nayaindia lok sabha election phase 2 दूसरे चरण में दमदारों का परीक्षण
Columnist

दूसरे चरण में दमदारों का परीक्षण

Share
vote

भोपाल। प्रदेश की 6 लोकसभा सीटों रीवा, सतना, दमोह, खजुराहो, टीकमगढ़ और नर्मदापुरम में कल मतदान होगा जिसमें दिग्गज उम्मीदवार मैदान में है और क्षेत्र में दिग्गज नेता पार्टी के लिए काम कर रहे हैं। ऐसे में दमदारों की दम का परीक्षण कल ईवीएम में बंद हो जाएगा।

दरअसल, प्रदेश में दूसरे चरण के तहत जिन 6 लोकसभा सीटों पर कल 26 अप्रैल को मतदान होगा उनमें दिग्गज नेताओं के भाग्य का फैसला किया जाएगा। उनमें भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा केंद्रीय मंत्री डॉ वीरेंद्र कुमार, सांसद जनार्दन मिश्रा और गणेश सिंह, विधायक सिद्धार्थ कुशवाहा, पूर्व विधायक संजय शर्मा, राहुल लोधी, दरबार लोधी भी शामिल है जबकि तीन नए चेहरे आर .बी. प्रजापति, दर्शन सिंह एवं पंकज अहिरवार मैदान में है इनमें से कुछ क्षेत्रों में पार्टी के दिग्गज नेता विधायक और मंत्री हैं उनकी प्रतिष्ठा भी कल दांव पर रहेगी।

बहरहाल, प्रदेश में प्रथम चरण के मतदान में जहां पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ, केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, सांसद हिमाद्री सिंह और विधायक विधायक मार्को के भाग्य ईवीएम में बंद हो गए। वहीं दूसरे चरण में भी प्रदेश अध्यक्ष केंद्रीय मंत्री सांसद और विधायकों पूर्व विधायकों के भाग्य का जहां फैसला होना है। वहीं इन लोकसभा क्षेत्र में रहने वाले दिग्गज नेताओं की दमखम का भी परीक्षण होना है। मसलन, दमोह लोकसभा क्षेत्र में पूर्व मंत्री एवं पूर्व नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, पूर्व मंत्री जयंत मलैया, वर्तमान मंत्री लखन सिंह पटेल एवं मंत्री धर्मेंद्र सिंह, पूर्व सांसद रामकृष्ण कुसमरिया, विधायक बृज बिहारी पटेरिया जैसे दिग्गज नेताओं का क्षेत्र माना जाता है। ऐसे में यहां भाजपा को जीत दिलाने में इन नेताओं की अहम भूमिका रहेगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दमोह की सभा में अधिकांश नेताओं को महत्व भी दिया। यहां से 2019 में मंत्री प्रहलाद पटेल लोकसभा का चुनाव जीते थे बाद में भी नरसिंहपुर से विधानसभा का चुनाव जीतकर प्रदेश सरकार में मंत्री हो गए। सो कहा जा सकता है कि दमोह लोकसभा क्षेत्र में भाजपा के दिग्गज नेताओं का जमावड़ा है। इस कारण पार्टी को यहां बड़ी जीत की उम्मीद है लेकिन जातीय समीकरण को साधने में कांग्रेस भी रणनीति बना रही है। जहां लोधी समाज के पूर्व विधायक तरवर लोधी को टिकट दिया तो वहीं पूर्व मंत्री मुकेश नायक पूर्व मंत्री हर्ष यादव को दमोह लोकसभा क्षेत्र का प्रभारी बनाया। इसी तरह नर्मदापुरम लोकसभा क्षेत्र में भाजपा ने जहां नए चेहरे के रूप में दर्शन सिंह चौधरी को मैदान उतारा।

इस लोकसभा क्षेत्र में मंत्री प्रहलाद पटेल, मंत्री राव उदय प्रताप सिंह, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सीता शरण शर्मा जैसे दिग्गज नेताओं के ऊपर चुनाव जीतने की जिम्मेवारी है। वहीं कांग्रेस में पूर्व विधायक संजय शर्मा को मैदान में उतर कर मुकाबला को दिलचस्प बना दिया। छिंदवाड़ा से फुर्सत होने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ में पहली सभा नर्मदापुरम लोकसभा क्षेत्र में ही रखी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस क्षेत्र के पिपरिया इलाके में सभा कर चुके हैं। टीकमगढ़ में जहां केंद्रीय मंत्री डॉ वीरेंद्र कुमार आठवीं बार लोकसभा का चुनाव लड़ रहे हैं वहीं उनके सामने कांग्रेस ने युवा चेहरे के रूप में पंकज अहिरवार को मैदान में उतारा है।

सतना लोकसभा सीट पर जहां भाजपा ने सांसद गणेश सिंह को घर से मैदान में उतारा है, वहीं कांग्रेस ने विधायक सिद्धार्थ कुशवाहा को मैदान में उतारा है। जिन्होंने हाल ही में विधानसभा चुनाव में गणेश सिंह को हराया था। इसी तरह रीवा लोकसभा क्षेत्र में भाजपा ने दो बार के सांसद जनार्दन मिश्रा को मौका दिया है तो कांग्रेस ने पूर्व विधायक नीलम मिश्रा को मैदान में उतारा है जो वर्तमान विधायक अभय मिश्रा की पत्नी है रीवा और सतना लोकसभा क्षेत्र पर उपमुख्यमंत्री राजेंद्र शुक्ल की प्रतिष्ठा दांव पर रहेगी।
कुल मिलाकर दूसरे चरण के 26 अप्रैल को होने वाले मतदान में दिग्गज प्रत्याशियों के के भाग का फैसला आबा में बंद होगा वही दिग्गज नेताओं की दमखम का परीक्षण भी यह चुनाव तय करेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें