कांग्रेस ने की चुनावी बॉन्ड मामले की जाँच की माँग

कांग्रेस ने कॉर्पोरेट घरानों की ओर चुनावी बॉन्ड के माध्यम से 95 प्रतिशत राजनीतिक चंदा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को ही दिये जाने का आरोप लगाते हुए इस पूरे मामले की जाँच कराये जाने की माँग की है।

चुनावी बॉन्ड के मुद्दे पर लोकसभा में कांग्रेस का हंगामा

विपक्षी दल कांग्रेस ने चुनावी बॉन्ड के दुरुपयोग और सरकारी कंपनियों के विनिवेश के मुद्दे पर सरकार को घेरते हुये आज लोकसभा में हंगामा किया और

विपक्ष हंगामे के कारण राज्यसभा में नहीं हो सका शून्यकाल

चुनावी बाैंड और सार्वजनिक क्षेत्रों में विनिवेश को लेकर कांग्रेस और वामदलों द्वारा चर्चा कराये जाने के लिए दिये गये नोटिस को खारिज किये जाने से नाराज इन दलों के सदस्यों के हंगामे के कारण गुरूवार को राज्यसभा में शून्यकाल नहीं हो सका और कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक स्थगित कर दी गयी।

चुनावी बॉन्ड लाया गया ताकि भाजपा के खजाने में जा सके कालाधन: कांग्रेस

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मीडिया में चुनावी बॉन्ड से जुड़ी एक खबर का हवाला देते हुए आज दावा किया कि भारतीय रिजर्व बैंक को दरकिनार करते हुए चुनावी बॉन्ड लाया गया

चुनावी बौंड पर रिजर्व बैंक के विरोध को सरकार ने किया था खारिज: कांग्रेस

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि चुनावी बौंड में पारदर्शिता और स्पष्टता नहीं है और इससे भ्रष्टाचार को बढावा मिलता है इसलिए सरकार को इस संबंध में रिजर्व बैंक की आपत्ति को ध्यान में रखते हुए इसे खत्म करके इसको जारी किए जाने की जांच होनी चाहिए।

क्या ये चंदा वाजिब है?

चुनाव आते हैं तो इलेक्ट्रॉल बॉन्ड्स की बिक्री बढ़ जाती है। पहले के आंकड़ों से जाहिर हो चुका है कि इन बॉन्ड्स का ज्यादातर फायदा भारतीय जनता पार्टी को मिलता है। इसलिए अनुमान लगाया जा सकता है कि इस बार ये रकम ज्यादातर किस पार्टी के हिस्से में गई होगी।

और लोड करें