थ्य मंत्री को चिट्‌ठी लिखकर एलोपैथी पर दिए बाबा रामदेव के बयान पर आपत्ति जताई थी और मुकदमा चलाने की मांग भी की थी। इसके एक दिन बाद रविवार को स्वास्थ्य मंत्री ने रामदेव को चिट्ठी लिखी। उन्होंने लिखा- आप इस तथ्य से भली-भांति परिचित हैं कि कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई में भारत सहित पूरे विश्व के असंख्य… Continue reading Ramdev माफी मांगे: हर्षवर्धन

इसे बेनकाब करना जरूरी है

हालांकि इससे होगा कुछ नहीं, फिर भी एक विशेषज्ञ और नागरिक के तौर पर अपना एतराज जताने के लिए ये सही कदम उठाया गया है। ऐसे कदमों से इतना तो होता ही है कि ऐसे मसलों पर लोगों का ध्यान जाता है। साथ ही ऐसी सोच क्यों खतरनाक और असंवेदनशील है, उसके तर्क समाज में जाते हैं। ऐसे अमानवीय नजरिए को बेनकाब करना एक जरूरी काम है, जिसे करने के लिए जो भी आगे आता है, उसका मनोबल बढ़ाया जाना चाहिए। इसीलिए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के उपाध्यक्ष डॉ नवजोत सिंह दहिया ने जो मामला दर्ज कराया है, उस पर चर्चा अवश्य की जानी चाहिए। दहिया ने कोरोना मरीजों और डॉक्टरों का मजाक उड़ाने वाली बाबा रामदेव की टिप्पणियों पर कड़ी आपत्ति जताते हुए जालंधर पुलिस में केस दर्ज कराया है। उन्होंने रामदेव उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। हाल ही में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था। उसमें बाबा रामदेव कह रहे थे कि ‘चारों तरफ ऑक्सीजन ही ऑक्सीजन का भंडार है, लेकिन मरीजों को सांस लेना नहीं आता है। इसलिए वे नकारात्मकता फैला रहे हैं कि ऑक्सीजन की कमी है।’ इसे लेकर ही दहिया ने केस दायर किया है। कहा है कि इस तरह… Continue reading इसे बेनकाब करना जरूरी है

बाबा रामदेव ने वीडियो बनाकर कहा-ब्रह्मांड में ऑक्सीजन भर रखा है योग से लें अंदर, एक यूजन ने दिया मजेदार जवाब 

New Delhi: कोरोना की दूसरी लहर से देशभर में डर का माहौल बना हुआ है. रोज 4 लाख से ज्यादा नये मामले सामने आ रहे हैं. इसके साथ ही देश में ऑक्सीजन की कमी से भी लोगों की तड़प-तड़प कर जान जा रही है.  इन हालातों मेॆ योग गुरु बाबा रामदेव का एक वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस वीडियो में बाबा रामदेव ये कहते हुए दिखाई दे रहे हैं कि बेवजह लोगों ने नकारात्मक माहौल बना रखा है. बता दें कि बाबा रामदेव योग के जरिए शरीर में ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने का हमेशा दावा करते रहे हैं. इस वीडियो में भी वे दोनों नाक को ही ऑक्सीजन का दो सिलेंडर बताते दिखाई दे रहे हैं. सोशल मीडिया पर बाबा के इस वीडियो को मिलीजुली प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है. एक यूजर ने लिखा है कि ये और बात है कि लोगों को आक्समिक स्थिति में जब ऑक्सीजन की जरूरत पड़ेगी तो बाबा का योग काम ना आएगा तब तो लोगों को ऑक्सीजन के सिलेंडर के ही जरूरत पड़ेगी. ब्रह्मांड में भरा है ऑक्सीजन बाबा के वायरल वीडियो में योग गुरु बाबा रामदेव दावा कर रहे हैैं कि भगवान ने पूरे ब्रह्मांड में ऑक्सीजन… Continue reading बाबा रामदेव ने वीडियो बनाकर कहा-ब्रह्मांड में ऑक्सीजन भर रखा है योग से लें अंदर, एक यूजन ने दिया मजेदार जवाब 

ये रामदेव, रविशंकर, अंबानी-अडानी क्यों नहीं श्मशान बनवाते?

याद कीजिए दिल्ली में यमुना के किनारे श्री श्री रविशंकर के मेगा हिंदू शो को! याद कीजिए रामदेव की कोरोना काल में अपनी दवाइयों की मार्केटिंग और काढ़े आदि की कमाई को! याद कीजिए सन् 2020-21 मेंअंबानी-अडानी की संपदा में बढ़ोतरी के वैश्विक रिकार्ड को! इस सबके बाद जरा सोचें कि जिन रविशंकर ने दिल्ली में यमुना के किनारे को साफ-सुथरा कर अपना विशाल उत्सव मनाया था क्या वे दिल्ली में उसी यमुना के किनारे में हिंदुओं के लिए अस्थायी श्मशान बनाने का वह बंदोबस्त नहीं कर सकते, जिसमें हर हिंदू की लाश, चिता, कपाल-क्रिया धर्मोच्चार, संस्कारों के साथ पंडित करते हुए हों! कोरोना कायदों से संचालित लेकिन हिंदू संस्कारों की प्रतीकात्मक सच्ची व्यवस्था से अंतिम क्रिया कर्म का रविशंकर यदि दिल्ली में जिम्मा लें, रामदेव उत्तराखंड, यूपी का जिम्मा लें तो क्या इनका खजाना खाली हो जाएगा? क्या जग्गी वासुदेव या मोदी काल में चमके तमाम हिंदू ठेकेदार, मठाधीश, महामंडलेश्वर लखनऊ, पटना, मुंबई आदि जहां भी संभव हो, नए अस्थायी श्मशान बनवा कर, लकड़ियों की व्यवस्था करवा कर, क्रिया-कर्म करवाने वाले लोगों का चौबीसों घंटे मैनेजमेंट कर अंतिम सांस गिनते हिंदू जनों में मौत का यह सुकून नहीं बनवा सकते कि मरने के बाद होगी कपाल क्रिया! हिंदू की… Continue reading ये रामदेव, रविशंकर, अंबानी-अडानी क्यों नहीं श्मशान बनवाते?

Oxygen Crisis: ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए बाबा रामदेव ने दिये ये टिप्स

New Delhi: भारत में कोरोना की कहर के साथ में ऑक्सीजन की किल्लत भी एक भारी समस्या बनकर सामने आई है. देश के कई अस्पतालों से ऑक्सीजन के अभाव में लोग दम तोड़ रहे हैं. ऐसे में योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा है कि अगर अपने खान-पान पर ध्यान दिया जाए और इसके साथ ही थोड़ी एक्सरसाइज की जाए तो शरीर में ऑक्सीजन की निरंतरता बनाए रखी जा सकती है. . बाबा रामदेव ने कहा कि ऑक्सीजन स्तर बढ़ाने के लिए ब्रीथिंग एक्सरसाइज बहुत कारगर है.  उन्होंने कहा कि ब्रीथिंग एक्सरसाइज का सबसे अच्छा जरिया योग और प्राणायाम है. रामदेव का कहना है कि आज के हालात में अपने शरीर में ऑक्सीजन लेवल को मेंटेन रखना एक चुनौती भरा काम है.  लेकिन लगातार योग के अभ्यास से और योग प्राणायाम कर शरीर में ऑक्सीजन की कमी को दूर किया जा सकता है . इस संबंध में बाबा ने कुछ विशेष योग करने की सलाह दी और कहा कि इससे ऑक्सीजन की कमी दूर की जा सकती है. अनुलोम विलोम बाबा रामदेव ने कहा है कि कोरोना काल में जब लोग घरों पर हो तो योग जरूर करें उन्होंने कहा कि शरीर में ऑक्सीजन का स्तर बनाए रखने के लिए… Continue reading Oxygen Crisis: ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए बाबा रामदेव ने दिये ये टिप्स

Corona Update:  सबसे पहले कोरोना की दवा बनाने का किया था दावा, अब पतंजलि योगपीठ में मिले 83 कोरोना पॉजिटिव

Rishikesh: देशभर में कोरोना कहर बरसा रहा है सबसे पहले कोरोना की दवा बनाने का दावा करने वाले बाबा रामदेव के पतंजलि योगपीठ में 83 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. जानकारी के अनुसार इन सभी संक्रमितों को आइसोलेट कर दिया गया है.  अनुमान लगाया जा रहा है कि बाबा रामदेव का भी जल्द ही कोरोना टेस्ट कराया जा सकता है. हरिद्वार के सीएमओ डॉ शंभू झा ने बताया कि 10 अप्रैल से अब तक पतंजलि योगपीठ के कई संस्थानों में कोरोना मरीज मिले हैं.  उन्होंने बताया कि पतंजलि योगपीठ आचार्यकुलम और योग ग्राम में अब तक 83 कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हो चुकी है. अगर जरूरत पड़ी तो बाबा रामदेव की भी कोरोना की जांच की जाएगी .उन्होंने कहा कि इन हालातों में कोरोना को हल्के में लेना बेवकूफी भरा कदम हो सकता है. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में ओपीडी बंद पतंजलि योगपीठ में हुए कोरोना विस्फोट के बाद से ऋषिकेश स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में ओपीडी सेवाएं बंद कर दी गई है. इस संबंध में आधिकारिक सूचना देते हुए कहा गया है कि कोरोना मामले को बढ़ता देख ऐसा  फैसला लिया गया है.  इस संबंध में मिली जानकारियों के अनुसार अस्पताल में कोविड-19 रोगियों के लिए… Continue reading Corona Update:  सबसे पहले कोरोना की दवा बनाने का किया था दावा, अब पतंजलि योगपीठ में मिले 83 कोरोना पॉजिटिव

कितना कुछ बदल गया

कोरोना वायरस की महामारी शुरू होने के बाद एक साल में कितना कुछ बदल गया है। इसमें कुछ बदलाव अच्छे हैं तो कुछ खराब और कुछ बहुत खराब। इनके अलावा कुछ ऐसे भी बदलाव हैं, जो पहले भी मायने नहीं रखते थे और अब तो खैर उनका कोई मतलब ही नहीं है। जैसे कोरोना वायरस का संक्रमण शुरू हुआ तो ताली-थाली बजवाई गई, घरों के बाहर दीये जलवाए गए, अस्पतालों के ऊपर हेलीकॉप्टर से फूल बरसाए गए और सेना की बैंड से धुन बजवाई गई। कहा गया स्वास्थ्यकर्मियों के प्रति आभार जताने के लिए ऐसा है। तो क्या अब उनके प्रति आभार जताने की जरूरत नहीं है? अगर है तो फिर क्यों नहीं ऐसा कोई इवेंट हो रहा है? अगर उस समय ताली-थाली बजाने से ऐसी कॉस्मिक वेब्स उत्पन्न हो रही थीं, जिनसे कोरोना खत्म हो रहा था तो अब भी वैसा कुछ आयोजन होना चाहिए। लेकिन हुआ इसके उलटा है। जितने लोगों ने ज्यादा जोर-शोर से ताली-थाली बजाई थी वे सब लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। महानायक अमिताभ बच्चन से लेकर क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर तक और परेश रावल से लेकर अक्षय कुमार तक! यह भी पढ़ें: कोरोना: भारत में तब-अब एक साल में एक बड़ा बदलाव यह… Continue reading कितना कुछ बदल गया

और लोड करें