ये हम हैं और ये हमारी बरबादी है

आप पाएंगे कि हर कोई अपने काम में देर कर रहा है। मसलन, मद्रास हाईकोर्ट ने यह कहने में कितनी देर कर दी कि चुनाव आयोग ही कोरोना की दूसरी लहर का जिम्मेदार है और अगर चुनाव आयोग पर हत्या का मुकदमा दायर किया जाए तो भी गलत नहीं होगा। यह तल्ख टिप्पणी तब आई… Continue reading ये हम हैं और ये हमारी बरबादी है

किसके कहने से चलता है चुनाव आयोग?

पिछले महीने मार्च में चुनाव आयोग ने केरल की तीन राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव की घोषणा की थी। पर केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद की ओर से इस पर आपत्ति की गई। कहा गया है कि राज्य में अभी विधानसभा के चुनाव हो रहे हैं, ऐसे में राज्यसभा चुनाव कैसे कराए जा सकते हैं।… Continue reading किसके कहने से चलता है चुनाव आयोग?

Corona Virus & Election : चुनावी रैलियों में मास्क के मुद्दे पर केंद्र और आयोग को नोटिस

नई दिल्ली। चुनावी रैलियों में शामिल होने वाले लोगों के लिए मास्क अनिवार्य करने को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की गई थी, जिस पर सुनवाई करते हुए आयोग ने केंद्र सरकार और चुनाव आयोग को नोटिस जारी किया है। इस याचिका में कहा गया है कि सड़क पर चलते आम लोगों… Continue reading Corona Virus & Election : चुनावी रैलियों में मास्क के मुद्दे पर केंद्र और आयोग को नोटिस

गलत मौके पर सही कार्रवाई ?

चुनावों के दौरान सत्तारुढ़ और विपक्षी दलों के बीच भयंकर कटुता का माहौल तो अक्सर हो ही जाता है लेकिन इधर पिछले कुछ वर्षों में हमारी राजनीति का स्तर काफी नीचे गिरता नजर आ रहा है। केंद्र सरकार के आयकर-विभाग ने तृणमूल कांग्रेस के नेताओं पर छापे मार दिए हैं और उनमें से कुछ को… Continue reading गलत मौके पर सही कार्रवाई ?

चुनावी बाँडः बेलगाम भ्रष्टाचार

चुनावी बाँड राजनीति भ्रष्टाचार की बड़ी उस्तादी योजना है। जिसने भी यह योजना बनाकर मोदी और अरुण जेटली को थमाई थी, उसका दिमाग किसी तस्कर या डाकू से भी अधिक तेज रहा होगा। मोदी सरकार को इस बात के लिए हमेशा याद किया जाएगा कि उसने भ्रष्टाचार के राक्षस के मुंह को कानूनी बुर्के से ढांप दिया है।

ममता पर हमले के मामले में आयोग ने की कार्रवाई

इसके साथ ही चुनाव आयोग ने उम्मीदवारों को सारे नियमों का पालन करने और सुरक्षा का ध्यान रखने को कहा है।

बंगाल पर ऐसी मेहरबानी क्यों?

केंद्रीय चुनाव आयोग ने कमाल किया। उसने 234 विधानसभा सीट वाले तमिलनाडु में तो एक चरण में छह अप्रैल को मतदान कराने का फैसला किया

बंगाल चुनाव की तारीखों पर विवाद

केंद्रीय चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में चुनाव कराने का ऐलान किया है। पांच साल पहले 2016 में भी बंगाल में सात चरणों में चुनाव हुए थे।

चुनाव शिड्यूल से पहले घोषणाओं की झड़ी

केंद्रीय चुनाव आयोग ने शुक्रवार को पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों का ऐलान किया। उससे ठीक पहले तीन राज्यों ने लोक लुभावन घोषणाओं की झड़ी लगा दी।

चुनाव आयोग के पास अधिकार क्या?

केंद्रीय चुनाव आयोग, सुनने में इतना भारी-भरकम नाम है पर सवाल है कि इसके पास क्या अधिकार हैं? यह एक संवैधानिक संस्था है। इसके ऊपर देश में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने की महती जिम्मेदारी है।

चुनाव आयोग ने किया उपचुनावों का ऐलान

मध्य प्रदेश सरकार के लिए जीवन-मरण का सबब बनी 28 विधानसभा सीटों सहित देश के 10 राज्यों की 56 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव का ऐलान कर दिया गया है।

चुनाव आयोग ने मांगे सुझाव

बिहार में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनावों की तैयारी में लगे केंद्रीय चुनाव आयोग ने इस बारे में पार्टियों से राय मांगी है।

विपक्ष की जायज चिंताएं

बिहार में तीन महीने बाद विधान सभा चुनाव है। लेकिन वहां ऐसी आशंकाएं पैदा हुई हैं कि इस बार शायद वहां सभी पार्टियों को समान धरातल उपलब्ध होने की शर्तें पूरी ना हो सकें।

पोस्टल बैलेट से वोटिंग के नियम बदले

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच इस साल के अंत में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने पोस्टल बैलेट से वोटिंग के नियमों में बदलाव किया है।

बिहार के लिए बदला पोस्टल बैलेट का नियम!

ऐसा लग रहा है कि भाजपा, केंद्र व बिहार की सरकार और चुनाव आयोग सब बिहार में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी में गंभीरता से जुट गए हैं। तभी बैठकें होने लगी हैं

क्या भारत में ऑनलाइन चुनाव संभव?

भारत में क्या ऑनलाइन चुनाव हो सकते हैं? यह लाख टके का सवाल है। अभी दुनिया के बहुत कम आबादी वाले और बेहद विकसित देशों में ही यह प्रयोग हुआ है

कोरोना की छाया में चुनावों का क्या होगा?

इस साल के अंत में बिहार में विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं और उसके बाद अगले साल अप्रैल-मई में पांच राज्यों में विधानसभा के चुनाव होंगे।

शाहीन बाग आयोग की भी विफलता!

अजित कुमार : यह कहने और मानने में हिचक नहीं है कि चुनाव आयोग ने देश में होने वाले चुनावों को निष्पक्ष, पारदर्शी और स्वतंत्र बनाने में बड़ी भूमिका निभाई है। सभी चुनाव आयुक्तों ने और केंद्र व राज्यों की सरकारों या दूसरी एजेंसियों ने भी इसमें भूमिका निभाई है। दिल्ली में अभी चल रहे… Continue reading शाहीन बाग आयोग की भी विफलता!