ऑनलाइन खेलों पर जीएसटी लगाने की तैयारी

जीएसटी परिषद की विधायी समिति की बैठक में ‘संयोग वाले खेलों’ और ‘कौशल वाले खेलों’ की परिभाषा से संबंधित मुद्दों पर तकनीकी क्षेत्र के विशेषज्ञों से चर्चा की।

सरकार के तो मजे हैं!

जिस समय कुछ कॉरपोरेट घरानों को छोड़ कर देश की बाकी आबादी की जेब हलकी हो रही है, उस समय सरकार का राजस्व बढ़ना बेशक ध्यान खींचता है।

अक्टूबर में डेढ़ लाख करोड़ जीएसटी मिला

देश में तेजी से बढ़ रही महंगाई से जनता भले त्राहिमाम है लेकिन महंगाई की वजह से सरकार की बल्ले बल्ले है। महंगाई की वजह से जीएसटी की वसूली भी बढ़ रही है।

सितंबर में जीएसटी 1.47 लाख करोड़

आठ कोर सेक्टर के उत्पादन में भले बड़ी गिरावट आई है लेकिन बढ़ती महंगाई के साथ साथ वस्तु व सेवा कर यानी जीएसटी की वसूली भी रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है।

जुलाई में 1.49 लाख करोड़ जीएसटी मिला

देश में ऊंची महंगाई दर के बीच वस्तु व सेवा कर यानी जीएसटी का संग्रह बढ़ने की सिलसिला जारी है।

महंगी हो गईं खाने-पीने की चीजें

खाने-पीने के बिना ब्रांड वाले उत्पादों पर पांच फीसदी जीएसटी लागू। चूड़ा, खोई, चावल, शहद अनाज, मांस, मछली सब पर जीएसटी!

सरकार की उलटी चाल

खास कर अभी महंगाई का जो आलम है, उसे देखते हुए सरकार से यह न्यूनतम बुद्धिमानी दिखाने की अपेक्षा जरूर थी। लेकिन ऐसा हुआ नहीं।

खाद्य सामग्रियों पर लागू हुआ GST, 25 किलों से कम के पैक 5 % महंगे…

25 किलोग्राम से कम वजन के पैक पर पांच प्रतिशत जीएसटी लागू हो गया है. केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने अनाज से लेकर दालों …

महंगाई पर बेसुधी, जीएसटी पर जश्न!

भारत में हर महीने की पहली तारीख को इसका जश्न मनाया जाता है कि पिछले महीने वस्तु व सेवा कर यानी जीएसटी की वसूली में इतनी बढ़ोतरी हो गई।

अनब्रांडेड खाने-पीने, मेडिकल जीएसटी

अभी सरकार ने अनब्रांडेड डिब्बाबंद खाने-पीने की चीजों पर भी पांच फीसदी जीएसटी लगा दिया है।

खाद्य वस्तुओं को GST में लाने पर कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरा, कहा- थाली से रोटी…

कांग्रेस की ओर से कहा गया कि मोदी सरकार को आम लोगों और गरीबों की नहीं, बल्कि कसीनो (जुआघर) की फिक्र है…

पांच साल, जारी सवाल

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के लागू हुए पांच साल पूरे हो गए हैँ। पांचवीं सालगिरह से ठीक पहले जीएसटी काउंसिल की बैठक हुई।

जीएसटी के पांच साल होने पर कांग्रेस का हमला

कांग्रेस पार्टी ने वस्तु व सेवा कर यानी जीएसटी लागू होने के पांच साल पूरे होने के मौके पर इसे लेकर केंद्र सरकार पर तीखा हमला किया है।

जून में जीएसटी वसूली 1.45 लाख करोड़

वस्तु व सेवा कर यानी जीएसटी की वसूली लगातार तीसरे महीने एक लाख 40 हजार करोड़ रुपए से ऊपर रही है।

जीएसटी कौंसिल की बैठक आज से

वस्तु व सेवा कर यानी जीएसटी कौंसिल की एक अहम बैठक मंगलवार से शुरू हो रही है। इसमें कुछ वस्तुओं पर कर की दरों में बदलाव किया जा सकता है।

और लोड करें