नेपाल के बाद श्रीलंका के तेवर, रावण की तारीफ!

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने अयोध्या को लेकर एक विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि असली अयोध्या नेपाल में है। इसे लेकर वे अभी तक विरोध झेल रहे हैं और कुर्सी तक जाने का खतरा पैदा हो गया है।

एक अनुकरणीय उदाहरण

जिस समय पूरी दुनिया एक असाधारण और अभूतपूर्व संकट से गुजर रही है, वैसे समय में श्रीलंका के रोमन कैथोलिक चर्च ने एक अनुकरणीय उदाहरण पेश किया है। ऐसे मौके पर उसका नजरिया राहत देने वाला महसूस हुआ है। चर्च ने कहा है कि उसने पिछले साल ईस्टर पर हुए हमलों के आत्मघाती हमलावरों को माफ कर दिया है। गुजरे रविवार को कोरोना संकट के बीच दुनिया भर में खामोश तरीके से ईस्टर माना गया। पिछले साल इसी दिन श्रीलंका से आई खबर ने सारी दुनिया को हिला दिया था। उस रोज वहां सिलसिलेवार बम धमाकों में 279 लोग मारे गए थे। 21 अप्रैल 2019 को ईस्टर की सुबह हमलावरों ने तीन चर्चों और तीन होटलों पर धमाके किए। इन हमलों में 593 लोग घायल हुए थे। उस घटना के बाद चर्च के कार्डिनल मैल्कम रंजीथ ने तत्कालीन सरकार से इस्तीफा देने को कहा था। आरोप लगाया था कि सरकार हमलों के पीछे अंतरराष्ट्रीय साजिश की जांच करने में नाकाम रही। अब कार्डिनल मैल्कम रंजीथ ने क्षमा का रुख अपनाया है। इस वर्ष कोरोना वायरस की वजह से एक टीवी स्टूडियो से उन्होंने अपना ईस्टर संदेश प्रसारित किया। इसमें उन्होंने कहा कि जिन दुश्मनों ने हमें तबाह करने की कोशिश… Continue reading एक अनुकरणीय उदाहरण

और लोड करें