क्या कांग्रेस की कमान संभालेंगे कमलनाथ…!

सवाल पांच राज्यों के चुनाव परिणाम ने जब कांग्रेस को आत्ममंथन के लिए मजबूर कर दिया

‘नाथ’  जाएंगे दिल्ली, एडजस्ट होंगे ‘उमा- कैलाश’…!

राज्यसभा की 3 सीट बताएंगी 2023 की दिशा, पिछड़ा, आदिवासी ,दलित, महिला को लेकर कौन ज्यादा गंभीर

कांग्रेस : घर-घर चलो अभियान फोटोशूट और पब्लिसिटी स्टंट…!

दिग्गजों की अनदेखी, मॉनिटरिंग का अभाव, क्या कमलनाथ की अपेक्षाओं को पूरा करेगा

कांग्रेस के लिए चुनाव किसी परीक्षा से कम नहीं

जिला कांग्रेस के अध्यक्ष एवं जिला प्रभारियों की बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने दो टूक कहा है कि चुनाव के लिए केवल 18 महीने रह गए हैं। यह चुनाव किसी परीक्षा से कम नह

पंचायत चुनाव नहीं हुए तो करेंगे आंदोलन: कमलनाथ

पंचायत चुनाव दो महीने के अंदर नहीं हुए तो कांग्रेस करेगी आंदोलन कमलनाथ

कोराना प्रबंधन में शिवराज सरकार न करें लापरवाही: कमलनाथ

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार को नसीहत देते हुए कोरोना प्रबंधन में लापरवाही न बरतने को कहा।

MP :कमलनाथ का आरोप, गांवों में कोरोना से बदतर हालात, नजरअंदाज कर रही सरकार

भोपाल | देश में कोरोना महामारी का माहौल बना हुआ कोरोना (Corona) मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है मध्यप्रदेश (Madhya pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों (Rural Areas) में कोरोना संक्रमण (Corona infection) की स्थिति भयावह होने का आरोप लगाया है। कमलनाथ ने ट्वीट के जरिए कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण (Corona infection) की स्थिति भयावह हो चली है और इस पूरे मामले में सरकार तत्काल संज्ञान लेकर इसकी पूरी जांच करवाए। इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों (Rural Areas) में स्वास्थ्य सेवाएं व संसाधन बढ़ाने का काम युद्धस्तर पर किया जाए। इसे भी पढ़ें – Indian Railway : भारतीय रेलवे ने कोरोना संक्रमण को देख रद्द की 31 ट्रेने, यात्रा करने से पहले कर ले चेक उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा कि अब तक उत्तरप्रदेश और बिहार में गंगा नदी में बहते शवों की तस्वीरें हम देख रहे थे और अब मध्यप्रदेश में भी पन्ना जिले की अजयगढ़ तहसील के नंदनपुर गांव में रुंझ नदी में छह बहते हुए शवों की दर्दनाक तस्वीरें सामने आयी हैं। उन्होंने इसे बेहद गंभीर मामला बताया है। इसे भी पढ़ें – Corona पर कांग्रेस और भाजपा के बीच जुबानी जंग, Kapil Sibal बोले- आलोचना का नहीं, एक साथ… Continue reading MP :कमलनाथ का आरोप, गांवों में कोरोना से बदतर हालात, नजरअंदाज कर रही सरकार

एमपी: BJP MLA और पूर्व मंत्री जुगल किशोर बागड़ी का COVID से निधन, सीएम औ पूर्व सीएम ने जताया दुख

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण ( Coronavirus in MP ) रूकने का नाम नहीं ले रहा है. लोग इसकी चपेट में कार दम तोड़ रहे हैं. अब राज्य के पूर्व मंत्री ( Former Madhya Pradesh Minister ) और वर्तमान में रैगांव से भारतीय जनता पार्टी के विधायक ( BJP MLA ) जुगल किशोर बागड़ी ( Jugal Kishore Bagri ) का सोमवार को कोरोना से निधन हो गया. वे कई दिनों से कोरोना संक्रमित थे और उससे जंग लड़ रहे थे. इलाज पर चल रहे विधायक की सोमवार को तबियत ज्यादा बिगड़ गई और उनका निधन हो गया. कोरोना संक्रमित ( COVID-19 ) मिलने के बाद जुगल किशोर को बिरला ( Jugal Kishore Bagri ) अस्पताल में गत गुरुवार को भर्ती करवाया गया था. डॉक्टरों के अनुसार उनके फेंफड़ों में 30 प्रतिशत संक्रमण था जो लगातार बढ़ता जा रहा था. बाद में शुक्रवार को उन्हें भोपाल के बंसल अस्पताल में भर्ती करवाया गया लेकिन यहां पर भी उनकी तबियत में कोई सुधार नहीं हुआ. ऐसे में उन्हें चिरायु अस्पताल में भर्ती करवाया गया लेकिन वहा उनका निधन हो गया. यह भी पढ़ेंः- Rajasthan Corona Update: राजस्थान में बीते 24 घंटे में 160 लोगों की कोरोना से मौत, वहीं 16,487 नए मामले आए… Continue reading एमपी: BJP MLA और पूर्व मंत्री जुगल किशोर बागड़ी का COVID से निधन, सीएम औ पूर्व सीएम ने जताया दुख

ट्रैक-टू वार्ता के लिए क्या कमलनाथ अधिकृत हैं?

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ को क्या कांग्रेस आलाकमान ने हर मसले पर ट्रैक-टू वार्ता के लिए अधिकृत किया है? वे हर मसले पर परदे के पीछे पंचायत करने वाली वार्ताएं कर रहे हैं

कमलनाथ की क्या भूमिका होगी?

हो सकता है कि इसमें थोड़ा समय लगे और जनवरी-फरवरी की बजाय यह काम मई-जून में हो पर यह तय है कि कांग्रेस संगठन में बदलाव होगा। राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष पद की कमान संभालेंगे।

कमलनाथ की संन्यास की इच्छा क्यों जगी?

हाल तक तो पार्टी आलाकमान के सामने इस बात की लॉबिंग करते घूम रहे थे कि उनको ही विधायक दल का नेता रहने दिया जाए और प्रदेश अध्यक्ष भी उन्हें ही रहने दिया।

कमलनाथ का क्या करेगी कांग्रेस?

कांग्रेस पार्टी में इस बात को लेकर उधेड़बुन है कि कमलनाथ का क्या किया जाए? वे 15 साल के बाद कांग्रेस को सत्ता मिली तो मुख्यमंत्री बने थे और 15 महीने में उनके देखते-देखते सरकार चली गई।

कमलनाथ, शिवराज और कार्तिक का कृष्ण पक्ष

सेंधमारी के ज़रिए मध्यप्रदेश में आई भारतीय जनता पार्टी की सरकार को ख़ुद के बूते बने रहने के लिए 28 विधानसभा क्षेत्रों में हो रहे उपचुनावों में से 9 जीतने होंगे। और जो हो, इतना तय है कि इतनी सीटें वह नहीं जीत रही है।

कांग्रेसी कुनबा कमलनाथ से नहीं संभल रहा

कांग्रेस आलाकमान ने कमलनाथ को नेता प्रतिपक्ष बनाने की हरी झंडी दे दी है। वे प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष पहले से हैं। फिर भी राज्य में कांग्रेस पार्टी का कुनबा संभल नहीं रहा है।

‘एक्चुअल’ में देगी ‘नाथ की सेना’ ‘वर्चुअल’ का जवाब..!

प्रदेश कांग्रेस प्रभारी मुकुल वासनिक उप चुनावों के रोड मैप को अपने भोपाल दौरे के दौरान लगभग अंतिम रूप दे चुके हैं.. एकजुटता के साथ जो ताकत कांग्रेस ने कभी विधानसभा चुनाव में नहीं

और लोड करें