kishori-yojna
लखीमपुर मामले मे BJP ने कहा- चर्चा की इजाजत नहीं देते संसदीय नियम, इस्तीफे की मांग भी खारिज…

लखीमपुर खीरी मामले पर संसद में चर्चा नहीं हो सकती क्योंकि यह अदालत के विचाराधीन है. बता दें कि लखीमपुर खीरी हिंसा की…

ई-कॉमर्स को नियंत्रित करें, खत्म नहीं

ई-कॉमर्स और डिजिटल पेमेंट नई वित्तीय सोच की पैदाइश हैं लेकिन तकनीक ने इन्हें अमल में लाने का रास्ता बनाया और लोकप्रिय भी बनाया।

मंत्रालयों में पत्रकारों की एंट्री बंद

कुछ मामलों में तो कोरोना वायरस की आपदा ने अवसर का काम किया है और कुछ मामलों में मंत्रियों ने सीधे सीधे पत्रकारों की एंट्री बंद कर दी है। संसद में भी पत्रकारों की एंट्री बहुत सीमित हो गई है।

राज्यसभा में TMC ने केंद्रीय मंत्री को बताया ‘‘बांग्लादेशी’’ कहा- सच जानने का मुझे पूरा अधिकार

नयी दिल्ली | Told the Union Minister Bangladeshi : मानसून सत्र का पहला दिन विवादों से घिरा रहा. विपक्ष के भारी विरोध के कारण संसद का कार्रवाही कई बार स्थगित करनी पड़ी. पहले दो बार के स्थगन के बाद 2 बजे जैसे ही सदन की कार्यवाही आरंभ हुई, तृणमूल कांग्रेस ने हाल ही में केंद्रीय मंत्रिपरिषद में शामिल किए गए पश्चिम बंगाल के एक सांसद को सोमवार को कथित तौर पर ‘‘बांग्लादेशी’’ करार दे दिया . इस बारे में सरकार से स्पष्टीकरण की मांग भी कर दी . इस मुद्दे पर हंगामे के चलते सदन की कार्यवाही तीन बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई.हंगानों को देखते हुए एक बार फिर से राज्यसभा की सुनवाई कल 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई . Rajya Sabha adjourned till 11 am tomorrow pic.twitter.com/eT5NRCiraH — ANI (@ANI) July 19, 2021 सुखेंदु शेखर रॉय को बताया बांग्लादेशी तृणमूल कांग्रेस के सुखेंदु शेखर रॉय ने नियमों का हवाला देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी मंत्रिपरिषद के जिन सहयोगियों की सूची आज सदन के पटल पर रखी है ‘‘उनमें एक राज्यमंत्री कथित तौर पर बांग्लादेशी’ हैं. राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि उन्होंने इस संबंध… Continue reading राज्यसभा में TMC ने केंद्रीय मंत्री को बताया ‘‘बांग्लादेशी’’ कहा- सच जानने का मुझे पूरा अधिकार

पीयूष गोयल राज्यसभा में सदन के नेता के रूप में हुए प्रमोट, थावरचंद गहलोत के पद पर होंगे आसीन

कुछ समय पहले ही मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया था। इसमें कई नए चेहरे देखने को मिले थे। और बहुत से पुराने मंत्रियों की छुट्टी हो गई थी। पीयूष गोयल को मोदी मंडल में वाणिज्य और उद्योग मंत्री, उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री और कपड़ा मंत्री का विभाग सौंपा गया। और अब पीयूष गोयल का प्रमोशन कर दिया गया है। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल राज्यसभा में सदन के नेता बनने जा रहे है। इससे पहले इस पद पर थावरचंद गहलोत आसीन थे। ( Piyush Goyal’s promotion) लेकिन थावरचंद गहलोत को कर्नाटक का राज्यपाल बना दिया गया था। जिसके कारण यह पद खाली हो गया था। गोयल फिलहाल में उच्च सदन के उपनेता हैं। वरिष्ठ सांसद के तौर पर गोयल एक प्रभावी फ्लोर मैनेजर रहे हैं, उनके नेतृत्व में तीन तलाक और अनुच्छेद 370 जैसे महत्वपूर्ण बिल पारित किए गए है। महाराष्ट्र के रहने वाले गोयल का राज्य के लोगों और सदन के विपक्षी नेताओं के साथ एक उत्कृष्ट तालमेल है। also read: Breaking News : केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ी राहत कैबिनेट की बैठक में 17 से 28 प्रतिशत हुआ DA , लगी मुहर पीयूष गोयल का विपक्षी नेताओं के साथ अच्छा तालमेल इससे पहले जो दूसरा नाम चर्चा… Continue reading पीयूष गोयल राज्यसभा में सदन के नेता के रूप में हुए प्रमोट, थावरचंद गहलोत के पद पर होंगे आसीन

थावरचंद से तीन वैकेंसी बनी है!

थावरचंद गहलोत के राज्यपाल (Thawar Chand Gehlot governer) बनने से तीन वैकेंसी बनी है। वे मध्य प्रदेश से राज्यसभा सांसद थे और उच्च सदन में भाजपा के नेता थे। सो, दो वैकेंसी तो यह बनी है। मध्य प्रदेश में एक राज्यसभा की सीट खाली हुई है और राज्यसभा में नेता का पद खाली हुआ है। तीसरी वैकेंसी भाजपा संसदीय बोर्ड में हुई है, जिसके वे सदस्य थे। सो, एक उनके जगह खाली करने से तीन लोगों का काम मिल सकता है। उनकी जगह पार्टी किसी दूसरे दलित नेता को संसदीय बोर्ड में शामिल करेगी। यह फैसला थोड़ा आगे पीछे हो सकता है। लेकिन 19 जुलाई से संसद का मॉनसून सत्र शुरू होने वाला है और उससे पहले पार्टी को उच्च सदन में अपना नेता नियुक्त करना होगा। ध्यान रहे थावरचंद गहलोत 2019 में अरुण जेटली के निधन के बाद उच्च सदन में पार्टी के नेता नियुक्त हुए थे। यह भी पढ़ें: जन्मदिन पर बधाइयों का सिलसिला शुरू सो, पहला सवाल है कि कौन बनेगा उच्च सदन में पार्टी का नेता? राज्यसभा में पार्टी के कई अनुभवी सदस्य हैं। पार्टी के महासचिव भूपेंद्र यादव, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर, सुरेश प्रभु, पीयूष गोयल, पार्टी के महासचिव दुष्यंत गौतम, पूर्व महासचिव सरोज पांडेय,… Continue reading थावरचंद से तीन वैकेंसी बनी है!

संकट के समय पीआर बंद करे सरकार

कोरोना वायरस की महामारी के बीच सरकार संकट प्रबंधन की बजाय जनसंपर्क के प्रबंधन यानी पीआर एक्सरसाइज में जुटी हुई है। सरकार से सारे मंत्री और उनके विभाग इस प्रचार में लगे हैं कि सरकार ने क्या क्या कर दिया। इस समय इसका प्रचार करने की जरूरत नहीं है क्योंकि सरकार ने अगर बहुत कुछ कर दिया और लोगों को उसका लाभ मिलने लगा तो फिर उसे प्रचार के जरिए बताने की जरूरत ही कहां से आती है। असल में सरकार ऑक्सीजन की कमी, दवाओं की कालाबाजारी, बेड्स के लिए मारामारी, टेस्टिंग में हो रही देरी और मौतों की वजह से श्मशान-कब्रिस्तान भर जाने की खबरों से इतनी परेशान है कि उसे कुछ और समझ में नहीं आ रहा है तो इस बात का प्रचार कर रही है कि रेलवे ने कितनी ऑक्सीजन की ढुलाई कर दी और वायु सेना ने कितने घंटे उडान भरी। पिछले 15 दिन से रेल मंत्री और उनके मंत्रालय की ओर से वीडियो जारी करके बताया जा रहा है कि रेलवे किसी तरह से ऑक्सीजन की ढुलाई कर रही है। बुधवार को बताया गया कि पिछले 15 दिन में भारतीय रेलवे ने 62 सौ मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की है। सोचें, दुनिया के सबसे… Continue reading संकट के समय पीआर बंद करे सरकार

Corona Update:कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच पीएम मोदी ने की बैठक, कहा- टीकाकरण की गति न हो धीमी 

New Delhi: देश में कोरोना की दूसरी लहर से लोग परेशान हैं. ऐसे में देशभर के लोगों को अब सिर्फ वैक्सीन से ही उम्मीद  है. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक उच्च स्तरीय बैठक में देश में कोविड-19 की राज्य और जिलावार स्थिति की समीक्षा की. इस दौरान उन्होंने निर्देश दिया कि स्वास्थ्य ढांचे को दुरूस्त करने में राज्यों को सहयोग और मार्गदर्शन दिया जाना चाहिए.  पीएम कार्यालय की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी ने टीकाकरण की गति को बनाए रखने के लिए राज्यों को संवदेनशील होकर काम करने की आवश्यकता पर बल दिया. बैठक के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि राज्यों और जिलों में टीकाकरण अभियान और स्वास्थ्य क्षमताओं को बढ़ाने सहित कोविड की स्थिति के विभिन्न पहलुओं की समीक्षा की. उन्होंने कहा कि इस समय में हमें और भी ज्यादा सतर्क होकर काम करने की जरूरत है. पीएम मोदी ने ली 12 राज्यों की जानकारी बैठक के बाद पीएमओ की ओर से जारी किये गये एक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री को कोविड-19 की राज्य और जिलावार स्थिति की विस्तृत जानकारी दी गई. उन्हें उन 12 राज्यों के बारे में बताया गया जहां एक लाख से अधिक सक्रिय… Continue reading Corona Update:कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच पीएम मोदी ने की बैठक, कहा- टीकाकरण की गति न हो धीमी 

रेलवे पटरियों पर निजी क्षेत्र की ट्रेनें चलने में कोई नुकसान नहीं: गोयल

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्रेन की पटरियों पर निजी कंपनियों की ट्रेनें चलाने की वकालत करते हुए आज राज्य सभा में प्रश्न काल के दौरान कहा कि इससे अच्छी, आधुनिक और तेज गति के ट्रेनों का संचालन हो सकेगा।

रेल का निजीकरण नहीं होगा: पीयूष गोयल

रेलवे का निजीकरण नहीं करने, रेल को आधुनिक बनाने, यात्रियों को बेहतर सुविधा देने तथा उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के सरकार के आश्वासन के साथ लोकसभा ने आज ‘बजट 2021-22 में रेल मंत्रालय के अधीन अनुदान मांगों’ को पारित कर दिया।

किसानों के लिए सेफहाउस का काम करेगा वेयरहाउस : पीयूष गोयल

केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण, रेलवे, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने आज कहा कि वेयरहाउस किसानों के लिए सेफहाउस का काम करेगा और उनके उत्पादों के लिए सेफ्टी नेट का काम करेगा।

हावड़ा-कालका मेल का नाम बदलकर रखा गया नेताजी एक्सप्रेस

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती से पहले रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि हावड़ा-कालका मेल का नाम बदलकर ‘नेताजी एक्सप्रेस’ कर दिया गया है।

किसान आंदोलन पर केंद्रीय मंत्रियों की हाई लेवल मीटिंग

पिछले 22 दिनों से चल रहे किसान आंदोलन को देखते हुए भाजपा मुख्यालय पर इस समय सरकार और संगठन की उच्चस्तरीय बैठक चल रही है।

किसान नेताओं के साथ केंद्रीय मंत्रियों की बैठक जारी

दिल्ली के विज्ञान भवन में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल व राज्य मंत्री सोम प्रकाश के साथ किसान संगठनों के प्रतिनिधियों की बैठक चल रही है।

किसानों के मुद्दे पर अमित शाह की एक और बैठक

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों नरेंद्र सिंह तोमर और पीयूष गोयल के साथ बुधवार सुबह से बैठक का एक और दौर आयोजित कर रहे हैं ताकि किसानों

और लोड करें